कंप्यूटर माउस के बारे में यह रोचक बातें क्या आप जानते हैं?

कंप्यूटर माउस के बारे में यह रोचक बातें क्या आप जानते हैं?

क्या आपको पता हैं की कंप्यूटर माउस का आविष्कार किसने किया था? अगर नहीं तो आइये जानते हैं कंप्यूटर माउस से जुड़ी हुई कुछ रोचक बाते और जानकारी, जिससे आपके जनरल नॉलेज में बढ़ोतरी हो सके। इसके अलावा कंप्यूटर माउस को बनाने वाले महान आविष्कारक के बारे में भी कुछ महत्वपूर्ण तथ्य भी जानेंगे।

कंप्यूटर माउस को सन 1960 में डगलस एंजेलबर्ट ने बनाया था। जब उन्होंने उस समय कंप्यूट माउस का आविष्कार किया, तब आपको जानकर हैरानी होगी की उन्होंने इसे लकड़ी से बनाया था। आज हमे माउस के अलग-अलग प्रकार के डिजाईन देखने को मिल रहे हैं, यहाँ तक की अब वायरलेस माउस का इस्तेमाल किया जाने लगा हैं। आइये जानते हैं कंप्यूटर माउस से जुड़ी हुई कुछ मजेदार रोचक जानकारी और तथ्यों के बारे में।

1. जब डगलस एंजेलबर्ट ने साल 1960 में कंप्यूटर माउस का आविष्कार किया था, तब उस समय के कंप्यूटर का साइज़ बड़े-बड़े कमरों के जितना होता था, कंप्यूटर में पंच कार्ड्स के जरिये डाटा फील किया जाता था।

2. साल 1963 में बिल इंग्लिश ने डगलस के स्कैचेज के आधार पर लकड़ी के माउस को बनाया, जिसे चलाने के लिए 2 पहियों का इस्तेमाल किया था। डगलस ने सन 1968 में सैन फ्रांसिस्को के कंप्यूटर कांफ्रेंस में माउस का सबसे पहला Demonstration दिया था।

3. बिल इंग्लिश और जैक हॉली पर डगलस के द्वारा किये गये इस काम का बहुत असर पड़ा। उन्होंने उसी के आधार पर साल 1972 में पहले डिजिटल माउस में जीरॉक्स पार्क डिजाइन किया। इस माउस में एनालॉग से डिजिटल में कन्वर्ट करने की आवश्यकता नही होती थी, यह डायरेक्ट इनफार्मेशन कंप्यूटर को सेंड करता था। इसी माउस में पहली बार मेटल की माउस बॉल लगाईं गयी।

4. आपको जानकर हैरानी होगी की साल 1970 में जब डगलस एंजेलबर्ट ने माउस का पेटेंट अपने नाम पर करवाया तो उस समय डगलस के नाम माउस के अलावा 45 अन्य आविष्कारों के पेटेंट थे।

5. शुरुवाती दौर में माउस को बग कहा जाता था, परन्तु माउस इसे तबसे कहा जाने लगा, जब स्टैंफोर्ड रिसर्च इंस्टीट्यूट में एक ऐसा माउस बनाया गया, जिसका आकार बिलकुल चूहे की तरह था।

6. डगलस के demonstration के लगभग 20 साल बाद वर्ष 1981 में माउस बाज़ार में इस्तेमाल करने के लिए बेचा जाने लगा। इसमें बॉल और 2 बटन थे। जेरोक्स स्टार 8010 पर्सनल कंप्यूटर के साथ इसे बेचा गया। उस समय इस कंप्यूटर की कीमत 16000$ थी।

7. माउस बॉल का आविष्कार साल 1970 में बिल इंग्लिश ने किया था।

8. माइक्रोसॉफ्ट ने साल 1983 में पहली बार माउस को अलग करके बाज़ार में बेचना शुरू कर दिया था, जैसे की आपको पहले ही बताया गया हैं की इससे पहले माउस सिर्फ कंप्यूटर के साथ ही बेचे जाते थे, लेकिन 1983 में माउस अब बिना कंप्यूटर के भी खरीदे जा सकते थे।

9. सन 1991 में Logitech ने दुनिया के सामने सबसे पहला वायरलेस माउस प्रस्तुत किया। जिसमे Radio Frequency Transmission का प्रयोग किया गया।

10. साल 2004 में एक बार फिर Logitech कम्पनी ने माउस में काफी बड़ा बदलाव किया और बाज़ार में दुनिया का सबसे पहला लेज़र माउस पेश किया। इस लेज़र माउस की खासियत यह थी की यह ऑप्टिकल माउस की स्पीड से 20 गुना ज्यादा फास्ट था।

Laser Mouse का विडियो देखिये :- 

 

 

11. Mouse की स्पीड को मिकी यूनिट में गिना जाता हैं। एक मिकी एक इंच का 200वां हिस्सा होता हैं।

12. माउस को ज्यादातर भाषाओं जैसे की इटालियन, स्पेनिश, फ्रेंच, रशियन, इंग्लिश सहित सभी language में माउस ही कहा जाता हैं।

डगलस एंजेलबर्ट का जीवन परिचय

जानिए डगलस एंजेलबर्ट कौन थे? डगलस एंजेलबर्ट ने सिर्फ माउस का अविष्कार नहीं किया था, बल्कि वे ईमेल, वर्ड प्रोसेसिंग, टेलिकॉन्फ्रेंसिंग की शुरुवात करने के लिए भी जाने जाते हैं। डगलस एंजेलबर्ट का जन्म ओरेगन के पास पोर्टलैंड में 30 जनवरी 1925 को हुआ था। डगलस एंजेलबर्ट के पिटा पेशे से रेडियो मकैनिक थे, जबकि उनकी माँ एक हाउसवाइफ थी।

डगलस एंजेलबर्ट ने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की डिग्री ली, फिर उन्होंने Second world war में Radio technician के रूप में काम किया। फिर उन्होंने नासा की संस्था नाका में Electrical Engineer के पद पर काम किया। इसके बाद उन्होंने नौकरी छोड़ दी और डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त करने के लिए वह बर्कले स्थित California University में दाखला लिया।

उसके बाद उन्होंने ऑग्मेंटेशन शोध केन्द्र नाम से अपनी प्रयोगशाला को निर्माण करवाया। उनकी प्रयोगशाला ने एआरपीएनेट के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया, जिसे आगे चलकर इन्टरनेट के नाम से जाना जाने लगा। साल 1997 में उन्हें लेमेलसन-एमआईटी पुरस्कार से नवाज़ा गया और वर्ष 2000 में पर्सनल कंप्यूटिंग की बुनियाद तैयार करने हेतु नेशनल मैडल फॉर टेक्नोलॉजी का पुरस्कार प्रदान किया गया। डगलस एंजेलबर्ट की मृत्यु 2 जुलाई 2013 में हुई, वे उस समय 88 साल के थे।

डगलस एंजेलबर्ट का पूरा जीवन परिचय आप  विकिपीडिया के  हिंदी पेज पर पढ़ सकते हैं।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *