चिकनगुनिया से बचने के लिए क्या करना चाहिए और इसका उपचार क्या हैं?

चिकनगुनिया से बचने के लिए क्या करना चाहिए और इसका उपचार क्या हैं?

चिकनगुनिया एडीज एइजिप्टी नाम के मच्छरों के काटने की वजह से होता हैं। इससे तेज़ बुखार, जोड़ो में दर्द और शरीर पर चक्क्त्ते हो जाते हैं। चिकनगुनिया होने पर जोड़ो में बहुत ही ज्यादा दर्द होता हैं। वैसे चिकनगुनिया की वजह से होने वाला जोड़ो का दर्द 1 हफ्ते से लेकर 2 हफ्ते तक बना रहता हैं, लेकिन कई लोगो को इससे उभरने में 1 महिना भी लग जाता हैं। हालांकि चिकनगुनिया का कोई खास इलाज अभी तक मुमकिन नहीं हो पाया हैं, लेकिन कुछ आसान उपाय द्वारा इससे बचा जा सकता हैं और कुछ अच्छे आहार लेकर इससे आराम पाया जा सकता हैं। आइये जानते हैं चिकनगुनिया से बचने के लिए क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए और इसके उपचार का घरेलु तरीका आदि क्या हैं? इन सभी प्रश्नों का उत्तर जानने की कोशिश करते हैं।

चिकनगुनिया होने से बचने के लिए क्या करना चाहिए?

सबसे पहले अपने आसपास पानी जमा न होने दे, पानी की टैंकी या कूलर आदि से पानी को साफ़ करते रहे, ताकि जमा पानी में मच्छरों के पैदा होने की कोई सम्भावना ही न रहे।

मच्छरों के मारने और घर से भगाने के लिए मच्छर मारने वाले कॉइल्स का इस्तेमाल करे। लेकिन कॉइल्स का इस्तेमाल भी सावधानीपूर्वक करे, नहीं तो कॉइल्स आपको बीमार बना सकते हैं।

मच्छरों से अपनी रक्षा करे, इसके लिए शरीर को पूरी तरह से ढक कर रखे।

अगर आपको बुखार, जोड़ो में दर्द, उल्टी, सिरदर्द आदि के लक्षण दिखाई दे तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे, क्योंकि यह सभी लक्षण चिकनगुनिया की बीमारी से सम्बंधित हैं।

रात को मच्छरदानी लगा कर ही सोना चाहिए।

अपने इलाके, घर के आसपास साफ़-सफाई का विशेष ध्यान रखे। गढ़ो आदि में पानी का जमाव न होने दे, कूड़ेदान आदि को ढक कर रखे। जमा पानी में मच्छर ज्यादा पैदा होते हैं, तो इन जगहों पर DTT आदि कीटनाशको का छिडकाव करे।

ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पीते रहे, ताकि पेट साफ़ रह सके।

अगर आपके मोहल्ले या इलाके में कूड़ा ज्यादा जमा हो गया हैं तो आप स्थानीय सफाई अधिकारियों को इसकी सूचना दे।

मच्छरों को भगाने के लिए निलगिरी के तेल, लैवेंडर, दालचीनी, निम्बू या नीम आदि से बने कॉइल्स का इस्तेमाल करे।

जरूर पढ़े :- मच्छर दूर भगाने के उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय।

क्या नहीं करना चाहिए :-

■ मच्छरों से बचने के लिए ज्यादा गहरे रंग जैसे की नीले और काले रंग के कपड़े न पहने। क्योंकि डार्क रंग पर मच्छर बहुत जल्दी आकर्षित होते हैं।

■ बुखार आने के साथ जोड़ो में तेज़ दर्द हो रहा हैं, तो फ़ौरन डॉक्टर से सलाह ले।

■ कॉइल्स का इस्तेमाल ध्यानपूर्वक करे, क्योंकि मच्छर भगाने वाली कई कॉइल्स में ऐसे खतरनाक केमिकल्स का इस्तेमाल किया जाता हैं, जो धुएं के जरिये मनुष्य के शरीर में दाखिल हो कर, मानव शरीर को भी नुकसान पहुचाती हैं।

■ कॉइल्स की जगह पर आप मच्छर भगाने के लिए क्रीम्स आदि को भी लगा सकते हैं। लेकिन इन क्रीम्स को हथेली, कान, नाक, मूंह आदि के पास न लगाये। इसके अलावा इन चीजों को बच्चों की पंहुच से भी दूर रखे।

■ अपने आसपास मच्छरों को भटकने न दे, खासकरके दिन के समय भी ध्यान रखे। क्योंकि चिकनगुनिया के कारक एडीज मच्छर दिन के समय ज्यादा एक्टिव रहते हैं।

चिकनगुनिया का घरेलु उपचार :-

चिकनगुनिया के इलाज के लिए अभी तक कोई टिका नहीं बन पाया हैं। इसलिए डॉक्टर चिकनगुनिया के रोगियों को आराम करने और ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पीने की सलाह देते हैं। इस बिमारी के उपचार के लिए डॉक्टर मरीज़ को दर्द निवारक और प्रज्वलरोधी दवाएं देते हैं। इसके अलावा आप इस बीमारी से मुक्ति पाने के लिए कुछ घरेलु नुस्खे और उपाय को अजमा सकते हैं। अगर चिकनगुनिया के मरीज़ को ज्यादा उल्टियाँ हो रही हैं तो उसे हॉस्पिटल में भर्ती करवाना चाहिए। चिकनगुनिया के लक्षण डेंगू जैसे ही दिखाई देते हैं, इसलिए इस बीमारी की पहचान करना और भी ज्यादा मुश्किल हो जाता हैं। आइये चिकनगुनिया को दूर करने के लिए क्या खाना चाहिए और इसके इलाज के घरेलु नुस्खे और उपाय आदि के बारे में जानते हैं।

चिकनगुनिया दूर करने के लिए घरेलु नुस्खे, उपाय और टिप्स :-

बर्फ को तौलिये में लपेट कर जोड़ो की सेंकाई करनी चाहिए। इससे जोड़ो में होने वाले दर्द से राहत मिलती हैं।

चिकनगुनिया के मरीज़ को दिन में 3 या 4 बार पपीते के पत्तो से निकाला हुआ रस पिलाते रहे। पपीते के पत्तियों का रस चिकनगुनिया की बीमारी को दूर करने का सबसे बढ़िया उपचार माना जाता हैं।

अपने खाने में ढेर सारी सब्जियों और फलों को शामिल करे।

शरीर पर रैशेज पड़ गये हैं तो विटामिन ई कैप्सूल को नारियल के तेल में मिला प्रभावित जगह पर लगाये।

शरीर में पानी की कमी न होने दे, ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी और तरल पदार्थ लेते रहे।

जोड़ो पर हल्के हाथो से नारियल के तेल से मालिश करते रहे। इससे दर्द और सूजन दोनों ही दूर होने लगते हैं।

घर पर अच्छी तरह आराम करे और हल्की-फुल्की एक्सरसाइज करते रहे। इससे जोड़ो के दर्द को दूर करने में आसानी होती हैं।

अदरक की चाय और ग्रीन टी का सेवन करे, इससे दर्द और सूजन दोनों से आराम मिलता हैं।

अच्छी नींद लेते रहे और घर पर आराम करे, जिससे बॉडी रिलैक्स फील करती हैं और जोड़ो के दर्द से जल्दी आराम मिलता हैं।

दिनभर में 2 कीवी फल जरूर खाए, इससे ब्लड प्लेटलेट्स की संख्या को बढ़ाने में मदद मिलती हैं और चिकनगुनिया की बीमारी से छुटकारा मिलता हैं।

जरूर पढ़े :- चिकनगुनिया और डेंगू होने पर क्या खाना चाहिए, जिससे ब्लड प्लेटलेट्स की संख्या  में बढ़ोतरी हो सके? 

चिकनगुनिया के उपचार के लिए आप गिलोय का रस या गिलोय के चूर्ण या इसकी गोलियों का सेवन कर सकते हैं। यह भी चिकनगुनिया के उपचार के लिए काफी लाभकारी हैं।

नोट :- चिकनगुनिया से बचने के लिए छोटी-छोटी बातों का ध्यान रहे, नहीं तो एक छोटी सी भूल आपको बीमार बना देगी और आप बिस्तर पर लेटने के लिए मजबूत हो जायेंगे। इसलिए इस बीमारी को पैदा करने वाले मच्छरों से बचने की कोशिश करे और साफ़-सफाई आदि का ध्यान जरूर रखे।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *