गुरूवार के दिन यह उपाय करने से जीवन की परेशानियां होती हैं दूर।

गुरुवार के दिन किये जाने वाले उपाय और उनसे होने वाले फायदे

वैसे तो हफ्ते का हर दिन किसी न किसी ग्रह और भगवान से जुड़ा हुआ हैं। ज्योतिष के अनुसार नौ ग्रह माने गये हैं। इन्ही ग्रहों में से एक ग्रह हैं देव गुरु बृहस्पति। गुरूवार का दिन भगवान सत्यनारायण का भी दिन हैं। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती हैं। ऐसी धार्मिक मान्यता हैं की गुरूवार के दिन भगवान विष्णु यानि भगवान सत्यनारायण की पूजा करने से माता लक्ष्मी भी प्रसन्न हो जाती हैं।

नव ग्रहों में विद्या, भाग्य और विवाह के कारक के रूप में ब्रहस्पति ग्रह का विशेष महत्व हैं। गुरूवार यानी ब्रहस्पतिवार के दिन कुछ उपाय करने से शादी में आ रही बाधाएं दूर होती हैं। साथ ही घर में खुशहाली, सौभाग्य, ज्ञान आदि की वृद्धि करने के लिए गुरूवार का दिन विशेष रूप से महत्वपूर्ण हैं। आज हम आपको ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं जो सिर्फ बृहस्पति वार के दिन ही करने चाहिए, इससे जीवन में विभिन्न प्रकार की समस्याओं से छुटकारा पाने में मदद मिलती है।

गुरुवार के दिन किये जाने वाले उपाय और उनके फायदे :-

■ पिता की आर्थिक स्तिथि सुधारने के लिए

अगर आपके पिता जी को पैसों की तंगी हो गयी हैं तो आप गुरुवार के दिन तांबे के पत्र पर धन के देवता कुबेर और श्री यंत्र अपने पास रखे। ऐसा करने से आपके पिता की आर्थिक परेशानियाँ दूर होती हैं।

■ नौकरी पाने के लिए

अगर आप अच्छी नौकरी पाना चाहते हैं तो गुरूवार के दिन हल्दी और आटे को मिक्स करके रोटी बनाये। और इसे चने की दाल के साथ खाए। ऐसा करने से आपको मनचाही नौकरी जल्दी मिलेगी।

जरूर पढ़े :- तुरंत नौकरी पाने में मदद करते हैं यह कारगर ज्योतिष उपाय।

■ धन प्राप्ति के लिए

अगर आपके घर में हमेशा धन की कमी बनी रहती हैं या फिर आपके पास धन रूक नहीं पाता हो। तो ब्रहस्पतिवार के दिन चांदी का सिक्का अपने पास रखे। लेकिन चांदी के सिक्के पर माता लक्ष्मी जी का चित्र बना हुआ होना चाहिए। इस उपाय को अजमाने से आपके पास धन आने लगता हैं और घर में धन की कमी नहीं होती हैं।

■ लड़की के विवाह की चिंता दूर करने के लिए

अगर आपकी पुत्री का विवाह नहीं हो पा रहा हैं, या फिर कन्या की शादी को लेकर परेशान रहते हैं। तो लड़की की शादी में हो रही देरी को दूर करने के लिए, गुरूवार के दिन अपनी लड़की को केले के पेड़ की पूजा सुबह के समय करने के लिए कहे। उसके बाद केले के पेड़ पर जल चढ़ाए। इस दिन व्रत करने वाली कन्या को केला नहीं खाना चाहिए। इस उपाय को अजमाने से कन्या के विवाह में हो रही रुकावटें बहुत ही जल्दी समाप्त होने लगती हैं और लड़की की शादी जल्दी होती है।

■ वैवाहिक जीवन सुखी बनाने के लिए

अगर आप अपना वैवाहिक जीवन सुखमय बनाना चाहते हैं तो गुरूवार के दिन ब्राह्मणों का सम्मान करके उनका आशीर्वाद प्राप्त करे। इसके अलावा कुंवारी कन्याओं का आदर-सम्मान करे। ऐसा करने से आपके दांपत्य जीवन में खुशहाली आती हैं और पति-पत्नी में प्रेम बढ़ता हैं।

■ लव मैरिज में सफलता के लिए

अगर आपके प्रेम विवाह में रुकावटें आ रही हैं तो बृहस्पतिवार के दिन सुबह स्नान करने के बाद भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी जी के चित्र के आगे “ऊं लक्ष्मी नारायणाय नमः” मंत्र का जाप 11 बार करे। इस उपाय को प्रत्येक गुरुवार के दिन लगातार 3 महीने तक करे। इस मंत्र का जाप और भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की पूजा एक साथ करने के बाद अपने प्रेम विवाह को सफल बनाने की विनती करे। ऐसा करने से आपके लव मैरिज में आ रही परेशानियां बहुत जल्दी दूर हो जाएँगी।

■ बृहस्पति ग्रह के दोष निवारण हेतु

अगर आपकी कुंडली में गुरु ग्रह खराब हैं तो आप बृहस्पतिवार के दिन पीले रंग की चीज़े जैसे की पीले रेशमी वस्त्र, हल्दी, सुबह मंदिर में जाकर भगवान को चढ़ाए। ऐसे करने से कुंडली में गुरु ग्रह दोष समाप्त होने लगता हैं।

■ मेहनत का फल पाने के लिए

अगर आपको कड़ी मेहनत करने के बावजूद उसका फल प्राप्त नहीं हो पाता हैं। जैसे की आप पढ़ाई और नौकरी के रिजल्ट्स को लेकर ज्यादा तनाव में रहते हैं। तो इसके लिए गुरूवार के दिन ब्राह्मणों को शाम के समय भोजन करवाए, साथ ही उनका आशीर्वाद ले। ऐसा करने से कुछ ही दिनों के अंदर इसका पॉजिटिव असर आपकी जिंदगी में दिखाई देने लगेगा। और परिश्रम करने के बाद आपको सफलता जरूर प्राप्त होने लगेगी।

■ बिज़नेस की बढ़ोतरी के लिए

अगर बिज़नेस में लगातार घाटा हो रहा हैं, तो आप  गुरूवार के दिन एक नारियल को सवा मीटर पीले कपड़े में लपेट ले। इसके साथ थोड़ी पीले रंग की मिठाई लेकर भगवान विष्णु के मंदिर में जाकर चढ़ाए। इससे बहुत ही शीघ्र ही आपके कारोबार में होने वाली परेशानियाँ दूर होने लगती हैं और आपका व्यापार तेज़ी के साथ आगे बढ़ने लगता हैं।

■ सुन्दरता बढ़ाने के लिए

अगर आप अपनी खूबसूरती को हमेशा बनाये रखना चाहते हैं तो गुरुवार के दिन चमेली, हल्दी के पुष्प को शहद के साथ मिला कर अपने चेहरे पर लगाये। इससे आपकी सुंदरता बरकरार रहती हैं।

■ याददाश्त बढ़ाने के लिए

बच्चों की याददाश्त और बुद्धि बढ़ाने के लिए बच्चों के हाथों से गुरुवार के दिन साबुत हल्दी को जल में प्रवाहित करवाए। इससे बच्चों की स्मरणशक्ति तेज़ बनती हैं, साथ ही इससे बच्चों के ज्ञान में वृद्धि होती हैं। साथ ही बच्चों की शिक्षा में सुधार आता हैं।

■ किस्मत चमकाने के लिए

अगर आप अपनी किस्मत को चमकाना चाहते हैं या फिर आप यह चाहते है की आपकी फैमिली आपका सपोर्ट करे तो बृहस्पतिवार के दिन कुएं में एक चुटकी हल्दी डाले। इससे आपका भाग्योदय होने लगता हैं और आपकी सोई हुई किस्मत जाग जाती हैं।

■ पाचन से जुड़ी समस्याओं के निदान के लिए

अगर आपका पाचन तन्त्र ख़राब रहता हैं और पाचन को लेकर कोई न कोई परेशानी बनी रहती हैं। तो गुरु वार के दिन व्रत रखे और साथ ही माथे पर केसर का टिका लगाये। इससे पाचन से जुड़ी सभी समस्याएं दूर होने लगती हैं।

जरूर पढ़े :- तिलक लगाने के फायदे, इसके प्रकार और इसे लगाने के फायदे जानिए।

■ सुख-समृद्धि की प्राप्ति हेतु

अगर घर में सुख-समृद्धि, खुशहाली, वैभव आदि को बनाये रखना चाहते हैं तो गुरुवार के दिन सुबह के समय केले के पेड़ के निचे छाया में खड़े होकर तांबे के बर्तन में चीनी, घी, जल और दूध मिला ले। फिर इसे पीपल के पेड़ की जड़ में डाले। इस उपाय को अजमाने से घर में हमेशा खुशहाली बनी रहती हैं।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

ब्रह्मा की पूजा क्यों नहीं की जाती हैं?
क्यों मनाते हैं लोहड़ी और इसकी कथा क्या हैं?
फरवरी महीने में जन्मे लोग कैसे होते हैं, जानिए इसके बारे में.
रास्ते में बिल्ली दिखे तो उससे नज़र न मिलाये।
कैसे आती है अघोरियों में इतनी शक्ति, मुर्दे भी देते है उनके सवालो के जवाब?
भीष्म पितामह ने पिछले जन्म में की थी गाय चोरी, इसलिए उन्हें भुगतनी पड़ी यातनाये।
दिवाली की तरह दुनिया में मनाये जाने वाले रोशिनी के त्यौहार।
पूजा करते समय जरूर रखे इन बातों का ध्यान।
घर के अन्दर जूतें-चप्पल क्यों नहीं ले जाने चाहिए? जानिए इसके पीछे जुड़े हुए वैज्ञानिक और धार्मिक कारण...
जानिए अगरबत्ती का धुँआ सेहत के लिए कैसे होता हैं हानिकारक।
गरुण पुराण के अनुसार अंतिम संस्कार से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें।
जानिए गहनों का गूम हो जाना या खो जाना कैसे होता हैं अशुभ।