गाजर खाने के फायदे – Benefits of Carrot in Hindi.

गाजर खाने के फायदे - Benefits of Carrot in Hindi. Gajar kyon khana chahiye?

गाजर सर्दियों के मौसम में मिलने सब्जी हैं। गाजर खाने के फायदे बहुत हैं, यह न सिर्फ खाने में मीठा होता हैं, बल्कि इसमें कैलोरी भी कम मात्रा में पाई जाती हैं। गाजर को आप कच्चा भी खा सकते हैं और इसे सूप, सलाद, सब्जी आदि में भी उपयोग कर सकते हैं। सर्दियों के मौसम में गाजर का हलवा भी बना कर खाया जाता हैं। गाजर का हलवा खा कर भी आपको कई सारे लाभ होते हैं।

गाजर खाने से आप शरीर से गंदगी को भी साफ कर सकते हैं। गाजर को कच्चा या उबाल कर खाने से यह आपको सेहतमंद बनाये रखता हैं। इसके नियमित सेवन से बाल, स्किन, आँखे सभी शरीर के अंगो को स्वस्थ्य रखा जा सकता हैं। आज के लेख में हम गाजर खाने के फायदे, गाजर के गुण आदि के बारे में जानेंगे। Benefits of Carrot in Hindi.

गाजर खाने के फायदे :-

कैंसर से बचाए

गाजर को खा कर आप कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी होने से बचे रहते हैं। गाजर में बीटा कैरोटीन पाया जाता हैं जो कैंसर के खतरे को कम करता हैं। बीटा-कैरोटीन को खास तरह का कैरोटीनोइड माना जाता हैं जो प्रोस्टेट, कोलोन और ब्रेस्ट कैंसर से लड़ने में कारगर हैं। गाजर को नियमित खाने वाले लोगो में आंतो का कैंसर होने का खतरा 24% तक हो जाता हैं। गाजर के सेवन से ल्यूकेमिया (ब्लड कैंसर) और पेट के कैंसर होने से बचा जा सकता हैं। इसको खाने से खून में कैंसर सेल विकसित नहीं हो पाते हैं। गाजर को खाने से अल्सर जैसी बीमारी में भी लाभ मिलता हैं।

दिल के लिए फायदेमंद

गाजर में Carotenoid पाया जाता हैं जो दिल के मरीजों के लिए फायदेमंद होता हैं। गाजर को खाने से कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम किया जा सकता हैं। ऐसा माना गया ही की हफ्ते में 6 गाजर खाने से दिल की बीमारी नहीं होती हैं। दिल की कमजोरी और हार्ट बीट के बढ़ जाने पर गाजर को भूनकर खाने से फायदा होता हैं।

बच्चो के लिए फायदेमंद

छोटे बच्चे के जब नए दातं निकलने लगते हैं, उस समय उन्हें गाजर का जूस जरूर पिलाते रहे। इससे दांत आसानी से निकल जाते हैं और बच्चें को दूध भी आसानी से हजम होने लगेगा। बच्चा जब चलने लायक होने लगे तो उसे गाजर के जूस में संतरे का जूस मिक्स करके पिलाना चाहिए। इससे बच्चा शक्तिशाली बनता हैं और जल्दी से चलने लगता हैं। गाजर का जूस हमेशा ताज़े गाजरों से बनाना चाहिए और इसे दोपहर के समय पिलाना चाहिए। खाना खाने के बाद गाजर का जूस नहीं पीना चाहिए, इसी प्रकार गाजर का जूस पीने के तुरंत बाद खाना भी नहीं खाना चाहिए।

आँखों के लिए फायदेमंद

गाजर विटामिन और न्यूट्रीएंट्स से भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं। गाजर को आँखों के लिए बहुत ही लाभकारी माना जाता हैं। गाजर में बीटा कैरोटीन पाया जाता हैं जो लीवर के द्वारा विटामिन ए में परिवर्तित हो जाता हैं। विटामिन ए रेटिना के अंदर ट्रांसफॉर्म होता हैं, इस बैंगनी से दिखने वाले पिगमेंट में इतनी पॉवर होती हैं की यह रतोंधी जैसे आँखों को होने वाले रोगों से आपकी रक्षा करता हैं। बीटा कैरोटीन को विटामिन ए का सबसे बेहतरीन रूप माना जाता हैं। आँखों में किसी भी प्रकार का रोग होने पर कच्चा गाजर या उसका जूस को पीने से आँखों की रोशिनी बढ़ती हैं और आँखों की बीमारियाँ दूर होती हैं। इससे चश्मे का नम्बर भी कम किया जा सकता हैं।

वीर्य की गुणवत्ता सुधारे

गाजर को खाने से वीर्य की वृद्धि होती हैं। यह वीर्यवर्धक माना जाता हैं, इसके सेवन से स्पर्म की क्वालिटी में सुधार होता हैं। अगर आप पिता बनना चाहते हैं तो कच्ची गाजर को खाना प्रारम्भ कर दीजिये।

यौन दुर्बलता दूर करे

गाजर में विटामिन ई पाया जाता हैं जो सेक्स पॉवर बढ़ाने में लाभदायक माना गया हैं। आयुर्वेद गाजर को यौन शक्तिवर्धक टॉनिक मानता हैं। गाजर और मुली के रस को समान मात्रा में मिला कर पीने से लिंग की कमजोरी दूर होती हैं। कम स्पर्म और यौन दुर्बलता के शिकार व्यक्तियों को गाजर प्रकृति का दिया हुआ वरदान हैं। गाजर पाक की खीर कई दिनों तक खाने से शारीरिक यौन शक्ति बढ़ती हैं। शहद में बनाया गया गाजर का मुरब्बा खाने से सेक्स पॉवर को बढ़ाया जा सकता हैं। गाजर का जूस पुरुषो को जरूर पीना चाहिए, यह उनके कामशक्ति और सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने में मदद करता हैं। गाजर का हलवा भी खाना अच्छा रहेगा। एक्सपर्ट्स का मानना पुरुषो को हफ्ते में 2 दिन गाजर का सेवन जरूर करना चाहिए।

गठिया में फायदेमंद

गठिया की बीमारी से बचने के लिए हर दिन आपको 1 गाजर जरूर खाना चाहिए। इससे हड्डियाँ मजबूत बनती हैं।

एनीमिया दूर करे

पीरियड के दौरान महिलाओं में खून की कमी से एनीमिया की बीमारी हो जाती हैं। गाजर में आयरन प्रचुर मात्रा में पाया जाता हैं। इसलिए महिलाओं को पीरियड्स के दौरान गाजर खाने की सलाह दी जाती हैं। गाजर में विटामिन ई पाया जाता हैं जो नया खून जल्दी से बनाने में मदद करता हैं। गाजर के सेवन से खून में बढ़ोतरी होती हैं। इसलिए खून की कमी दूर करने और एनीमिया की बीमारी में गाजर को जरूर खाना चाहिए, आप चाहते तो गाजर का जूस भी पी सकते हैं।

पीलिया में फायदेमंद

पीलिया की बीमारी होने पर गाजर का सेवन करना फायदेमंद होता हैं। इसे पीलिया की नेचुरल उपचार भी माना जाता हैं।

यह भी पढ़े :- पीलिया  होने पर यह चीज़े जरूर खाए। 

कोलेस्ट्रॉल लेवल कम करे

गाजर को खाने से कोलेस्ट्रॉल लेवल कम होता हैं। रात को भोजन करने के बाद एक गिलास गाजर का जूस पीने से कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखा जा सकता हैं।

ब्लड प्रेशर सही रखे

गाजर में पोटैशियम होता हैं जो ब्लड प्रेशर को सही बनाये रखने में मदद करता हैं। कमजोरी की वजह से चक्कर आते हो तो गाजर का सेवन जरूर करे।

महिलाओं के पीरियड्स में फायदेमंद

गाजर बीटा कैरोटीन से भरपूर होती हैं, पीरियड्स के दौरान बीटा कैरोटीन वाली चीजों को खाने से हैवी ब्लड फ्लो को कम किया जा सकता हैं। गाजर को चबा कर खाने से पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द को कम किया जा सकता हैं। अगर दर्द बहुत ज्यादा हो तो आप दिन में 1 से 2 गिलास गाजर का जूस भी पी सकती हैं। गाजर के सेवन से पीरियड के समय होने वाला चिडचिडापन दूर होता हैं और आपका मूड सही रहता हैं।

पीरियड्स कम आने या सही समय पर न आने पर गाजर के 5 ग्राम बीजो को 20 ग्राम गुड़ के साथ काढ़ा बना कर लेने से फायदा होता हैं।

पाचन के लिए फायदेमंद

अगर आपको पाचन से सम्बंधित परेशानियाँ हैं तो दिन में 2 लाल गाजर खाने से लाभ होता हैं। इससे पेट बिलकुल सही हो जाता हैं। अगर आपको गैस्ट्रिक की समस्या हैं तो आपको दिन में कई बार गाजर खानी चाहिए। गाजर के रस में धनिया पत्ती, जीरा, काली मिर्च, निम्बू का रस और नमक मिला कर पीने से पाचन से सम्बंधित गड़बड़ी को दूर किया जा सकता हैं।

खून साफ़ करे

गाजर का रस पीने से खून की सफाई होती हैं। यह एक नेचुरल रक्तशोधक माना गया हैं।

स्किन को निखारे

गाजर को खाने से स्किन और बालों को विशेष लाभ होता हैं। रोजाना गाजर का सलाद खाना या फिर इसका जूस पीने से चेहरे पर चमक और निखार आ जाता हैं। जैसा की ऊपर बताया ही गया हैं की गाजर के सेवन से खून की सफाई होती हैं, जिससे यह कील-मुहांसों से भी आपको छुटकारा दिलाता हैं।

कब्ज़ दूर करे

गाजर में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता हैं। इसलिए इसे कच्चा खाने से पेट सही रहता हैं और कब्ज़ की समस्या दूर होती हैं। इसके सेवन से पेट अच्छी तरह से साफ हो जाता हैं। आपको बता दे की कब्ज़ शरीर में कई सारी बिमारियों को पैदा करने वाला माना गया हैं, इसे दूर करने में ही हमारी भलाई हैं।

यह भी पढ़े :- कब्ज़ दूर करने के आसान घरेलु नुस्खे और उपाय।

डायबिटीज में फायदेमंद

गाजर का नियमित सेवन करने से खून में ब्लड शुगर लेवल सही रहता हैं। गाजर में पोटैशियम, मैंगनीज और मैग्नीशियम पाए जाते हैं जो शुगर के लेवल को नार्मल बनाये रखते हैं और इस तरह डायबिटीज के खतरे को भी कम करने में फायदेमंद हैं।

बॉडी की इम्युनिटी बढ़ाये

गाजर के सेवन से शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाया जा सकता हैं। गाजर का जूस पीने से बॉडी की इम्युनिटी बढ़ती हैं और आपको सर्दी-जुकाम, खांसी आदि से भी बचाता हैं। इसके सेवन से शरीर को कई सारी बीमारियों से सुरक्षा मिलती हैं।

घाव को जल्दी भरे

गाजर में विटामिन K होता हैं जो चोट लगने पर खून के थक्के को जमने में सहायता करता हैं और खून का बहना बंद करता हैं। विटामिन K चोट को जल्दी से ठीक करने में कारगर हैं। गाजर खाने से खून भी जल्दी बनता हैं।

ओरल हेल्थ के लिए

गाजर का सेवन करने से मूंह से बदबू नहीं आती हैं। इससे मसूड़ो में सड़न भी पैदा नहीं होती हैं। गाजर में विटामिन सी होता हैं जो मसूड़ो को हेल्दी बनाये रखने में कारगर हैं।

पेशाब खुल कर होता हैं

गाजर का जूस पीने से पेशाब खुल कर होता हैं और रक्तशर्करा भी कम होती हैं। गाजर का हलवा खाने से पेशाब में कैल्शियम, फॉस्फोरस आना बंद हो जाता हैं। इसके अलावा गाजर का रस पीने से पेशाब की जलन भी दूर होती हैं।

पथरी में फायदेमंद

पथरी होने पर गाजर का सेवन करना बहुत ही लाभकारी होता हैं। गाजर का जूस पीने से पथरी से निजात मिलती हैं। गाजर पाक और मुरब्बा खाने से शरीर पुष्ट बनता हैं।

दिमाग के लिए फायदेमंद

गाजर का जूस नियमित पीने से दिमाग की कमजोरी दूर होती हैं। गाजर के रस या उबली हुयी गाजर को खाने से भूलने की बीमारी दूर होती हैं। इससे ब्रेन की मेमोरी पॉवर को बढ़ाया जा सकता हैं। इसके अलावा गाजर को खाने से मूड हैप्पी रहता हैं। गाजर के पत्तो के दोनों ओर घी लगा कर गर्म करने के बाद उसके पत्तो का रस निकाल कर 2-3 ग्राम नाक में डालने से माइग्रेन से होने वाले दर्द को कम किया जा सकता हैं।

खुजली और जल जाने पर

गाजर को कद्दूकस करके नमक मिला कर खाने से खाज खुजली में लाभ होता हैं। शरीर के जल जाने पर जलने वाली जगह पर गाजर का रस लगाने से जलन से राहत मिलती हैं।

खांसी और दमा में फायदेमंद

गाजर गर्म होने के कारण कफ को निकालने में मदद करती हैं। इसका सेवन दमा के रोगियों के लिए भी फायदेमंद होता हैं। गाजर को उबाल कर खाने से या फिर इसका हलवा खाने से खांसी दूर होती हैं।




अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

आम खाने के 15 बेहतरीन फायदे जानिए
पपीते के पत्ते का जूस पीने के फायदे
प्याज के घरेलु नुस्खे, उपाय और इसे खाने के फायदे.
जानिए महात्मा गाँधी के बारे में रोचक बातें.
शिलाजीत से क्या फायदे होते हैं?
मूली खाने के फायदे.
एक ऐसा मंदिर जहाँ बुलेट मोटरसाइकिल की पूजा की जाती हैं.
करी पत्ता (मीठी नीम) के फायदे.
फ्रिज में कौन सी चीज़े नहीं रखनी चाहिए?
विटामिन A क्या हैं और इसके उपयोग बताये?
शराब पीने के नुकसान क्या होते हैं? शराब क्यों नहीं पीना चाहिए?
पेट के कीड़े ख़त्म करने के घरेलु नुस्खे और उपाय।
आखिर जापानी लोगो की लम्बी उम्र का राज़ क्या हैं?
क्या डाईजेस्टिव बिस्कुट सेहत के लिए फायदेमंद हैं?
घर के अन्दर जूतें-चप्पल क्यों नहीं ले जाने चाहिए? जानिए इसके पीछे जुड़े हुए वैज्ञानिक और धार्मिक कारण...
गर्भावस्था में सेब खाने से होते हैं ये कमाल के फायदे।

2 thoughts on “गाजर खाने के फायदे – Benefits of Carrot in Hindi.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *