तुलसी को जल कब और क्यों चढ़ाना चाहिए?

तुलसी पर जल कब चढ़ाये?

घर के आंगन में तुलसी का पौधा लगाना न सिर्फ धार्मिक दृष्टि से लाभदायक होता हैं, बल्कि इससे वातावरण भी शुद्ध बनता हैं। तुलसी का पौधा लगाने से ज्ञान, विवेक, सुख, संपति और स्वास्थ्य में वृद्धि होती हैं। ऐसी मान्यता हैं की जिस घर में तुलसी का निवास होता है, वहा पर सुख और स्वास्थय स्वयं ही खिचे चले आते हैं। साथ ही ऐसे घर में सुख और आनंद हमेशा बने रहते हैं। सुबह के समय सूर्य भगवान को अर्घ्यं देने के बाद तुलसी को जल चढ़ाना चाहिए। इस जल को चढ़ाने से सेहत को भी फायदे होते हैं।

तुलसी की पत्तियां अनेक प्रकार के औषधीय गुणों से भरी हुई होती हैं। तुलसी को जल देते समय हम इसके निकट जाते हैं। जब हम इसके करीब जाते हैं तो इसकी महक से शरीर में मौजूद बैक्टीरिया नष्ट हो जाते हैं। इसके अलावा घर के आँगन में तुलसी का पौधा लगाने से हवा के साथ उसके बीज और खुशबू पुरे घर में फैल जाती हैं। साथ ही घर से मच्छर भी दूर भागते हैं।

जिसके कारण घर के सभी सदस्यों का शारीरिक और मानसिक स्वास्थय बेहतर बनता हैं। तुलसी का पौधा धार्मिक दृष्टि से काफी ज्यादा पवित्र हैं। इसकी पूजा घर-घर में की जाती हैं और हिन्दू धर्म में तुलसी का विशेष महत्व भी हैं। ऐसी मान्यता हैं की भगवान विष्णु को अर्पित किया जाने वाला प्रसाद बिना तुलसी के पत्ते के अधूरा ही हैं। इसलिए भगवान विष्णु को तुलसी के पत्ते चढ़ाए जाते हैं, जिससे वह अपने भक्तों पर जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं। तुलसी को सम्मान के साथ देखा जाता हैं।

जरूर पढ़े :- इन पेड़ पौधों को लगाने से प्राप्त होते हैं शुभ फल।

इसलिए तुलसी के पत्तों को दांतों से चबाकर खाना निषेध माना गया हैं। अगर किसी व्यक्ति को तुलसी के पत्तों का सेवन करना ही हैं तो वह उसे चूस कर खा सकता हैं। साथ ही शाम के समय तुलसी के पत्ते भी नहीं तोड़ने चाहिए। तुलसी को जल चढ़ाने से घर में सुख-शान्ति, धन-संपति की वृद्धि होती हैं। तुलसी को जल इसलिए भी चढ़ाना चाहिए, ताकि इससे घर में मौजूद नेगेटिव एनर्जी दूर हो जाये। साथ ही सुबह के समय सूर्य को अर्घ्य देने के बाद ही तुलसी के पौधे में जल चढ़ाये।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

जानिए माँ गंगा ने अपने ही पुत्रों को नदी में क्यों बहाया?
भगवान शिव (शंकर) की पूजा में यह चीज़े नहीं चढ़ाई जाती हैं।
पन्ना रत्न के बारे में जानिए, इसे कैसे पहने और इससे क्या फायदे होते हैं?
सुबह उठ कर सबसे पहले यह काम करना चाहिए.
दानवीर कर्ण के बारे में रोचक जानकारी.
मकर संक्रांति के दिन दान क्यों किया जाता हैं और जानिए राशि अनुसार क्या दान करना चाहिए?
दुनिया का एकलौता मंदिर जहां राजा राम को दिन में 5 बार दिया जाता है गार्ड ऑफ ऑनर
समुद्र मंथन में बाली ने लिया था देवो की ओर से भाग, उसी में से निकली थी पत्नी तारा!
घर की नेगेटिव एनर्जी और पैसों की कमी को दूर करने के जरूर करे यह 5 उपाय।
सावन के महीने में घर में जरूर रखे यह चीज़े, भगवान शिव होंगे प्रसन्न।
मनचाही लड़की का प्यार पाने के ज्योतिष उपाय और टोटके।
काली मिर्च और लौंग के कारगर ज्योतिष उपाय और टोटके।