जानिए पेशाब का रंग क्या कहता हैं?

पेशाब के रंग क्या मतलब होता हैं

पेशाब के रंग से आप अपनी सेहत के बारे में जान सकते हैं। कई लोगो को जब पीला पेशाब आने लगता हैं तो वे लोग घबराने लगते हैं। लेकिन अगर आपको कभी कभार पीला पेशाब आता हैं तो इसमें घबराने वाली कोई बात नहीं हैं। पेशाब पीले रंग का आ रहा हैं तो आपको ढेर सारा पानी पीना चाहिए। इससे मूत्र से सम्बंधित छोटी-मोटी समस्याएं ख़त्म हो जाती हैं। लेकिन फिर भी पेशाब का रंग पीला ही आ रहा हैं तो आपको तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए। मूत्र का रंग हमारे स्वास्थ्य की ओर इशारा करता हैं। आइये जानते हैं पेशाब के रंग से हम कैसे जान सकते हैं, की हम स्वस्थ्य हैं या नहीं? या फिर पेशाब का रंग हमारी सेहत के बारे में हमें क्या संकेत देता हैं।

पेशाब का रंग का मतलब :-

• हल्के पीले रंग का पेशाब

अगर आपको हल्के पीले रंग का पेशाब आता हैं तो आपको यह समझ लेना चाहिए, की आप पूरी तरह से फिट हैं। आपको कोई बीमारी नहीं हैं। लेकिन हल्के पीले रंग के पेशाब के लिए आपको रोजाना ढेर सारा पानी पीना चाहिए। इस रंग का पेशाब यह संकेत देता हैं की आपकी बॉडी के फंक्शन सही तरह से काम कर रहे हैं और सबकुछ ठीक हैं।

• पीला पेशाब

अगर आपको पीला पेशाब आ रहा हैं तो यह शरीर में पानी की कमी होने का लक्षण होता हैं। इस समस्या को ख़त्म करने के लिए आपको ढेर सारा पानी पीना चाहिए। इससे पेशाब का पीलापन दूर हो जायेगा।

• गाढ़ा पीला पेशाब

अगर आपको गाढ़ा पीला पेशाब आ रहा हैं तो यह दवाइयों के सेवन की वजह से हो सकता हैं। लेकिन अगर आपको रोजाना ही गाढ़ा पीला मूत्र आ रहा हो तो आपको डॉक्टर से परामर्श करने की जरूरत हैं, क्योंकि गाढ़ा पीला पेशाब लीवर की प्रोब्लम्स और हेपेटाइटिस की वजह से आता हैं।

• दुधिया सफ़ेद रंग का पेशाब

मूत्र में बैक्टीरिया ज्यादा होने के कारण आपका पेशाब दुधिया रंग का हो सकता हैं। इसके अलावा यह किडनी में स्टोन और मूत्रमार्ग में इन्फेक्शन होने का भी संकेत होता हैं।

• लाल और गुलाबी रंग का पेशाब

पेशाब का रंग लाल और गुलाबी इसलिए हो सकता हैं, जब आपने चुकंदर या ब्लैकबेरी का सेवन किया हो। लेकीन अगर आपने ऐसा कोई भी खाद्य पदार्थ नहीं खाया हैं और लाल या गुलाबी रंग का पेशाब आ रहा हैं, तो यह बहुत ही गंभीर समस्या हैं। पेशाब का रंग लाल या गुलाबी होने का मतलब यह हैं की आपके पेशाब में खून आ रहा हैं। यह आपके यूरेनरी सिस्टम, किडनी स्टोन, या जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज के कारण रेड ब्लड वेसल्स के टूटने की वजह से आ सकता हैं। इस स्तिथि में बिना देर किये डॉक्टर से मिलना चाहिए।

• नारंगी रंग का पेशाब

मूत्र से सम्बंधित समस्याओं को दूर करने के लिए जो दवाईयां आ खाते हैं, उसकी वजह से नारंगी रंग का पेशाब आपको आता हैं। इसके अलावा गाजर या गाजर का जूस पीने की वजह से भी पेशाब का रंग नारंगी हो सकता हैं।

• नीला और हरा पेशाब

पेशाब से सम्बंधित कई सारी दवाईओं में डाई का इस्तेमाल किया जाता हैं। इन दवाइयों के सेवन से आपको हरा या नीला पेशाब आ सकता हैं। इसके अलावा पेशाब का रंग नीला या हरा तब भी होता हैं, जब आप कोई ऐसा भोजन करते हैं, जिसमे आर्टिफिशल कलर डाला गया हो।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

अच्छे डाइजेशन (पाचन) के लिए कुछ उपयोगी टिप्स जानिए।
योग करने से क्या लाभ होते हैं?
दही खाने के 11 बेहतरीन फायदे जानिए।
रात में दही क्यों नहीं खाना चाहिए?
सीताफल (शरीफा) खाने के फायदे, घरेलु नुस्खे और उपाय.
जानिए एनर्जी ड्रिंक पीने से सेहत को होने वाले नुकसान के बारे में...
सेब के सिरके के फायदे एवं नुकसान और इसके उपयोगी घरेलु नुस्खे एवं उपाय।
दिल को हेल्दी रखने के लिए क्या खाए और क्या नहीं खाए?
सर्दी-जुकाम जल्दी ठीक नहीं होने की वजह क्या हैं?
इन कामों को करने से रीढ़ की हड्डी होती हैं कमजोर।
वजन घटाने के लिए नींबू का ऐसे करे इस्तेमाल।
अपेंडिक्स होने के यह होते हैं लक्षण, इन्हें अनदेखा न करे।