गठिया की बीमारी होने पर क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए?

गठिया की बीमारी होने पर क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए?

गठिया बहुत ही दर्दनाक बीमारी हैं। एक बार जिसे गठिया हो जाता हैं, उसे यह बहुत परेशान करता हैं। इस बीमारी में शरीर का यूरिक एसिड लेवल काफी बढ़ जाता हैं, जिससे जोड़ो में दर्द पैदा होने लगता हैं। कई लोगो को गठिया होने की वजह उम्र का बढ़ना होता हैं तो दूसरी ओर कुछ लोगो को यह बिमारी बचपन में ही हो जाती हैं। आज के लेख में हम खाने-पीने वाली ऐसी चीजों के बारे में जानेंगे जिनके सेवन से गठिया के रोग में कुछ समय तक आराम मिलता हैं। What to eat & what not to eat in Arthritis (Tips in Hindi.)

जैसे की प्याज और जैतून के तेल का इस्तेमाल करने से गठिया का दर्द कम किया जा सकता हैं। इसके अलावा कैरोटीन वाले खाद्य पदार्थ खाने से भी गठिया की बीमारी में फायदा होता हैं। जिस प्रकार कुछ खाने पीने वाली चीज़े गठिया के दर्द से आराम दिलाते हैं, उसी प्रकार कुछ ऐसी चीज़े भी हैं जिन्हें खाने से गठिया का दर्द और भी ज्यादा बढ़ जाता हैं। इसलिए आइये जानते हैं ऐसी खाने-पीने वाली चीजों के बारे में जिन्हें गठिया की बीमारी होने पर खाना चाहिए और ऐसी चीजों के बारे में जिन्हें गठिया की बीमारी होने पर परहेज़ करना चाहिए।

गठिया रोग होने पर यह चीज़े जरूर खाए

मछली

मछली में ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता हैं जो जोड़ो की सूजन को कम करता हैं। इसलिए गठिया के मरीजों को मछली का सेवन नियमित रूप से करते रहना चाहिए।

ओलिव ऑयल

ओलिव ऑयल में भी ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता हैं जो दर्द से आराम दिलाता हैं।

ग्रीन टी

ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट एवं निकोटिन होता हैं, जो दर्द को दबाता हैं। ग्रीन टी को पीने से आप हमेशा स्वस्थ्य रह सकते हैं।

संतरा

संतरे में कोलेजन पाया जाता हैं। इसमें विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं। गठिया के मरीजों को संतरा जरूर खाना चाहिए।

प्याज

प्याज में एस्पिरिन जैसा तत्व पाया जाता हैं जो दर्द को दूर करता हैं।

अदरक

अदरक के सेवन से हड्डियों की सूजन कम होती हैं। इसलिए अपने भोजन में अदरक को शामिल करे।

कद्दू

कद्दू में कैरोटीन होता हैं जो जोड़ो की सूजन को कम करने में मदद करता हैं।

चेरी

चेरी में Anthocyanin पाया जाता हैं जो जोड़ो को मजबूत बनाता हैं। चेरी के सेवन से जोड़ मजबूत बनते हैं और जोड़ो के दर्द से भी छुटकारा मिलता हैं।

हल्दी

हल्दी के सेवन दर्द और सूजन दोनों से निजात मिलती हैं।

गठिया की बीमारी होने पर यह चीज़े नहीं खानी चाहिए

शराब

शराब पीने से हड्डियाँ कैल्शियम को सोख नहीं पाती हैं, जिससे हड्डियाँ भुरभुरी होकर कमजोर हो जाती हैं।

कॉफ़ी

यह बॉडी को dehydrate करता हैं, जिससे दर्द और भी ज्यादा बढ़ जाता हैं। इसके अलावा यह शरीर के लिए जरूरी पोषक तत्वों को भी सोख लेती हैं। जिससे दर्द और भी ज्यादा होने लगता हैं। आर्थराइटिस होने पर कॉफ़ी को पीने से बचना चाहिए।

मीट

आर्थराइटिस के मरीजों को ऐसी चीज़े खाने से परहेज़ करना चाहिए, जिनमे फॉस्फोरस ज्यादा पाया जाता हो। क्योंकि आपके शरीर में जितना ज्यादा फॉस्फोरस रहेगा, यह उतना ही ज्यादा आपकी हड्डियों से कैल्शियम को कम करता रहेगा।

चीनी

चीनी आपके घुटनों को नुकसान पहुचाता हैं, इससे आपके घुटने खराब हो सकते हैं। इससे मोटापा बढ़ता हैं और घुटनों में दर्द पैदा होता हैं।

घोंगा (स्नेल)

इसमें पाया जाने वाला प्यूरीन बाद में यूरिक एसिड में परिवर्तित हो जाता हैं। जब आप यूरिक एसिड की ज्यादा मात्रा लेते हैं तो आपके जोड़ो में और भी ज्यादा दर्द बढ़ जाता हैं।

टमाटर

टमाटर के बीज  यूरिक एसिड से भरे हुए होते हैं। जो हड्डियों में जमा होकर गठिया की बीमारी होने का कारण बनते हैं।

दूध

दूध में भी प्यूरीन पाया जाता हैं जो यूरिक एसिड को बढ़ाता हैं।

वेजिटेबल ऑयल

सोयाबीन ऑयल और सूरजमुखी का तेल में वसा बहुत ज्यादा होती हैं जो सूजन को बढ़ाते हैं।







अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

One thought on “गठिया की बीमारी होने पर क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *