जानिए अच्छी बॉडी लैंग्वेज क्या होती हैं? इसे कैसे ठीक करे?

जानिए अच्छी बॉडी लैंग्वेज क्या होती हैं? इसे कैसे ठीक करे?

दुनिया के प्रत्येक व्यक्ति की अपनी ही शारीरिक भाषा होती हैं, जिसे बॉडी लैंग्वेज कहा जाता हैं। अगर मनुष्य कितना भी अच्छा बोले या अच्छा व्यवहार करे, लेकिन सच तो यही हैं की उसकी बॉडी लैंग्वेज सामने वाले व्यक्ति पर अपना असर तो जरूर ही डालती हैं। जो हम बोल रहे हैं उसका हमारे बॉडी लैंग्वेज से अच्छा तालमेल होना बहुत ही जरूरी हैं।

बॉडी लैंग्वेज का कार्यशीलता और सफलता से गहरा नाता माना जाता हैं। अगर आपके अन्दर ढेर सारा टैलेंट हैं, लेकिन अगर आपकी बॉडी लैंग्वेज खराब हैं तो यह निश्चित ही आपकी सफलता प्राप्ति में रोड़ा बनता हैं। “टैलेंट स्मार्ट” नाम की एक संस्था ने बॉडी लैंग्वेज पर लाखों सफल और असफल व्यक्तियों पर रिसर्च किया। और यह भी पाया की सफल व्यक्ति भी कभी न कभी अच्छी बॉडी लैंग्वेज में गलतियाँ कर ही जाते हैं। Tips for Good Body Language in Hindi. Acchi Body Language ke liye best tips.

आइये जानते हैं अच्छी बॉडी लैंग्वेज के टिप्स क्या हैं :-

Don’t Sit Cross Leg or Cross Arm

कई बार ऐसा होता हैं की लोग क्रॉस लेग बैठकर या बांहों को मोड़कर सामने वाले व्यक्ति से बातचीत करते हैं। लेकिन एक्सपर्ट्स का यह मानना हैं की ऐसा बिलकुल भी नहीं करना चाहिए। खास तौर पर अपने से बड़े लोगो के सामने तो हरगीज़ भी नहीं। क्योंकि इसका मतलब यह होता हैं की आप खुल कर बातचीत नहीं करना चाहते हैं या फिर आप कुछ छिपा रहे होते हैं।

बार बार घड़ी न देखे

अच्छी बॉडी लैंग्वेज के लिए सबसे जरूरी हैं की आप सामने वाले से बात करते समय बार-बार घड़ी या मोबाइल देखने से बचे। क्योंकि बार बार समय देखने से यह साफ़ हो जाता हैं की आपके सेल्फ-कॉन्फिडेंस की कमी हैं और आप सामने वाले से नज़रे चुरा रहे होते हैं। और इससे यह भी संकेत मिलता हैं की आप सामने वाले से उसकी बात नहीं सुनना चाहते हैं, बल्कि अपनी बात जल्द से जल्द ख़त्म करना चाहते हैं।

जरूरत से ज्यादा सिर हिलाने से बचे

अगर सामने वाले व्यक्ति की बात से हम सहमत हैं तो सिर हिला कर हम उसको बताते हैं। लेकिन बेवजह जरूरत से ज्यादा सिर हिलाना खराब बॉडी लैंग्वेज की निशानी हैं।

बार बार बाल ठीक करने से बचे

अगर आप किसी से बात कर रहे हैं तो बार बार अपने कपड़ो और बालों को ठीक करने से बचे। इससे यह संकेत मिलता हैं की आप सिर्फ अपनी ओर ही ध्यान दे रहे हैं और दुसरे की बातों और विचारों का आप पर कोई प्रभाव नहीं पड़ रहा हैं।

हाथ मिलाते समय

कभी भी हल्के हाथों से और बेफिक्री अंदाज़ में सामने वाले से हाथ न मिलाये। ऐसा करने से सामने वाले को लगता हैं की आपके अन्दर आत्म-विश्वास की कमी हैं। जब भी किसी से हाथ मिलाये तो पूरी उर्जा और ताजगी के साथ हैण्ड शेक करे।

मुट्ठी बाँधने से बचे

बातचीत के दौरान मुट्ठी बाँधने से बचना चाहिए। क्योंकि यह खराब बॉडी लैंग्वेज की ओर इशारा करता हैं। इससे यह भी पता चलता हैं की आप खुल कर बात नहीं करना चाहते हैं। इसलिए किसी से बात करते समय मुट्ठी को नहीं बांधना चाहिए।

ज्यादा करीब जा कर बातचीत न करे

जब आप किसी दुसरे व्यक्ति से बातचीत कर रहे हैं तो उसके सही दूरी बना कर रखे। ज्यादा नज़दीक जा कर बात करना सही नहीं हैं।

बेफिक्र और खराब अंदाज़ में चलने से बचे

बेफिक्र और अल्हड़ अंदाज़ में चलने को disrespect की नज़र से देखा जाता हैं। यह भी दिखाता हैं की आपको सामने वाली की बातों से कोई दिलचस्पी नहीं हैं और आप उसकी परवाह नहीं करते हैं। चलने के दौरान पैरो को जमीन से बिना आवाज़ किये चलना आपके लिए अच्छा रहेगा।

खुश रहे और चेहरे पर ताजगी बनाये रखे

काम करते समय खुश रहना बहुत ही जरूरी हैं। हर समय मूंह उदास करके दुःखी रहना नहीं चाहिए। क्योंकि कुछ लोग आपको दुःखी देखकर खुश होते हैं। कई लोग आपसे इसलिए बात नहीं करना चाहते हैं क्योंकि आप हमेशा दुःखी रहते हैं।

किस बात को बढ़ा चढ़ा कर न बताये

जब भी आप किसी से बात करे चाहे वह आपका बॉस ही क्यों न हो, छोटी सी सफलता के लिए किसी भी बात को बढ़ा चढ़ा कर पेश करने से बचना चाहिए। यह आपकी इमेज को खराब करता हैं और सामने वाला आपको गप्पबाज़ समझने लगता हैं। बातचीत के दौरान अपनी बांहों को नहीं फैलाना चाहिए और नहीं हाथ दिखा कर बात करना चाहिए।

खुद को दुसरे से अलग रहना

अगर आप काम बहुत अच्छा करते हैं, लेकिन लोगो से बातचीत नहीं करते हैं तो यह अच्छी बात नहीं हैं। जब भी ऑफिस के लोग आपस में बातचीत करे तो उनके ग्रुप में शामिल हो जाये, इससे यह संकेत मिलता हैं की आप सिर्फ काम ही नहीं बल्कि रिलेशन बनाने में भी दिलचस्पी लेते हैं।

आँख मिलाना

बात करते समय सामने वाले से आँख मिला कर ही बात करनी चाहिए।

आँखें मिलाये, घूरे नहीं

आँखें मिला कर बात करने का यह मतलब नहीं हैं की आप सामने वाले को घूरे। आमतौर पर बातचीत के दौरान आप सामने वाले से 7-10 सेकंड तक आँखे मिला कर बात करे, फिर पलकें झपकाए।

बातचीत के दौरान हाव-भाव

आप जो भी बोल रहे हैं, वहीँ एक्सप्रेशन आपके चेहरे पर भी दिखना जरूरी हैं। जैसे की आप दुखी हैं तो आपके चेहरे पर दिखना चाहिए। परेशान हैं तो दिखना चाहिए, नहीं तो सामने वाला आप पर भरोसा नहीं करेगा।

आँखें गोल-गोल न घुमाये

कई लोग बातचीत के दौरान आँखों को गोल-गोल घुमाते हैं। ऐसा करने से बचे और अगर यह आपकी आदत हैं तो इसे बदलने की कोशिश करे।




अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

Whatsapp के वो 8 सीक्रेट फीचर्स, जिन्‍हें जानना है जरूरी
तेजस ट्रेन की स्पीड ऐसी होगी की बाकी ट्रेन कछुआ बन जाएँगी.
वजन कम करने के आंवले का सेवन करने के असरदार तरीके।
अगरबत्ती बना कर बने स्वयं रोजगार जानिए कैसे?
इन्टरनेट से कमाई करने के ऑनलाइन तरीके जानिए।
बारिश के मौसम में बिमारियों से बचने में मदद करते हैं यह उपयोगी टिप्स।
लौंग के फायदे जानते हैं आप?
नया स्मार्टफोन खरीदने के टिप्स.
मानसून में क्या खाए और क्या नहीं खाए?
जानिए जेब में रखे पेन से स्याही क्यों निकलने लगती हैं?
बाथरूम के लिए जरूरी वास्तु टिप्स, जिससे घर में आती हैं सुख-शांति।
आलू का रस (जूस) पीने के 11 बेहतरीन फायदे और सावधानीयां।
हेपेटाइटिस बी से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं यह उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय।
बंद कान को खोलने के उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय।
बादाम के तेल से स्किन और बालों को होने वाले फायदे जानिए।
क्या पेट की गैस यानी पाद को ज्यादा देर तक रोकना चाहिए?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *