मिठाइयों पर लगी चांदी वर्क असली हैं या नकली इसे चेक करने का तरीका जानिए।

मिठाई पर लगी चांदी वर्क की मिलावट को टेस्ट (जांच) करने के तरीके.

आज के युग में खाने-पीने वाली चीजों में मिलावट होना आम बात हो गयी हैं। त्योहारों के दिनों में मिठाइयों में मिलावट होने के मामले ज्यादा देखने को मिलते हैं। मिलावटी मिठाई को खाने से आपकी सेहत खराब हो सकती हैं। ऐसे ही मिठाइयों को आकर्षित दिखाने के के लिए उन पर चांदी का वर्क लगाया जाता हैं। लेकिन ठहरिये जनाब मिठाइयों पर लगाए जाने वाले चांदी के वर्क भी मिलावटी आ रहे है।

मिलावट वाले खाद्य पदार्थो का सेवन करने से पेट ख़राब होना, उल्टी होना और मतली जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इस समय मिठाइयों में प्रयोग की जाने वाली चांदी के वर्क यानी सिल्वर लीफ में काफी ज्यादा मिलावट की जा रही हैं। असल में चांदी वर्क के नाम पर एल्म्युनियम के वर्क धरल्ले के साथ बेचे जा रहे हैं। जिसके कारण ब्रेन डिसीज, कैंसर और फेफड़े की बीमारियाँ होने का ख़तरा बढ़ गया हैं।

आइये जानते हैं की कैसे पता लगाया जाये की मिठाई में लगी हुई चांदी वर्क असली है या नकली? असली और मिलावटी चांदी वर्क की पहचान करने के लिए आप निचे बताये गये तरीके को अजमा सकते हैं। इन टिप्स और तरीकों को अजमाना आसान हैं और इसे आप घर भी टेस्ट कर सकते हैं। आइये जानते हैं घर पर चांदी के वर्क को टेस्ट या चेक करने का क्या तरीका हैं।

पहला तरीका :-

यह तरीका काफी ज्यादा आसान हैं। इससे आप चुटकी में पता लगा सकते हैं की स्वीट्स पर लगाईं गयी चांदी वर्क में मिलावट की गयी हैं या नहीं। इसके लिए आप चांदी के वर्क को हथेलियों के बीच में लेकर रगड़े। अगर यह चांदी से बनी हुई हैं तो चांदी अपने आप गायब हो जाएगी। लेकिन अगर इसमें खतरनाक एल्म्युनियम की मिलावट की गयी हैं तो यह छोटी की गेंद में बदल जाती हैं।

दूसरी विधि :-

इस विधि के जरिये भी मिलावटी चांदी वर्क का पता लगाया जा सकता हैं। इसे कोई भी व्यक्ति घर में ही टेस्ट कर सकता हैं। इसके लिए अपनी उँगलियों से मिठाई पर लगी हुई चांदी वर्क को पोछे। अगर आपकी उँगलियों पर चांदी वर्क चिपक जाता हैं तो इसका मतलब यह हैं की इस सिल्वर लीफ में एल्मुनियम की मिलावट की गयी हैं। अगर ऐसा न हो पाए तो यह मान लेना चाहिए की यह मिठाई खाने के लिए बिलकुल सेफ हैं।

तीसरा मेथड :-

अगर आपके पास हाइड्रोक्लोरिक एसिड हैं तो इससे भी चांदी के वर्क की शुद्धता को जाना जा सकता हैं। इसके लिए टेस्ट ट्यूब में एक चांदी का वर्क रखे और इसमें फिर हाइड्रोक्लोरिक एसिड की बूंदे डालें। अगर सफेद वेग के बनाते हुए यह टरबाइड (पानी) हो जाये तो समझिये चांदी का वर्क असली हैं। लेकिन अगर इसमें एल्म्युनियम की मिलावट की गयी होगी तो यह टरबाइड नहीं होगी।

परीक्षण करने का चौथा तरीका :-

मिठाई पर लगी हुई चांदी वर्क की पहचान करने के लिए इसे टेस्ट करने का सरल तरीका यह भी हैं। सबसे पहले मिठाई पर लगी चांदी के वर्क को निकाल ले। फिर इसे जलाए और गर्म करे। अगर यह चांदी से निर्मित होगी तो यह चांदी गेंद के साइज़ में बदल जाएगी। जबकि इसमें एल्म्युनियम की मिलावट है तो यह काला हो जायेगा। अमूमन एल्म्युनियम की मिलावट ही गयी होती हैं, ऐसे में अल्म्युनियम जलने के बाद राख में परिवर्तित हो जाता हैं।

सम्बंधित लेख जिन्हें आपको जरूर पढ़ना चाहिए :- 

1.  रसगुल्ले का आविष्कार कैसे हुआ और किसने किया? 

2. जलेबी खाने के फायदे जानिए। 

3. कैसे पहचाने की दूध असली हैं या नकली या फिर दूध में मिलावट की गयी है? 

4. जानिए क्या होता हैं जब आप नकली या मिलावटी घी खाते हैं? 

5. असली रुद्राक्ष को पहचानने के तरीके जानिए।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...