शनिवार को अगर जूते-चप्पल चोरी हो जाये तो समझिये बला टली।

जूते चप्पल चोरी होना अच्छा माना गया हैं.

हम सभी लोग ऐसा ही चाहते हैं की कभी भी हमारा कोई सामान चोरी न हो। लेकिन जिंदगी में हर मनुष्य की किसी चीज़ को कोई चोर चुरा ही लेता हैं। लेकिन ज्योतिष शास्त्र की माने तो जूते-चप्पल अगर चोरी हो जाये तो यह काफी ज्यादा शुभ हैं। खासकरके अगर मंदिर से शनिवार के दिन आपका जूता या चप्पल चोरी हो जाये तो यह मानना चाहिए की आपकी कई सारी परेशानियां कम होने वाली हैं। क्योंकि शनिवार के दिन जूते-चप्पल की चोरी होने से शनि दोष कम होने लगते हैं।

अमूमन किसी भी चीज़ की चोरी होने से आपके पैसे ही बर्बाद होते हैं, मतलब की चोरी आपके धन की हानि को दर्शाता हैं। लेकिन ज्योतिष के अनुसार जूते-चप्पलों का चोरी हो जाना काफी ज्यादा शुभ हैं। अगर शनिवार के दिन चमड़े के बने जूते चोरी हो जाये तो इससे अच्छा कुछ नहीं हो सकता हैं। जो लोग जूते-चप्पल के चोरी होने से ज्योतिषीय फायदे जानते हैं, वह लोग खुद ही शनि मंदिर के बाहर जूते-चप्पल जानबूझकर छोड़ आते हैं।

आखिर शनिवार के दिन जूते-चप्पल चोरी होना शुभ क्यों हैं और इसके क्या फायदे हैं?

ऐसा ज्योतिषियों का मानना हैं की चमड़े के शूज अगर शनिवार के दिन चोरी हो जाये तो उसके साथ ही आपकी सारी मुसीबते चली जाती हैं। यह मान्यता एस्ट्रोलॉजी के हिसाब से मानी गयी हैं। ज्योतिष शास्त्र में शनि ग्रह को कठोर और क्रूर ग्रह कहा गया हैं। शनि जब किसी मनुष्य को विपरीत फल देने लगता हैं तो वह उस इंसान से काफी कड़ी मेहनत करवाने के बाद सिर्फ नाम मात्र का फल देता हैं।

जिन लोगो की कुंडली में शनि खराब राशि में बैठा हो, कुंडली में शनि की साढ़े साती या ढैय्या चल रही हो तो ऐसे व्यक्तियों को काफी सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं। शनिवार का दिन शनि का दिन हैं।

हमारे शरीर के अंगो पर भी ग्रहों का प्रभाव पड़ता हैं। स्किन और पैर पर शनि अपना प्रभाव डालता हैं। पैर और त्वचा से जुड़ी चीजों को शनिवार के दिन दान करने से शुभ फल प्राप्त होने लगते हैं। इससे पैरों और स्किन से होने वाली बीमारियों से मुक्ति मिलती हैं।

मनुष्य की त्वचा और पैरों का कारक ग्रह शनी हैं। इसलिए चमड़े के जूते शनिवार के दिन चोरी हो जाते हैं तो यह मान लीजिये की आपकी परेशानी कम होने वाली हैं। शनि अब आपको ज्यादा कष्ट नहीं देंगे। शनिवार के दिन शनी मंदिरों के बाहर जूते-चप्पल छोड़ कर आने से शनि ग्रह शांत होते हैं और आपको शनि देव ज्यादा परेशान नहीं करते हैं।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

जानिए सीता जी के बारे में रोचक तथ्य.
भगवान तिरुपति बालाजी की कथा.
सांप को दूध क्यों पिलाते हैं? जानिए इससे जुड़ा हुआ रहस्य।
भीष्म पितामह इस वजह से असंख्य बाणों की शय्या पर लेटे रहे।
आरती में कपूर क्यों जलाते हैं ?
श्री हनुमान चालीसा.
फरवरी महीने में जन्मे लोग कैसे होते हैं, जानिए इसके बारे में.
पुरी के जगन्नाथ मंदिर के रोचक तथ्य और रहस्य के बारे में जानिए।
प्रसाद क्यों चढ़ाते, बाँटते और खाते हैं?
जानिए जानवरों से जुड़े शुभ-अशुभ, शकुन अपशकुन के बारे में.
विभिन्न मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए इन विभिन्न भगवान को दिपक जलाकर प्रसन्न करे।
जानिए शिवलिंग पर जल या दूध चढ़ाने के पीछे क्या कारण हैं?