नॉन-स्टिक बर्तन में भोजन पकाने के नुकसान जानिए।

नॉन-स्टिक बर्तन में भोजन पकाने के नुकसान जानिए।

अगर आप भी नॉन-स्टिक बर्तन में भोजन पकाते हैं तो आपको यह लेख जरूर पढ़ना चाहिए। अगर आप नॉन-स्टिक बर्तन की खूबसूरती को देख कर इन्हें किचेन में इस्तेमाल कर रही हैं तो सावधान हो जाईये। आज बाज़ार में नॉन-स्टिक बर्तन खूब बेचे और खरीदे जा रहे हैं, लेकिन नॉन-स्टिक बर्तन से एक तरफ आपको फायदे होते हैं तो इससे सेहत को कुछ नुकसान का भी सामना करना पड़ता हैं।

जैसे की नॉन-स्टिक बर्तन में खाना बनाने के फायदे की बात करे तो इनमे भोजन को पकाने के लिए तेल का इस्तेमाल कम लगता हैं। भोजन जलता नहीं हैं। लेकिन ऐसे बर्तन सेहत पर बुरा असर डाल सकते हैं। क्योंकि इन बर्तनों पर इस्तेमाल की गयी धातु की परत आपको स्वास्थ्य समस्याएं दे सकती हैं।

नॉनस्टिक बर्तन के नुकसान :-

1) हड्डियाँ कमजोर बनाये

नॉन-स्टिक बर्तन में खाना पका कर खाने से शरीर में आयरन की कमी हो जाती है, इससे शरीर की हड्डियाँ भी कमजोर होने लगती हैं।

2) लीवर के लिए नुकसानदायक

नॉन-स्टिक बर्तन में खाना पकाने से टॉक्सिक फ्युम्स निकलती हैं, जो पेट को खराब कर सकती हैं, इससे लीवर को भी नुकसान होता हैं।

3) कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ाये

पीएफओ की मात्रा बढ़ने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल का लेवल भी बढ़ जाता हैं। ऐसे में सलाह यह दी जाती हैं की आपको लोहे की कढ़ाही और तवे और स्टील के बर्तनों में ही खाना पकाना चाहिए।

4) थायराइड की समस्या होना

पीएफओए (पेरु्लूरोटोननिक एसिड), एक तरह का कंपाउंड होता हैं जो बॉडी में दाखिल हो कर थायरोइड की समस्या पैदा कर सकता हैं। नॉन-स्टिक बर्तनों में खाना पकाने से यह घटक आसानी के साथ शरीर के भीतर जा सकता हैं।

5) किडनी के लिए हानिकारक

नॉन-स्टिक बर्तनों का इस्तेमाल करने से इनडायरेक्ट रूप से किडनी पर बुरा असर पड़ता हैं। इससे आपकी किडनी खराब भी हो सकती हैं।

6)  दिमाग के लिए हानिकारक

नॉनस्टिक बर्तन में भोजन पका कर खाने से शरीर में ऐसे तत्व चले जाते हैं, जिनसे दिमाग से जुड़ी हुई बीमारियाँ  होने का जोखिम काफी ज्यादा बढ़ जाता हैं।

7) प्रजनन क्षमता कमजोर बनाये

नॉन-स्टिक बर्तन में खाना पकाने से पीएफओए बढ़ जाता हैं, जिससे प्रजनन क्षमता कमजोर होने लगती हैं या फिर गर्भ में पल रहे बच्चे में विकार आ सकते हैं।

8) कैंसर होने का खतरा

नॉन-स्टिक बर्तन में ज्यादा पका हुआ भोजन ऐसे तत्व छोड़ने लगता हैं जिसकी मात्रा शरीर में अधिक होने पर कैंसर होने ख़तरा काफी ज्यादा बढ़ सकता हैं। यानी नॉन-स्टिक बर्तन में खाना पका कर खाने से कैंसर भी हो सकता हैं।

9) इम्यून सिस्टम कमजोर करे

नॉनस्टिक बर्तनों में भोजन पकाने का नुकसान यह भी की इसमें बनाया गया भोजन खाने से बॉडी का इम्यून सिस्टम कमजोर होने लगता हैं। इससे आपको बीमारियाँ होने का ख़तरा काफी ज्यादा बढ़ जाता हैं।

10) दिल का दौरा भी आ सकता हैं

रिसर्च बताते हैं की लोहे के मुकाबले nonstick बर्तन में खाना पका कर खाने से दिल को काफी ज्यादा नुकसान हो सकता हैं। इससे शरीर में ट्राईग्लेासिराइड लेवल हाई हो सकता हैं, जिससे आपको हार्ट अटैक आने का ख़तरा काफी ज्यादा बढ़ जाता हैं।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

शकरकंद खाने के फायदे जानकर आपको हैरानी होगी.
हरी पत्तेदार सब्जियां खाने के 10 फायदे.
किडनी स्टोन से बचने के उपाय और तरीके।
क्या नूडल्स खाना चाहिए या नहीं? नूडल्स सेहत के लिए अच्छा हैं या बुरा?
खिचड़ी खाने के फायदे जरूर पढ़े यह लेख।
हमेशा स्वस्थ्य बने रहने के लिए जरूर अपनाये यह 10 जरूरी टिप्स।
अखबार में खाना लपेटकर रखते या खाते हैं, तो हो जाये सावधान।
सूरजमुखी के बीज खाने से सेहत को होते हैं यह कमाल के फायदे।
मिट्टी के बर्तन में भोजन पकाने के फायदे जानिए।
हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करते हैं यह मसाले।
तिल और शहद को एक साथ मिला कर खाने से सेहत को होते है यह गजब के फायदे।
जानिए विदेशी लोग वजन घटाने के कौन से तरीके अपनाते हैं।