डकार कम करने या रोकने के उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय।

डकार कम करने या रोकने के उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय।

पेट के गैस को जब मूंह के जरिये बाहर निकाला जाता हैं तो इसमें से कुछ आवाज़ और गंध आती हैं, जिसे आम बोलचाल की भाषा में डकार कहा जाता हैं। डकार आना किसी बीमारी होने का लक्षण नहीं हैं और यह एक नार्मल प्रोसेस हैं जो भोजन करने के बाद शरीर द्वारा किया जाता हैं। लेकिन कई बार समाज में इसे हीन भावना की तरह देखा जाता हैं। कई देशो में डकार मारने पर व्यक्ति को असभ्य और गंवार माना जाता हैं। खासकरके जापान में डकार मारना शिष्टाचार के खिलाफ हैं।

उसी तरह नार्थ अमेरिकन, फ्रेंच और जर्मन लोगो में भी डकार को लेकर काफी संवेदनशील भावना हैं। यहाँ के लोग डकार आने पर उसे रोकने या दबाने की कोशिश करते हैं, अगर गलती से डकार निकल जाये तो वह मांफी भी मांगते हैं। हालांकि भारत और चीन में कुछ मौको पर डकार मारना अच्छा नहीं माना जाता हैं, लेकिन यह एक नार्मल क्रिया हैं जो की व्यक्ति के वश में नहीं होती हैं। मेरी राय यह हैं अगर डकार आती हैं तो इसे आने देना चाहिए, इसे रोकने का कोई मतलब नहीं हैं। लेकिन अगर आप डकार को रोकना या कम करना चाहते हैं तो आप निम्नलिखित उपाय को अजमा सकते हैं।

डकार रोकने के घरेलु नुस्खे, उपाय और तरीके :-

■ हिंग से रोके डकार

एक गिलास गर्म पानी में चुटकी भर हिंग का पाउडर मिलाये। इस गर्म पानी को भोजन करने से पहले पीना चाहिए। इससे पेट के भारीपन से छुटकारा मिलेगा और इससे आपको डकार भी नहीं आएगी।

■ गर्म पानी में इलायची उबाल कर पीजिये

इस इलायची वाले काढ़े को पीने से पाचन क्रिया सुधरती हैं। इससे गैस को पैदा करने वाले आहार को हजम करने में सहायता मिलती हैं। इस प्रकार से यह डकार को कम करने में भी मददगार हैं। इसके लिए एक कप गर्म पानी में 1 चम्मच इलायची मिलाये। फिर आप इसे 10 मिनट तक उबाले, डकार से छुटकारा पाने के लिए इसे खाना खाने से पहले पीना चाहिए।

■ लौंग के पत्तियों को चबाये

लौंग की ताज़ी पत्तियों को चबाने से डाइजेशन सिस्टम को लाभ मिलता हैं। इससे डकार भी कम करने में मदद मिलती हैं। डकार को कम करने या रोकने के लिए खाना खाने के बाद लौंग की पत्तियों को चबाये, अगर आपके पास लौंग की पत्तियां नहीं हैं तो आप लौंग का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

■ भूना हुआ जीरा खाए

भोजन करने के पश्चात् भूना हुआ जीरा खाने से पेट की गैस और डकार दोनों से ही छुटकारा मिलता हैं।

■ भोजन में दही का इस्तेमाल करे

दही के सेवन से भोजन को पचाने में मदद मिलती हैं। इसमें ऐसे बैक्टीरिया पाए जाते हैं जो पेट और आंतो की प्रोब्लम्स को दूर करते हैं। अगर आपको लेक्टोस हजम नहीं हो पाता हैं तो आप दही की जगह पर छाछ, लस्सी भी पी सकते हैं।

■ अदरक से कम करे डकार

भोजन करने के पहले मूंह में अदरक का छोटा टुकड़ा रख कर चबाये। यह डकार को रोकने का सबसे अच्छा तरीका हैं। अगर आपको अदरक का स्वाद तीखा लग रहा हो तो आप अदरक और शहद की चाय बना कर पी सकते हैं। इसके लिए अदरक को कद्दूकस करले फिर इसे उबलते हुए पानी में डाले और फिर इसमें शहद और निम्बू मिलाये, जिससे इसका स्वाद बदल जायेगा। इसे भी आप खाना खाने से पहले ही पिए।

■ पुदीना के पत्ते

पुदीना डकार के लिए उपयुक्त घरेलु उपाय हैं। एक कप उबलते हुए पानी में पुदीने की पत्तियां डाले और इसे 5 मिनट तक उबाले। सोने से पहले पुदीने वाली इस चाय को पिए।

■ पपीता खाए

जो लोग नियमित रूप से पपीता खाते हैं, उन्हें डकार जैसी समस्याएं नहीं होती हैं। पपीते में papain नाम का एंजाइम पाया जाता हैं जो गैस्ट्रिक प्रोब्लम्स को ख़त्म करता हैं। गैस्ट्रिक की वजह से डकार ज्यादा आती हैं। इसलिए नियमित रूप से पपीते का सेवन करना चाहिए।

■ सोयाबीन का तेल

एक बूँद सोयाबीन के तेल में एक चम्मच शहद मिक्स करे और इसे अच्छी तरह से मिला ले। फिर खाना खाने के बाद इसे खाए, इससे डकार आना तुरंत बंद हो जाता हैं।

■ निम्बू का रस करे कमाल

एक गिलास में निम्बू का रस और बेकिंग सोडा (मीठा सोडा) और पानी मिलाये। इस ड्रिंक को पीने से डकार से तुरंत आराम मिलता हैं। इससे हाजमा भी दुरुस्त बनता हैं। इसे आप नेचुरल Eno भी कह सकते हैं।

■ मेथी के पत्ते

मेथी की पत्तियों को 2 से 3 घंटे के लिए पानी में भिगोए और फिर इस पानी को खाली पेट पीजिये। डकार को दूर करने के लिए यह रामबाण इलाज माना जाता हैं, इससे मूंह की बदबू भी दूर होती हैं।

■ काला जीरा

काले जीरे के सेवन से डकार को नेचुरल तरीके से कम करने में मदद मिलती हैं। काला जीरा पाचन तंत्र के लिए भी फायदेमंद होता हैं। इसे आप सलाद आदि में डाल कर खा सकते हैं।

■ लहसुन की कलि

लहसुन की एक कलि को निगल ले और फिर पानी पीजिये। इसे खाली पेट ही लेना चाहिए, जिससे आपको ज्यादा फायदा होगा। लहसुन के सेवन से पाचन तंत्र मजबूत बनता हैं और डकार से छुटकारा मिलता हैं।

■ केमोमाइल टी पीजिये

केमोमाइल टी को पीने का सबसे बड़ा फायदा यह हैं की इससे पेट दर्द और डकार से आराम मिलता हैं। सोने से पहले एक कप केमोमाइल टी जरूर पीनी चाहिए, इससे आपको डकार कम आने लगती हैं।

■ सौंफ और अजवाइन का सेवन करे

भोजन करने के बाद सौंफ और अजवाइन को चबाने से डकार कम आती हैं। क्योंकि इन बीजो में वात को कम करने वाले गुण पाए जाते हैं, जो आंतो से गैस निकालने में मदद करते हैं।




अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

डायरिया (लूज मोशन) दूर करने के घरेलु नुस्खे और उपाय।
तुरई खाने के फायदे, घरेलु नुस्खे और उपाय जानिए।
स्मार्टफोन में इन्टरनेट की स्पीड बढ़ाने के टिप्स.
च्युइंग गम चबाने के नुकसान के बारे जानिए.
गाजर का जूस पीने के फायदे.
जीरे के उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय.
सीताफल (शरीफा) खाने के फायदे, घरेलु नुस्खे और उपाय.
किस उम्र के बच्चे को कितना दूध पीना चाहिए?
बथुआ खाने के फायदे और इसके घरेलु नुस्खे और उपाय।
पैरो की सूजन को दूर करने के उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय।
गुरूवार के दिन क्या करना चाहिए?
पैरों को साफ, सुन्दर बनाने के उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय।
हरा चना खाने के 8 बेहतरीन फायदे, जरूर पढ़े यह लेख।
जानिए कोल्डड्रिंक यानि सॉफ्ट ड्रिंक में कौन कौन से खतरनाक केमिकल पाए जाते हैं?
गेंहू का आटा खाने के फायदे (गेंहू की रोटी खाने के लाभ) जानिए...
रबिंग एल्कोहोल ( स्प्रिट) के फायदे, घरेलु नुस्खे और उपाय जानिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *