नींद में बड़बड़ाना रोकने के लिए उपयोगी उपाय एवं टिप्स।

नींद में बड़बड़ाने की आदत से निजात पाने के तरीके और उपाय

नींद में बोलने को बडबडाना कहा जाता हैं। 3 से 10 साल की उम्र के आधे से ज्यादा बच्चे नींद में बड़बड़ाते ही हैं। साथ ही दुनिया के 5% बड़े लोगो को भी नींद में बड़बड़ाने की आदत होती हैं। जब कोई व्यक्ति या बच्चा नींद में बडबडाता हैं तो उसके द्वारा बोले हुए शब्द असपष्ट और अधूरे ही रहते हैं। जिन्हें समझ पाना काफी ज्यादा मुश्किल होता हैं।

नींद में बड़बड़ाने की समस्या को पैरासोमनिया कहा जाता हैं। इसे बीमारी नहीं कहा जा सकता हैं। यह छोटे बच्चों को ज्यादा होता हैं। नींद में बड़बड़ाने वाला व्यक्ति नींद में कभी-कभी खुद से बातें करने लगता हैं। अगर आप उसको बडबडाते हुए सुनते हैं तो आपको काफी अजीब और लगेगा। एक और तथ्य यह भी हैं की नींद में बड़बड़ाने वाला मनुष्य एक बार में 30 सेकंड से ज्यादा नहीं बड़बड़ाता हैं। वैसे कई लोग कभी-कभी नींद में बडबडाते है, लेकिन कई बच्चे और बड़े ऐसे भी हैं जिन्हें रोजाना नींद में बड़बड़ाने की आदत होती हैं। ऐसे में आज हम नींद में बड़बड़ाना रोकने के लिए और इस आदत से छुटकारा दिलाने वाले कुछ जरूरी उपाय और टिप्स लेकर आये हैं।

नींद में बड़बड़ाने की आदत से बचने के उपाय और तरीके :-

■ रात को डरावनी फिल्म न देखे

रात में भूतिया और डरावनी फिल्मों को देखने से बचना चाहिए। यह आपके दिमाग पर अपना प्रभाव छोड़ देती हैं। जिससे व्यक्ति रात में बड़बड़ाने लगता हैं। अगर आप रात को कोई मूवी देखना ही चाहते हैं तो आप रोमांटिक या कॉमेडी वाली मूवीज ही देखे। इससे रात को अच्छी और सुकून भरी नींद आएगी।

■ दवाओं का सेवन बंद करे

कई बार आप ऐसी दवाइयां भी खा रहे होते हैं, जो नींद में बड़बड़ाने की समस्या पैदा करती हैं। यानी की इन दवाइयों के सेवन से नींद में बड़बड़ाने की आदत हो जाती हैं। ऐसे में आप अपने डॉक्टर से इन दवाइयों के बारे में ज़िक्र करे और कुछ दिनों तक इन दवाओं का सेवन करना बंद कर दे। अगर आपको कुछ फर्क दिखाई देने लगता है तो इसके बारे में अपने डॉक्टर से कंसल्ट जरूर करे।

■ गर्म खाने और शराब का सेवन न करे

कई लोगो को रात के समय शराब पीने का शौक होता हैं। ऐसे लोग शराब पीकर सो जाते हैं और रात के समय नींद में बड़बड़ाने लगते हैं। अगर आपके साथ भी ऐसा हैं तो आप शराब पीना बंद कर दे। अगर शराब पीने की आदत को छोड़ना मुश्किल लग रहा हैं तो धीरे-धीरे करके शराब पीना कम कर दे। साथ ही रात के समय गरिष्ठ भोजन भी न खाए।

जरूर पढ़े :- शराब को छोड़ने के तरीके और उपाय जानिए।

■ म्यूजिक का सहारा ले

रात को सोने से पहले अपनी मनपसंद संगीत को जरूर सुने। क्योंकि म्यूजिक एक ऐसी थेरेपी हैं जो मन को शांत और खुशियों से भर देता हैं। रात को मधुर संगीत को सुनने से आपको अच्छी नींद आती हैं और बड़बड़ाने की समस्या से निजात मिलता हैं।

■ सही समय पर सोये

अगर आप सही समय पर सोते हैं तो आपको बड़बड़ाने की समस्या नहीं होगी। इसलिए रात को एक ही समय पर सोये, कहने का मतलब हैं की आप रोजाना एक टाइम फिक्स करले। और उसी टाइम पर ही सोये। रात में सही समय पर सोने और सुबह सही समय पर उठने से अनिद्रा और बड़बड़ाने जैसी समस्याओं से बचने में मदद मिलती हैं। इससे आपकी नींद भी पूरी हो जाती हैं। रात में बड़बड़ाने की प्रॉब्लम नींद की कमी की वजह से भी होती हैं।

■ अपनी फीलिंग दूसरों के साथ शेयर करे

ऐसा अमूमन देखा जाता है की जो लोग काफी ज्यादा टेंशन में रहते हैं या मानसिक रूप से दुखी रहते हैं। उन्हें नींद में बड़बड़ाने की आदत ज्यादा होती हैं। अगर आपके साथ या आपके फैमिली के किसी मेम्बर के साथ ऐसा हो रहा हैं तो बेहतर यही होगा की आप अपनी परेशानियां अपने करीबियों के साथ जरूर शेयर करे। क्योंकि इससे आपके दिमाग को काफी ज्यादा शान्ति महसूस होगी और आप आराम से सो पायेंगे।

■ कसरत करना

कभी-कभी ब्लड सर्कुलेशन सही ढंग से न होने की वजह से भी नींद में बड़बड़ाने की समस्या होने लगती हैं। ऐसे में आपको शाम के समय सैर करनी चाहिए या फिर आप योग भी कर सकते हैं। इससे बॉडी का ब्लड सर्कुलेशन बेहतर तरीके से हो पायेगा, जिससे नींद में बड़बड़ाने की समस्या से छुटकारा मिलेगा।

■ टेंशन से बचे

अगर आप बहुत ज्यादा टेंशन लेते हैं तो यह प्रॉब्लम आपको परेशान कर सकती हैं। इसलिए अपने दिमाग को रिलैक्स करे। अगर ऑफिस के कामों की वजह से आप ज्यादा तनाव महसूस कर रहे हैं तो अच्छा यही होगा की कुछ दिनों तक छुट्टी ले। साथ ही कंही बाहर घूमने के लिए भी जाये। इससे आप खुद को फ्रेश महसूस करेंगे और नींद में बड़बड़ाना कम होने लगेगा।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

तुलसी क्यों हैं चमत्कारी पौधा?
दिल को बिमारियों से बचाए रखने के लिए याद रखे यह 8 जरूरी बातें।
खून की कमी यानि एनीमिया को दूर करने के लिए घरेलु नुस्खे और उपाय।
मुनक्का खाने के फायदे.
फाइबर सबसे ज्यादा खाने वाली कौन सी चीजों में पाया जाता हैं?
शरीर में पोटैशियम की कमी होने के लक्षण क्या हैं और इसे कैसे पूरा करे?
रात को देर से भोजन करने पर सेहत को होते हैं यह नुकसान।
दिमाग को बनाना चाहते हैं कंप्यूटर से भी तेज़ तो इन जड़ी-बूटियों का सेवन करे।
जामुन के बीज का पाउडर कैसे बनाए?
स्ट्रीट फूड खाने के शौक़ीन हैं तो इन बातों का रखे ध्यान।
कैनोला ऑयल के फायदे जानते हैं आप!
पॉपकॉर्न खाने के फायदे जानते हैं आप?