डायबिटीज (मधुमेह) से जुड़े भ्रम और सत्य।

Myths & Facts about Diabetes in Hindi. मधुमेह की बीमारी के भ्रम और सत्य.

मधुमेह को लेकर कुछ भ्रम ऐसे होते हैं, जिन्हें ज्यादातर लोग सच मानते हैं। लेकिन यह भ्रम कौन से हैं और इनकी सच्चाई क्या हैं आज हम इसके बारे में आपसे चर्चा करने जा रहे हैं। डायबिटीज से जुड़े अकसर लोगो को कुछ भ्रम होते हैं। आज हम इन्ही भ्रम को जानेंगे। डायबिटीज से जुड़े भ्रम और सत्य आपके सामने यह हैं। Diabetes se jude Myths & Facts ke bare mein janiye। Myths & Facts about Diabetes in Hindi। डायबिटीज से सम्बंधित मिथ और सच।

मधुमेह से सम्बंधित भ्रम और सत्य :-

1. भ्रम : मोटे लोगो को होता हैं डायबिटीज होने का ख़तरा।

सत्य : डायबिटीज किसी को भी हो सकती हैं, चाहे वो मोटा हो या पतला।

2. भ्रम : मीठा खाने से होता हैं डायबिटीज।

सत्य : मीठे से डायबिटीज होने का कोई संबंध नही हैं। इसके लिए वंशानुगत और कई कारण ज़िम्मेवार होते हैं। हालांकि डायबिटीज के हो जाने के बाद मीठा खाने से शुगर अनियंत्रित हो जाती हैं।

3. भ्रम : डायबिटीज के मरीज़ की उम्र कम हो जाती हैं।

सत्य :- शुगर लेवल सही रखा जाए और हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाया जाए तो डायबिटीज रोगियों की लाइफ भी लंबी हो सकती हैं।

4. भ्रम : अल्कोहल का ब्लड ग्लूकोज़ लेवल से संबंध नही हैं।

सत्य : नियमित रूप से शराब के सेवन से शरीर में यूरिक एसिड और ट्राइग्लिसराइड बढ़ते हैं। साथ ही शुगर भी अनियंत्रित हो जाती हैं।

5. भ्रम : डायबिटीज हो तो कम खाना खाए।

सत्य : कम खाना सही नही हैं। थोड़ा-थोड़ा बार बार खाए। ना ज़्यादा देर भूखे रहे और ना ही एक बार में ढेर सारा खाना खाए।

6. भ्रम : डायबिटीज के लिए स्पेशल खाना होता हैं।

सत्य : डायबिटीज के लिए कोई स्पेशल खाना नही होता हैं। बल्कि संतुलित आहार की ज़रूरत होती हैं। जिसमे 50-60 प्रतिशत कारबोहाइड्रेट, 15-20 प्रतिशत प्रोटीन, 20-25 प्रतिशत फैट और दूसरे तत्व शामिल हैं।

7. भ्रम : शुगर फ्री खाना हैं समस्या का समाधान हैं।

सत्य : शुगर फ्री का मतलब कैलोरी फ्री नही हैं। शुगर फ्री के नाम पर जम कर स्वीट्स खाना नुक़सानदायक हो सकता हैं। इनमे खोया, क्रीम आदि की कैलोरी शामिल होती हैं, जो शुगर को अनियंत्रित कर देती हैं।

8. भ्रम ; डायबिटीज में खास आहार ही हैं काफ़ी।

सत्य : अच्छा आहार वही हैं जिसमे 40-60 % कारबोहाइड्रेट, 20% प्रोटीन और 30% या उससे कम फैट हो। खाने में शाक-सब्ज़ी और फल की अच्छी मात्रा ज़रूरी हैं। खाना नियमित अंतराल पर ले।

9. भ्रम : टाइप 2 डायबिटीज टाइप 1 की तरह ख़तरनाक नही हैं।

सत्य : रोकथाम ना हो तो डायबिटीज के दोनो रूप समस्याओं को जन्म देते हैं। दोनो मामलो में सही दवा के साथ हेल्दी लाइफस्टाइल बेहद ज़रूरी हैं। एक को ख़तरनाक बता कर दूसरे को कम आँका नही जा सकता हैं।

10. भ्रम :- डायबिटीज एक उम्र के बाद होता हैं।

सत्य : अब नवजात और छोटे बच्चों में भी इस समस्या को देखा जा रहा हैं। उम्र बढ़ने के साथ डायबिटीज टाइप 2 की शिकायत बढ़ती हैं।

11. भ्रम :- खिलाड़ी को डायबिटीज नही हो सकती हैं।

सत्य : ऐसे लोगो की मिशाले हैं जो डायबिटीज के बावजूद खेल कूद में एक मकाम हासिल कर चुके हैं। जैसे ओलम्पिक गोल्ड मेडलीस्ट स्विमर गैरी हॉल, क्रिकेट खिलाड़ी वसिम अकरम।

12. भ्रम :-  दवा ले रहे हैं तो कुछ भी खा सकते हैं।

सत्य : डायबिटीज के मरीज़ को खाने में रिफाइंड कारबोहाइड्रेट और सैचुरेटेड फैट से परहेज़ करने की सलाह दी जाती हैं। नियमित एक्सरसाइज, समय पर भोजन और सही दवा ज़रूरी हैं।

13. भ्रम : डायबिटीज मरीज़ महिला को प्रेग्नेंट नही होना चाहिए।

सत्य : गर्भवती होने से परहेज़ की कोई ज़रूरत नही हैं। एक्सपर्ट्स की देख-रेख में बैलेंस्ड लाइफस्टाइल अपनाना ज़रूरी हैं। प्रेगनेंसी से पहले और प्रेगनेंसी के बाद शुगर लेवल को मेनटेन रखे।

14. भ्रम ;- डायबिटीज हैं ब्लड डोनेट नही कर सकते हैं।

सत्य : अमेरिकन रेड क्रॉस के अनुसार डायबिटीज का मरीज़ एक हेल्दी इंसान की तरह रक्तदान कर सकता हैं, बशर्ते कुछ स्टैण्डर्ड को पूरा करता हो।







अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *