नीम के तेल के फायदे और इसके घरेलु नुस्खे और उपाय जानिए।

नीम के तेल के फायदे और घरेलु नुस्खे और उपाय जानिए। Benefits of Neem oil In Hindi.

नीम मनुष्य के लिए प्रकृति का दिया हुआ वरदान हैं। इसके पत्ते, बीज, छाल, जड़ सभी रोगों को दूर करने में मदद करते हैं। नीम की दातुन भी दांतों और सेहत के लिए फायदेमंद होती हैं। तो भला नीम का तेल कैसे पीछे रह सकता हैं। जी हाँ नीम के बीजों से नीम का तेल निकाला जाता हैं।

नीम के तेल में ढेर सारे औषधीय गुण पाए जाते हैं। यह तेल सेहत और सौन्दर्य दोनों के लिए फायदेमंद होता हैं। आयुर्वेद में नीम को सर्व रोग निवारणी यानि सभी रोगों को हरने वाला माना गया हैं। आज के लेख में हम नीम के तेल के फायदे, इसके घरेलु नुस्खे और उपाय, इसे कैसे इस्तेमाल करे, Health Benefits & Home Remedies of Neem oil in Hindi. Neem ke tel (Oil) ke fayde आदि इन सभी के बारे में जानेंगे।

नीम का तेल कई बीमारियों के इलाज में इस्तेमाल किया जाता हैं। नीम का तेल हलके भूरे रंग का और स्वाद में तीखा होता हैं। यह तेल बहुत ही सुगंध वाला होता हैं। हालाँकि आप नीम के तेल में भोजन तो नहीं पका सकते हैं, लेकिन इसे घरेलु नुस्खे, बालों और शरीर पर ऊपर से प्रयोग करने से आप कई सारी बीमारियों को दूर कर सकते हैं।

नीम के तेल के फायदे :-

डैंड्रफ दूर करे

बालों को हेल्दी, चमकदार और मॉइस्चराइज बनाने के लिए नीम का तेल बहुत ही फायदेमंद होता हैं। नीम के तेल को नियमित सिर में लगाने से सिर की dryness दूर होती हैं और बालों से dandruff (रूसी) की समस्या से भी छुटकारा मिलता हैं।

यह भी पढ़े :- यह 6 चीज़े खाने से रूसी होती हैं दूर।

स्किन इन्फेक्शन दूर करे

एथलीट फूट, नाखून कवक जैसे त्वचा के रोग फंगल इन्फेक्शन की वजह से होते हैं। नीम में 2 कंपाउंड पाए जाते हैं गेदुनिन और निबोडोल जो स्किन में से फफूंद को ख़त्म करके स्किन इन्फेक्शन को दूर करते हैं। इसलिए स्किन इन्फेक्शन से बचने के लिए नीम के तेल का इस्तेमाल जरूर करे।

स्किन के लिए फायदेमंद

ड्राई स्किन से छुटकारा दिलाने में नीम का तेल आपकी मदद करता हैं। इस बेहतरीन तेल को एंटीसेप्टिक गुणों से भरपूर माना जाता हैं जो एक्जिमा में होने वाली खुजली और सूजन को कम करने में कारगर हैं। इसके लिए संक्रमित त्वचा पर नीम का तेल लगाना चाहिए। अगर जलने के कारण शरीर में जख्म बन गये हैं तो नीम का तेल लगाने से जख्म जल्दी भर जाते हैं। यह रूखी और डैमेज स्किन को ठीक करने में भी मदद करता हैं।

चेहरे पर बढ़ती उम्र का असर रोके

आज कल लोग खराब लाइफस्टाइल की वजह से उम्र से पहले ही बूढ़े दिखाई देने लगते हैं। नीम के तेल का इस्तेमाल करने से आप चेहरे पर बढ़ती उम्र का असर कम कर सकते हैं। नीम में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो ऑक्सीकरण रोधक होते हैं जो चेहरे में आने वाले परिवर्तनों को रोकते हैं। नीम का तेल चेहरे पर लगाने से चेहरे की झुर्रियां कम होने लगती हैं और आप की स्किन पर बढ़ती उम्र का प्रभाव कम हो जाता हैं। आप स्किन पर नहाने से 10 मिनट पहले नीम के तेल से मालिश करे और बाद में इसे गर्म पानी से धो ले। आप इस तेल का इस्तेमाल रात को सोने से पहले भी कर सकते हैं, इसे लगा कर सो जाये ताकि पूरी रात इस तेल का असर आपकी स्किन पर पड़े। नीम के तेल को नियमित स्किन और चेहरे पर लगाने से आप हमेशा खुबसूरत और जवां दिखाई देते हैं

मोतियाबिंद दूर करे

आँखों में मोतियाबिंद और रतोंधी होने पर नीम के तेल को सलाई की सहायता से आँखों में अंजन की तरह लगाये। इससे आपको काफी लाभ होगा। आँखों में सूजन होने पर नीम के पत्तों को पीस कर अगर दायीं आँख में हैं तो बाए पैर के अंगूठे पर नीम की पत्ती को पीस कर लगाये। इसी तरह अगर बायीं आँख में हो तो दायें अंगूठे पर लेप करे, इससे आँखों की सूजन और लाली दूर होती हैं।

दांतों और मसूड़ो के लिए फायदेमंद

दांतों और मसूड़ो की समस्या को दूर करने के लिए नीम का तेल बहुत ही उपयोगी हैं। दांतों और मसूड़ो को मजबूत बनाने के लिए नीम के तेल की कुछ बूंदे मंजन में मिला कर दांतों में मले। क्योंकि नीम के तेल में एंटीबैक्टीरियल तत्व पाए जाते हैं जो दांतों की समस्याओं जैसे दांतों में सड़न, दांत दर्द, दांतों का कैंसर, मसूड़ो की सूजन आदि को दूर करते हैं।

कील मुहांसे दूर करे

चेहरे पर एक्ने या मुहांसे बैक्टीरिया के कारण होते हैं। नीम के तेल को एंटीबैक्टीरियल माना जाता हैं जो स्किन से बैक्टीरिया को ख़त्म करता हैं, जिससे मुहांसों का निकलना कम हो जाता हैं। पिंपल्स होने का पहला लक्षण चेहरे पर लालपन होना हैं। नीम के तेल में फैटी एसिड भी पाए जाते हैं जो चेहरे से दाग-धब्बे, लाल निशान और घाव के निशान को दूर करते हैं।

यह भी पढ़े :- मुहांसे दूर करने के 14 नेचुरल तरीके।

रक्तप्रदर में फायदेमंद

आधा चम्मच नीम के तेल को दूध में मिला कर सुबह-शाम पीने से रक्तप्रदर और कई तरह की प्रदर आने बंद हो जाते हैं।

सिर की जुएँ और लीखें मारे

जुएं और लीखें ऐसे छोटे कीड़े होते हैं जो आपके सिर में गंदगी की वजह से पैदा हो जाते हैं और आपका खून पीते हैं। सिर में जुएँ होने पर सिर में खुजली होने लगती हैं और आपको जानकार हैरानी होगी की जुएं और लीखें आपका खून चूसकर आपको एनीमिया (खून की कमी) की बीमारी भी दे सकते हैं। इनके काटने से सिर में ज़ख्म और घाव भी हो जाता हैं, जिससे आपको दर्द भी महसूस होता हैं। तो ऐसे में सिर को जुओं से बचाने के लिए नीम का तेल अच्छा उपाय साबित हो सकता हैं। नीम के तेल को बालों की जड़ों में लगाने से सिर की जुएं मर जाती हैं। इस तेल से कोई भी एलर्जिक रिएक्शन नहीं होता हैं तो इसलिए हर प्रकार की स्किन वाले लोग इसे अपने सिर में बिना किसी हिचक के लगा सकते हैं। इससे सिर की जुएं और लिखों को मारने का बेहतरीन तरीका माना गया हैं।

पालतू जानवरों के कीड़े हटाये

कई बार पालतू बिल्ली और कुत्तों के बालों में जुएं या छोटे-छोटे कीड़े लग जाते हैं। जिनसे आपके पालतू जानवरों को बहुत ही परेशानी का सामना करना पड़ता हैं। पालतू जानवरों के कीड़े हटाने के लिए नीम के तेल का प्रयोग करे। इसलिए लिए आधा औंस नीम का तेल, एक चौथाई औंस माइल्ड सोप को 2 कप पानी में मिलाये और इस मिश्रण को पालतू जानवरों के ऊपर छिड़के। इससे जानवरों के बालों में मौजूद कीड़े मर जायेंगे और उन्हें कोई हानि भी नहीं होगी।

एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर

नीम के तेल का इस्तेमाल कई तरह की दवाईओं को बनाने के लिए भी किया जाता हैं। चोट और खरोच को ठीक करने के लिए भी इस तेल का इस्तेमाल किया जाता हैं। क्योंकि यह तेल एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर माना जाता हैं जो इन्फेक्शन का उपचार करता हैं। और तो और कई ब्यूटी सोप में भी नीम के तेल का इस्तेमाल किया जाता हैं। नीम के तेल से बने साबुन आपको बाज़ार में आसानी से मिल जायेंगे, जिनका इस्तेमाल करके आप अपनी स्किन को जवां और सुन्दर बना सकते हैं।

कीटनाशक के रूप में

नीम का तेल किसानो के लिए जैविक कीटनाशक का भी काम करता हैं। इसके इस्तेमाल से पर्यावरण को कोई नुकसान भी नहीं पहुचता हैं। ज्यादातर इस्तेमाल किये जाने वाले कीटनाशक बहुत ज्यादा हानिकारक माने जाते हैं। अगर आप अपने पौधों को केमिकल वाले कीटनाशक से बचाना चाहते हैं तो आप नीम के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह जमीन या पानी की सप्लाई में कोई हानिकारक पदार्थ नहीं मिलाता हैं, यह एक बायोडीग्रेडेबल हैं। यह केंचुओं और मधुमक्खियों जैसे उपयोगी कीटों को भी नुकसान नहीं पहुचाता हैं। पांच लीटर नीम के तेल में, एक से 2 मिलीलीटर डिटर्जेंट और 1 लिटर गर्म पानी को अच्छे से मिलाये और पेस्ट बनाये। अब आप इस जैविक कीटनाशक को अपने पौधों पर डाले।

मलेरिया से बचाए

नीम के तेल से मलेरिया के मच्छरों को भगाया जा सकता हैं। इससे मलेरिया के मच्छरों को पैदा होने और उनके लार्वा को खत्म करने में मदद मिलती हैं। नीम के तेल के इस्तेमाल से मलेरिया पर काबू पाया जा सकता हैं। मच्छरों को मारने के लिए नीम का तेल बहुत ही कारगर होता हैं।

मच्छरों को दूर भगाए

जैसा की ऊपर बताया ही गया हैं की मच्छरों को दूर भगाने के लिए आप केमिकल्स की जगह नीम के तेल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। आधे कप नारियल के तेल में 10 बूंदे नीम के तेल को मिलाये और घर से बाहर जाने से पहले इस मिश्रण को अपने शरीर पर लगाये। इससे मच्छर आपके पास नहीं आयेंगे और मच्छरों के काटने से बचने के लिए यह बहुत ही कारगर घरेलु उपाय हैं।

दो मूंहे बालों का उपचार

कई तरह के chemicals वाले प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने से बाल दो मूंहे हो जाते हैं। नीम का तेल बालों की जड़ो में लगाने से दो मुहे बालों की समस्या को दूर किया जा सकता हैं। इससे बालों को मॉइस्चराइजिंग मिलती हैं और बालो हेल्दी बनते हैं। बालो का रूखापन दूर होता हैं और यह डैमेज बालो को रिपेयर करने का भी काम करता हैं। नीम के तेल को बालों में लगाने से बाल मुलायम और चमकदार बनते हैं। अगर आप गंजेपन की समस्या से परेशान हैं तो अपने सिर में नीम का तेल जरूर लगाये।

नीम के तेल का बालों में कैसे करे इस्तेमाल?

नीम के तेल को बालों में सही तरह से लगाने का तरीका यह हैं की सबसे पहले नीम के तेल को हल्का सा गर्म करे। इसके बाद स्कैल्प की मालिश करे। इससे बालो में कम से कम 1 घंटे तक या फिर पूरी रात तक बालों में लगा कर छोड़ दे। इसके बाद बालों को किसी अच्छे शैम्पू से धो ल। हफ्ते में कम से कम 1 दिन यह उपाय करने से आपको बालों की समस्याओं से छुटकारा मिलता हैं।







अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *