पेप्टिक अल्सर होने पर क्या खाए और क्या न खाए?

पेप्टिक अल्सर होने पर क्या खाए और क्या न खाए?

पेप्टिक अल्सर यानि पेट का अल्सर होने पर रोगी को बहुत ज्यादा दर्द होता हैं। पेट के अल्सर से बचने के लिए आपको अपने खानपान पर विशेष ध्यान देना होगा। आज हम पेप्टिक अल्सर के मरीजों के लिए खाने से सम्बन्धित कुछ टिप्स बताने जा रहे हैं। पेट में अल्सर होने पर आपको क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए? आइये इसके बारे में जानते हैं।

पेट का अल्सर होने पर यह चीज़े जरूर खानी चाहिए :-

दही खाए

दही में प्रोबायोटिक प्रॉपर्टीज होती हैं जो अल्सर को पैदा करने वाले बैक्टीरिया को ख़त्म करता हैं। दही खाने का एक फायदा यह भी हैं की रोगी अगर पेट के अल्सर के इलाज के लिए एंटीबायोटिक्स को ले रहा हैं, तो दही एंटीबायोटिक्स के होने वाले साइड-इफ़ेक्ट से आपकी रक्षा करता हैं।

लहसुन

लहसुन में एंटीऑक्सीडेंट ज्यादा मात्रा में होते हैं जो आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत बना कर पेप्टिक अल्सर से आराम दिलाता है। लहसुन को आप सब्जियों के साथ पका कर खा सकते सकते हैं।

करोंदे का जूस

पेट के अल्सर के मरीजों को करोंदे यानि की क्रैनबेरीज का जूस जरूर पीना चाहिए। आप चाहे तो करोंदे के फलों को भी खा सकते हैं। यह पेट में अल्सर की ग्रोथ को रोकने का काम करता हैं।

सेब

सेब में फाइबर और फ्लेवोनोइड्स ज्यादा मात्रा में होते हैं जो अल्सर पैदा करने वाले बैक्टीरिया की ग्रोथ को कम कर देते हैं। इसलिए पेट के अल्सर के मरीजों को सेब जरूर खाना चाहिए।

ग्रीन टी पीजिये

इसमें एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इन्फ्लेमेंट्री तत्व पाए जाते हैं जो पेट के अल्सर पैदा करने वाले बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकते हैं। इसलिए आपको रोजाना 2 गिलास ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए।

शहद

शहद में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो आपको गैस्ट्रिक अल्सर से आराम दिलाता हैं। लेकिन अगर आपको डायबिटीज हैं तो आपको डॉक्टर की सलाह के बाद ही शहद को खाना चाहिए।

पेप्टिक अल्सर होने पर इन चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए :-

खट्टे फल नहीं खाने चाहिए

खट्टे फलों का सेवन करने से पेट में एसिडिटी पैदा हो सकती हैं, जिससे पेट के अल्सर में जलन बढ़ सकती हैं। पेप्टिक अल्सर के मरीजों को खट्टे फल जैसे की अंगूर, संतरा, निम्बू, मोसंबी आदि का सेवन बिलकुल भी नहीं करना चाहिए।

मसालेदार भोजन नहीं खाना चाहिए

पेट के अल्सर के मरीजों को कभी भी मसालेदार खाना नहीं खाना चाहिए। इससे पेट में जलन की शिकायत हो सकती है और इससे अल्सर की समस्या और भी ज्यादा बढ़ सकती हैं।

बकरे का मीट न खाए

बकरे के मांस में वसा और प्रोटीन ज्यादा मात्रा में रहता हैं, जो पचने में ज्यादा देर लगाता हैं। बकरे के मीट को पचाने की प्रक्रिया में ज्यादा एसिड का निर्माण होता हैं, जिससे पेट में जलन हो सकती हैं।

यह चीज़े भी न खाए :-

गैस्ट्रिक अल्सर में मिर्च, शराब, काली मिर्च, चॉकलेट, जायफल, सरसों के दाने, ब्लैक टी, टमाटर आदि का सेवन करने से भी बचना चाहिए।

नोट :- आपको पेप्टिक अल्सर का उपचार जल्द से जल्द करवा लेना चाहिए। अगर पेट के अल्सर का इलाज समय से पहले न किया जाये तो यह पेट का कैंसर होने का कारण बन जाता हैं।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...