खाना बनाते समय इन बातों का रखे ख्याल, ताकि भोजन में पोषण की कमी न हो सके।

खाना बनाते समय इन बातों का रखे ख्याल, ताकि भोजन में पोषण की कमी न हो सके।

अगर सही प्रकार से भोजन को न पकाया जाये तो खाने में से जरूरी विटामिन, मिनरल्स और प्रोटीन जैसे पोषक तत्व कम या नष्ट हो जाते हैं। इसलिए खाने को बनाने के लिए सही प्रक्रिया का इस्तेमाल करना बहुत ही जरूरी होता हैं। इसलिए खाना पकाते समय कुछ बातों का ख्याल रखना जरूरी हैं, इसलिए भोजन को पकाने के समय आपको सावधान रहना चाहिए। आइये जानते हैं ऐसी कुछ टिप्स के बारे में जो भोजन में से जरूरी पोषण तत्वों को कम होने से बचाता हैं।

यह सभी टिप्स आपके लिए बहुत ही काम की हैं। क्योंकि आप जो भोजन ग्रहण करते हैं, उसे पकाते समय ढेर सारा विटामिन्स, मिनरल्स और कई सारे न्यूट्रीशन कम हो जाते हैं। तो चलिए जानते हैं खाना बनाते समय क्या गलतियाँ नहीं करनी चाहिए।

खाने बनाते समय याद रखे यह बातें :-

1. सब्जियों को काटने से पहले धोये। सब्जियों को काटते समय इन्हें ज्यादा समय के लिए पानी में भिगो कर नहीं रखना चाहिए।

2. जितना ज्यादा संभव को सब्जियों को ज्यादा धोने और पकाने से बचना चाहिए। कम से कम पकाया गया ताज़ा भोजन स्वास्थ्य के लिए ज्यादा अच्छा रहता हैं।

3. ज्यादा समय तक सब्जियों को पकाने से सब्जियों में से विटामिन सी खत्म या कम हो जाता हैं। ताज़ी सब्ज़ियों को तुरंत पका कर खा लेना चाहिए, इससे विटामिन सी कम नहीं होता हैं।

4. फ्रिज में बनाकर रखी गयी सब्जी आदि को दोबारा से गर्म करने पर उनके न्यूट्रीएंट्स वैल्यू कम हो जाती हैं। वैसे भी सब्जी को पका कर फ्रिज में रखने से सब्जी में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व काफी मात्रा में कम हो जाते हैं।

5. सब्जियों के छिलके को कम से कम उतारे। साग और हरी पत्तेदार सब्जियों पर मिट्टी लगी हुई होती हैं। इन पत्तों को पानी से धो कर फिर काटे। जो पत्ते गले हुए हैं या पीले पड़ गये हैं, उन्हें अलग कर देना चाहिए।

6. सब्जियों को उबालते समय यह ध्यान रखे की पानी उतना ही डाले, जितना उसे उबालने के लिए जरूरी हो। ज्यादा पानी डालकर सब्जियों को उबालने से एक्स्ट्रा पानी बच जाता हैं, जिसे आपको फेंकना पड़ता हैं। उस पानी में सब्जियों के ढेर सारे पोषक तत्व बाहर निकल जाते हैं।

7. बार-बार खाने को गर्म करने से बचना चाहिए। क्योंकि भोजन को बार-बार गर्म करने से विटामिन ए और डी काफी ज्यादा मात्रा में कम हो जाते हैं। इसलिए खाना उतना ही बनाये जितना आप एक या दो बार में खा सके, क्योंकि इससे खाने को बार-बार गर्म नहीं करना पड़ेगा।

यह भी पढ़े :- खाने वाली इन चीजों को बार-बार गर्म नहीं करना चाहिए।

8. जिंक (जस्ते) के बर्तनों में भोजन नहीं बनाना चाहिए। लोहे की कढाई में पकाया गया भोजन स्वादिष्ट होने के साथ ही स्वास्थ्यवर्धक भी होता हैं। इसलिए हरी पत्तेदार सब्जियों को लोहे की कढाई में ही पकाना चाहिए।

9. चोकर समेत आटे का इस्तेमाल करना चाहिए। क्योंकि चोकर वाले आटे में पोषक तत्व ज्यादा मात्रा में होते हैं। आजकल लोग बिना चोकर वाले आटे का इस्तेमाल करने लगे हैं, जिसकी वजह से उन्हें गेंहू में से सही पोषण प्राप्त नहीं हो पा रहा हैं और बिना चोकर वाला आटा पाचन तंत्र के लिए अच्छा भी नहीं हैं। क्योंकि चोकर में फाइबर ज्यादा होते हैं, इसलिए आपको चोकर वाले आटे से ही रोटियां बनानी चाहिए। इससे आपको पोषक तत्वों के साथ एक्स्ट्रा फाइबर भी प्राप्त होगा।

10. उबली या भाप के माध्यम से पकाई गयी सब्जी में पोषक तत्व ज्यादा मात्रा में होते हैं।

11. चावल को पकाने से पहले उसे 3 से 4 बार धोना चाहिए। चावल को सही पानी की मात्रा में ही पकाना चाहिए। क्योंकि अगर हम ज्यादा पानी में चावल को बनायेंगे तो एक्स्ट्रा पानी बच जायेगा, जिसे हम यूँही फ़ेंक देते हैं। जिससे चावल में मौजूद विटामिन्स और मिनरल्स जैसे पोषक तत्व कम हो जाते हैं। इसलिए उतने पानी में ही चावल पकाए, जितने राइस को पकाने के लिए जरूरी हो।

12. सब्जियों को उबालते समय कोशिश करे की सब्जियों को छिलके समेत ही उबाला जाये। जिन सब्जियों को आप छिलके समेत खा सकते हैं उन्हें भी ऐसे ही उबाले।

13. कभी भी बचे हुए तेल (इस्तेमाल किये गये तेल) में दोबारा से खाना न बनाये। क्योंकि इस्तेमाल किया गया तेल में दोबारा से खाना बनाने पर यह आपकी सेहत के लिए हानिकारक साबित होता हैं।

यह भी पढ़े :- इस्तेमाल किये गये तेल का दोबारा इस्तेमाल क्यों नहीं करना चाहिए?

14. प्रेशर कुकर में सब्जियों को उबालने या बर्तन को ढक कर उबालने से सब्जियों में से पोषक तत्व कम नष्ट होते हैं। खुले बर्तन में सब्जी को पकाने से सब्जियों में से न्यूट्रीएंट्स ज्यादा नष्ट हो जाते हैं। प्रेशर कुकर में भोजन पकाने से समय और इंधन दोनों की बचत होती हैं।

15. सब्जियों को इस प्रकार से छिले और काटे की उनकी न्यूट्रीएंट्स वैल्यू कम न हो। सेब और आलू को छिलते वक़्त ध्यान रखे की उनका छिलका ज्यादा मोटा न उतारे। क्योंकि छिलकों को उतार देने पर ज्यादा मात्रा में पोषक तत्व कम हो जाते हैं।

16. दाल-चावल को जिस पानी में आपने भिगोया हैं, उसी पानी से उन्हें पकाना भी चाहिए।

भोजन में न्यूट्रीशन की मात्रा जितनी ज्यादा होती हैं, हमारा भोजन उतना ही ज्यादा पौष्टिक और सेहतमंद होता हैं। इस तरह हम थोड़ी सी सावधानी और सूझबूझ से इन टिप्स को अपना कर अपने खाने में विटामिन्स, मिनरल्स और कई जरूरी पोषक तत्वों को कम या नष्ट होने से बचा सकते हैं।







अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *