किशमिश का पानी पीने के फायदे

किशमिश का पानी पीने के फायदे

अंगूर को सूखा कर किशमिश बनाया जाता हैं। किशमिश सूखे मेवों में विशेष स्थान रखता हैं। इसमें भी अंगूर के सभी गुण पाए जाते हैं। किशमिश को खाने से खून, वीर्य, रस जैसे धातुओं की वृद्धि होती हैं और शरीर में ओज बढ़ता हैं। आज के लेख में हम किशमिश का पानी पीने के फायदे जानेंगे। किशमिश में फाइबर, आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम और पोटैशियम जैसे मिनरल्स भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। साथ ही इसमें दूध के जितना न्यूट्रीएंट्स मौजूद होता है। यह आपकी सेहत के लिए काफी फायदेमंद ड्राई फ्रूट हैं।

क्या आपको किशमिश का पानी पीने से सेहत को होने वाले लाभ के बारे में पता हैं? आइये जानते है किशमिश का पानी का सेवन करने से कैसे लाभ होता हैं? Health benefits of Raisin Water in Hindi.

किशमिश का पानी बनाने का तरीका :-

किशमिश का पानी बनाने के लिए सबसे पहले एक पैन में किशमिश और पानी डाल कर करीब 20 मिनट तक उबालिए। फिर इस पानी में किशमिश को रात भर के लिए भिगो कर रखे। सुबह उठकर खाली पेट इसका सेवन करे। मतलब की इसका पानी छान कर पि जाये और भिगोये हुए किशमिश को खा ले। इससे आपको काफी फायदा होगा।

किशमिश का पानी पीने से सेहत को होने वाले फायदे :-

■ किशमिश के पानी का प्रतिदिन सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल लेवल नार्मल रहता हैं। अनियमित खानपान से बॉडी का कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ जाता है। इसलिए इसे सही बनाये रखने के लिए रोजाना किशमिश के पानी को पीना चाहिए। साथ ही इससे बॉडी के ट्राईग्लिसराइड लेवल को भी कम करने में मदद मिलती हैं।

■ रोजाना इस हेल्दी पानी को पीने से मेटाबोलिज्म रेट, पाचन क्रिया सभी दुरुस्त बने रहते हैं। जिसके कारण आप हमेश चुस्त-दुरुस्त और फिट रहेंगे।

■ प्रतिदिन किशमिस का पानी पीने से लीवर तंदरुस्त रहता हैं। इससे मेटाबोलिज्म के लेवल को कण्ट्रोल करने में भी आसानी होती हैं।

■ आपको मालूम होना चाहिए की किशमिश के सेवन से आपकी आयु लम्बी होती हैं। साथ ही इससे चेहरे की झुर्रियां भी ख़त्म होने लगती है। इसलिए सुबह इस किशमिश वाले अद्भुत पानी को जरूर पीना चाहिए। इससे आप हमेशा जवां दिखाई देते हैं।

■ जो लोग कब्ज़, एसिडिटी और थकान की समस्या से परेशान रहते हैं। उनके लिए किशमिश का पानी कुदरत का दिया हुआ वरदान हैं। इसका नियमित रूप से सेवन करने से आपको जल्दी फायदा दिखाई देने लगेगा।

■ बुखार होने पर इसका सेवन जरूर करे। इसमें पोलीफेलोनिक फाइटोन्यूट्रीएंट्स मौजूद होते हैं जो जर्मीसाइडल, एंटी बॉयटिक और एंटी ऑक्सीनडेंट से भरपूर हैं। जिससे बुखार बहुत ही जल्दी ठीक हो जाता हैं।







अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *