गठिया क्या हैं, इसके लक्षण और इसका उपचार क्या हैं?

Gathiya (Arthritis) kya hain? Gathiya ke baare mein puri jankari.

क्या हैं गठिया ?

जब हड्डियो के जोड़ो में यूरिक एसिड जमा हो जाता हैं तो वह गठिया का रूप ले लेता हैं. यूरिक एसिड कई तरह के आहारो को खाने से बनता हैं. रोगी के एक या कई जोड़ो में दर्द, अकड़न या सूजन आ जाती हैं. इस रोग में जोड़ो में गाँठे बन जाती हैं और शूल चुभने जैसी पीड़ा होती हैं, इसलिए इस रोग को गठिया कहते हैं. यह कई तरह का होता हैं , जैसे Acute, Osteo, rheumatoid, Gout आदि.

गठिया के लक्षण

गठिया के किसी भी रूप में जोड़ो में सूजन दिखाई देने लगती हैं. इस सूजन के चलते जोड़ो में दर्द, जकड़न और फुलाव होने लगता हैं. रोग के बढ़ जाने पर तो चलने-फिरने या हिलने-डुलने में भी परेशानी होने लगती हैं. इसका प्रभाव ज़्यादातर घुटनो, हिप, उंगलियो और मेरु की हड्डियो में होता हैं, उसके बाद यह कलाईयों, कोहनियो, कंधो और टख़नो के जोड़ भी दिखाई पड़ता हैं.

किसको होता हैं आर्थराइटिस ?

गठिया महिलाओं से ज़्यादा पुरुषो को होता हैं. यह पुरुषो को 75 साल की उम्र के बाद होता हैं. महिलाओं में यह मेनोपॉज़ के बाद होता हैं. अगर आपके पेरेंट्स को यह बीमारी हैं तो आपको भी 20% चान्स होगा की यह बीमारी आपको हो जाए.

आर्थराइटिस के जोखिम का कारक

महिलाओं में एस्ट्रोजेन की कमी के कारण, शरीर में आयरन और कैल्शियम की अधिकता, पोषण की कमी, मोटापा, ज़्यादा शराब पीना, हाई ब्लड प्रेशर और किडनियों का सही तरीके से काम ना करने की वजह से गठिया रोग होता हैं.

किस तरह दिखता हैं गठिया :

1. पैरो के अंगूठो में सूजन

पैरो में गठिया का असर सबसे पहले देखने को मिलता हैं. अंगूठे बुरी तरह से सूज जाते हैं और तब तक ठीक नही होते जब तक उनका इलाज ना करवाया जाए.

2. उंगलियो का भी यही हाल

उंगलियो के जोड़ में यूरिक एसिड के क्रिस्टल जमा हो जाते हैं. इससे उंगलियो के जोड़ो में बहुत दर्द होता हैं, जिसके लिए डॉक्टर से उपचार लेना पड़ता हैं.

3. दर्द भरी कूहनिया

गठिया रोग कूहनी और घुटनो में हो सकता हैं. इससे कूहनिया बहुत ज़्यादा तकलीफदेह हो जाती हैं और सूजन से भर जाती हैं.

कैसे हो आहार

संतुलित और सुपाच्य आहार ले. चोकर युक्त आटे की रोटी और छिलके वाली मूँग की दाल खाए. हरी सब्ज़ियो में सहजन, ककड़ी, लौकी, तरोई, पत्ता गोभी, गाजर आदि का सेवन करे. दूध और उनसे बने प्रॉडक्ट्स का सेवन करे.

दवाइयो से ठीक करे गठिया

अगर दर्द ज़्यादा बढ़ गया हो तो डॉक्टर को दिखा कर दवाइया खाए. यह सूजन और दर्द को कम करती हैं और खून में यूरिक एसिड की मात्रा को कम करके जोड़ो में इसे जमा होने से बचाती हैं.



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

प्रेगनेंसी के शुरुवाती 8 लक्षण के बारे में जानिए।
गलती से भी इन अंगो को हाथ न लगाये.
एलोवेरा से होने वाले फायदे जरूर पढ़िए.
धनिया पाउडर के फायदे जरूर पढ़िए.
फलों को सही ढंग से खाने के तरीके और टिप्स.
ज्यादा अदरक की चाय पीने से होते हैं यह नुकसान।
बच्चों की मालिश के लिए कौन से तेल अच्छे होते हैं?
चिकनगुनिया से बचने के लिए क्या करना चाहिए और इसका उपचार क्या हैं?
फल खाना और फलों का जूस पीना, दोनों में से कौन हैं सेहत के लिए ज्यादा अच्छा?
सदाबहार (बारहमासी) फूल के फायदे, घरेलु नुस्खे और उपाय जानिए।
कब्ज़ दूर करने और पेट को साफ करने के लिए इस स्पेशल जूस को जरूर पीजिये...
दीपावली के सीजन में मिठाइयों को खाने से पहले याद रखे यह बातें।