पसीना आने से सेहत को क्या फायदे होते हैं?

पसीना आने से सेहत को क्या फायदे होते हैं?

पसीना आना स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी हैं। ज्यादा काम करने के दौरान आपका शरीर गर्म हो जाता हैं, तो दिमाग उसे ठंडा और सहज बनाने की कोशिश करता हैं। दिमाग का Hypothalamus शरीर के तापमान को एक जैसे बनाए रखने में मदद करता हैं। यह शरीर के तापमान को बनाये रखने के लिए दिमाग को पसीना छोड़ने का संकेत देता हैं। इसलिए पसीना आना सेहत के लिए अच्छा होता हैं।

पसीने में पानी और अमोनिया जैसे केमिकल होते हैं। पसीना त्वचा से वास्पित होकर आपको ठंडा बनाये रखने में मदद करता हैं। पसीना आने का नुकसान यही हैं की इससे शरीर से पानी बाहर निकल जाता हैं और शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के लिए आपको काफी सारा पानी पीना पड़ता हैं।

स्वेटिंग एक अच्छे कुलिंग सिस्टम के भांति काम करता हैं और यह शरीर के लिए लाभकारी होता हैं। आइये जानते हैं पसीना आने से सेहत को होने वाले फायदे के बारे में। पसीना आना क्यों हैं जरूरी?

पसीना आने से सेहत को होने वाले फायदे :-

त्वचा के रोम छिद्रों को साफ करे

पसीना आने का सबसे ज्यादा फायदा त्वचा के रोम छिद्रों (स्किन पोर्स) को होता हैं। क्योंकि इससे रोम छिद्र साफ़ हो जाते हैं। इससे आपके रोम छिद्र खुल जाते हैं और इनमे पाए जाने वाले बैक्टीरिया नष्ट हो जाते हैं। अगर आपके शरीर से पसीना नहीं निकलेगा तो आपके स्किन पोर्स से बैक्टीरिया ख़त्म नहीं होंगे। इससे आपको pimples आदि की समस्या हो जाएगी। पसीना निकलने के बाद चेहरे को धोने में सावधानी बरतनी चाहिए, क्योंकि पसीने की धुल मिट्टी आपके चेहरे पर रह जाती हैं।

मूड ठीक करे

वर्कआउट करने के बाद पसीना आना स्वाभाविक हैं। इससे आपका मूड सही हो जाता हैं। यही पसीना आने का सबसे बड़ा लाभ हैं। इससे आप अच्छा सोचने लगते हैं और अच्छे प्रकार से निर्णय लेते हैं।

शरीर से ज़हरीले तत्वों को बाहर निकाले

पसीना आना का लाभ यह भी हैं इससे आपके शरीर के विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं। अल्कोहल, कब्ज़ और नमक को शरीर से बाहर निकालने में यह मदद करता हैं। नियमित रूप से पसीना निकालना आपके सेहत के लिए बहुत ही ज्यादा लाभकारी होता हैं। यह शरीर को बिमारियों से मुक्त रखता हैं।

किडनी में पथरी बनने से रोके

स्वेटिंग के जरिये किडनी में पथरी बनने की सम्भावना काफी कम हो जाती हैं। किडनी में स्टोन खासकरके किडनी में नमक और कैल्शियम के जमा होने के कारण ही होती हैं। लेकिन पसीने के जरिये नमक शरीर से बाहर निकल जाता हैं और कैल्शियम को हड्डियाँ सोख लेती हैं। पसीना निकलने के बाद आप पानी ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पिए, यह दोनों चीज़े गुर्दे में पत्थरी बनने से रोकती हैं।

सर्दी-जुकाम सही करे

अगर आप हमेशा बीमार रहते हैं तो पसीना निकलना आपके लिए सही रहेगा। स्वेटिंग शरीर को इन्फेक्शन से लड़ने में सहायता करता हैं। रिसर्च में यह पाया गया की पसीने में एंटी-माइक्रोबियल पेप्टाइड होता हैं जो टी.बी. और दुसरे बीमारी पैदा करने वाले बैक्टीरिया से लड़ता हैं। स्वेटिंग एक अदृश्य सैनिक की भाँती बैक्टीरिया का सफाया करता हैं।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...