छछूंदर को भगाने का तरीका और इसके शुभ-अशुभ फल के बारे में जानिए।

छछूंदर की जानकारी, Information about mole in Hindi.

छछूंदर एक ऐसा जीव हैं, जिसकी महक काफी दुर्गन्ध वाली होती हैं। छछूंदर को कुत्ते, बिल्ली, लोमड़ी आदि भी खाने से बचते हैं, क्योंकि छछूंदर के लार में काले नाग जैसा ज़हर होता हैं। इसलिए इसे कोई भी जानवर अपना शिकार बनाने से कतराता हैं। हां, उल्लू ही एक ऐसा जीव हैं जो छछूंदर को खा सकता है, लेकिन उल्लू भी जब छछूंदर को खा लेता हैं तो वह भी बीमार पड़ जाता हैं।

छछूंदर एक साहसी और सर्वाहरी जीव हैं। यह साँपों और चूहों का काल भी होती हैं। छछूंदर जब अपने दांत किसी भी जानवर के शरीर में गड़ा देती हैं तो सामने वाले जानवर के होश-हवाश ही गूम हो जाते हैं और उसे कुछ समझ ही नहीं आ पाता की आखिर हो क्या रहा हैं? उसके आँखों के सामने अँधेरा छा जाता हैं और यहाँ तक की जिस प्राणी को छछूंदर ने काट लिया हैं, उसे सांस लेने में भी तखलीफ़ होने लगती है, यहाँ तक उस प्राणी को लकवा भी मार जाता हैं।

छछूंदर अपने मूंह से लगातार बदबू छोड़ती रहती हैं, जिससे कोई भी खतरनाक जानवर उसके सामने जाने से बचता हैं। छछूंदर की उम्र 10 साल से लेकर 30 साल तक होती हैं।

छछूंदर को भगाने के तरीके :-

1. जिस जगह पर छछूंदर का आना-जाना लगा रहता हैं, वहा पर लाल मिर्च पाउडर का छिड़काव करे।

2. छछूंदर को घर से भगाने के लिए रूई में पेपरमिंट लपेट कर घर के सभी कोनो में रख दे, इससे छछूंदर इसे सूंघ लेगी तो उसे महक बर्दास्त नहीं होती और वह घर से बाहर भाग जाएगी।

3. पुदीने के फूलों या पत्तियों को कुचल कर छछूंदर के बिल के पास या उसके आने-जाने वाली जगह पर रखने से भी छछूंदर वहां से भाग जाती हैं।

ज्योतिष के अनुसार छछूंदर हैं शुभ :-

छछूंदर को माता लक्ष्मी की सवारी माना गया हैं। आइये जानते हैं ज्योतिष के अनुसार छछूंदर के शुभ शगुन क्या हैं।

ऐसा माना जाता हैं की जिस घर में छछूंदर घूमती हैं, उस घर में माता लक्ष्मी का आगमन होता हैं। परन्तु जिस घर में साफ-सफाई का अच्छा ध्यान रखा जाता हैं, वहां पर छछूंदर नहीं आती हैं।

ऐसी मान्यता हैं की दीपावली की रात को अगर छछूंदर दिख जाये तो आपकी किस्मत खुलने वाली हैं। ऐसा ज्योतिषियों का विचार हैं की इससे धन से जुड़ी सभी समस्याएं समाप्त हो जाती हैं।

ज्योतिषियों का यह भी कहना हैं की अगर छछूंदर किसी व्यक्ति के चारों ओर चक्कर लगाने लगे, तो ऐसा मानना चाहिए की आने वाले भविष्य में उसे काफी ज्यादा धन लाभ होने वाला हैं।

अगर छछूंदर घर के चारों ओर घूमने लगे तो समझिये उस घर की सभी विपत्तियाँ और दुःख समाप्त होने वाली है।

मनुष्यों के लिए खतरनाक हैं छछूंदर :-

जैसे की छछूंदर दुसरे जानवरों के लिए खतरनाक होती है, वह मनुष्यों के लिए भी हानिकारक हो सकती हैं। अगर आपके घर में छछूंदर का आना-जाना लगा रहता हैं तो भोजन को संक्रमित होने से बचाए। क्योंकि छछूंदर का थूक विषैला होता हैं। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखे की छछूंदर आपको काटे भी नही, नहीं तो आप मुसीबत में फँस सकते हैं।

■ जैसे की कुत्ते, बिल्ली, चूहा, चमगादड़, शेर, नेवला आदि के काटने से रेबीज़ होने का खतरा होता हैं। उसी तरह छछूंदर के काटने पर रेबीज़ का इंजेक्शन लगवाने की सलाह दी जाती हैं। छछूंदर के काटने से हाइड्रोफोबिया नामक बीमारी होती हैं। जिसकी वजह से व्यक्ति की मृत्य तक हो सकती हैं। इसलिए छछूंदर के प्रति लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए, यह काफी ज्यादा खतरनाक जानवर हैं।

■ छछूंदर छोटे बच्चों की पैरों की उँगलियों को कुतर सकती हैं। यह जब काटती हैं तो दर्द का अहसास भी नहीं होता हैं, क्योंकि यह अपने थूक से उस हिस्से को सुन्न कर देती हैं। यह छोटे बच्चों की पैरों की उँगलियों को कुतर-कुतर कर खा जाती हैं।

पर्यावरण के लिए जरूरी हैं छछूंदर

वैसे तो ज्योतिष मान्यता यह हैं की छछूंदर जहा जाती हैं, वहां लक्ष्मी जी निवास करती हैं। इस बात में सच्चाई हैं या नही इस पर तो कुछ कहा नहीं जा सकता हैं। परन्तु एक बात तो सच हैं की जहा पर छछूंदर रहती हैं, वहा पर कीड़े-मकौड़े, चूहे, सांप और अन्य तरह जीव जंतु नहीं रहते हैं। यह घर के सभी बैक्टीरिया को खत्म कर देती हैं। यह कहा जाये की यह सफाई कर्मी हैं तो अतिकथनी नहीं होगी। यानी की छछुंदर खतरनाक भी हैं, लेकिन पर्यावरण के लिए जरूरी भी हैं।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...