यह बातें बताती हैं, की आपको हो गया हैं सच्चा प्यार।

सच्चा प्यार होने के लक्षण और संकेत

हर इंसान को जिंदगी में कभी न कभी किसी न किसी से प्यार हो ही जाता हैं। शायद दुनिया का कोई ऐसा पत्थर दिल इंसान होगा, जिसे कभी प्यार न हुआ हो। लेकिन आज के भौतिकवादी जमाने में सब कुछ मिलावटी हैं। ऐसे में यह कैसे पता चलेगा की आपको सच्चा प्यार हो गया हैं। मतलब की प्यार एक ऐसा अनुभव हैं, जिसे शब्दों में ब्यान नहीं किया जा सकता हैं।

आज का युग इन्टरनेट का युग हैं और आज प्यार का इजहार करना पहले के मुकाबले काफी ज्यादा आसान हो गया हैं। लेकिन फिर भी लोगो को सच्चा प्यार हो जाये यह मुमकिन नहीं हैं। दरअसल ज्यादातर लोगो को सच्चा प्यार होता ही नहीं हैं, मतलब की वे सिर्फ अट्रैक्शन को प्यार समझने लगते हैं। जी हाँ, आकर्षण को प्यार समझना मनुष्य की सबसे बड़ी भूल हैं।

आज लड़की हो या लड़का दोनों ही एक दुसरे के प्रति आकर्षित हो जाते हैं और वे इसे प्यार का नाम दे देते हैं। यहाँ तक की इसी अट्रैक्शन के चलते वह लव मैरिज भी कर लेते हैं। लेकिन क्या आपको पता हैं की एक तथ्य यह भी की 90% लव मैरिज टूट जाती हैं। आखिर जब लव मैरिज की थी, यानी की आप एक दुसरे को अच्छी तरह से जानते थे, तो शादी के बाद रिश्ता टूटा क्यों? दोस्तों लव मैरिज टूटने की वजह यह हैं की दोनों के बीच कभी प्यार था ही नहीं, लड़की और लड़का दोनों ही एक दुसरे के प्रति सिर्फ आकर्षित हुए थे। और सच्चाई यह हैं की आकर्षण एक दिन खत्म हो ही जाता हैं। ऐसे में 90% प्रेम विवाह टूट ही जाते हैं, क्योंकि हकीकत में उन जोड़ो के अंदर कभी प्रेम था ही नहीं।

दोस्तों आकर्षण और प्यार के बीच में अंतर बहुत थोड़ा होता हैं। माना की आकर्षण से ही प्यार की शुरुवात होती हैं। लेकिन जब तक आकर्षण प्यार में पूरी तरह परिवर्तित नहीं हो जाता हैं, तब तक आपका प्यार झूठा ही रहेगा। आइये जानते हैं कुछ बातें जिनसे पता चलता हैं की आपको सचमुच में प्यार हो गया हैं।

प्यार होने के यह होते हैं संकेत :-

■ भीड़ में भी खुद को अकेला महसूस करना

क्या आपको ऐसा लगता हैं की आप पार्टी या किसी फंक्शन में गये हैं। जहा पर चाहे कितने भी लोग क्यों न, लेकिन फिर भी आपकी निगाहें उन्हें ही ढूंढती हैं। आप खुद को उनके बिना अधुरा और अकेला महसूस करते हैं? तो जनाब आप प्यार की क्लास में दाखिल हो चुके हैं। अगर आपको सच्चा प्यार हो जाये तो आपको कंही भी उसके बिना जाना अच्छा नहीं लगता हैं। अकेले होने पर हमेशा उसे अपने साथ होने की तमन्ना करते रहते हैं।

■ उनको कभी दुखी न देखना

क्या आप अपने साथी को दुखी देख कर खुद भी दुखी हो जाते हैं? मतलब की आप अपने पार्टनर को कभी भी दुखी नहीं देखना चाहते हैं। यहाँ तक की अगर वे उदास हो जाये तो आपको भी अच्छा नहीं लगता हो। आप यह चाहते हैं की किसी भी तरह से अपने साथी का दुःख दूर किया जाये। मतलब की सच्चा प्यार होने के लक्षण यह हैं की आप जिससे प्यार करते हैं, उसे हमेशा खुश ही देखना चाहते हैं। यहाँ तक की आप यह सोचते हैं की उन्हें कैसे हमेशा खुश रखा जाये और उनकी खुशियों के लिए क्या करना चाहिए।

■ गानों और फिल्मों में उनको देखना

क्या अब आपको अब लव सोंग अच्छे लगने लगे हैं? क्या आपको प्रेम गीतों को सुनकर उनकी याद आने लगती हैं। आप यह सोचने लगते हैं की इस गाने के प्रत्येक शब्द मानों की उनके लिए ही लिखे गये हो। क्या आपको सड़क पर अकेले घुमते हुए उनकी याद आने लगती हैं और उनका चेहरा आपकी आँखों के सामने घूमने लगता हैं। आपके आस-पास देखने के लिए कई सारी चीज़े हैं, लेकिन आपके ख्यालों में सिर्फ वह ही है? अगर यह सभी बातें आपके साथ होने लगी हैं तो मुबारक हो आप प्यार की सीढ़ी चढ़ने लगे हैं।

■ खुद पर ध्यान देना

क्या अब आप साथी से  मिलने के बाद खुद पर ज्यादा ध्यान देने लगे हैं? मतलब की अब आपको सजना-सवरना अच्छा लगने लगा हैं। यहाँ तक की आप अपनी सेहत का भी ख्याल सही तरह से रखने लगे हैं। मतलब की सच्चा प्यार होने के बाद आप यह सोचने लगे है की अगर मैं सेहतमंद और ठीक रहूँगा, तभी तो अपने साथी का ख्याल अच्छी तरह से रख सकूंगा/सकूंगी, तो निश्चित ही आप प्रेम की पाठशाला के अच्छे विद्यार्थी बनने के लायक हैं।

■ फेसबुक पर परिवर्तन होना

क्या अब आपकी फेसबुक प्रोफाइल में चित्र बदलने लगे? अब आप लव थॉट्स, रोमांटिक गानों के लिंक, पॉजिटिव बातें शेयर करने लगे हैं? तो यह भी प्यार होने के संकेत हो सकते हैं।

■ उनके लिए अच्छा बनना

क्या अब आप खुद से यह कहने लगे ही की उनके लिए मुझे बेहतर बनना हैं। क्योंकि उन्हें खुश रखना मेरी जिम्मेवारी हैं। क्योंकि वे सबसे बेस्ट हैं और उन्हें भी बेस्ट मिलना चाहिए। इसलिए मुझे अपने साथी के लिए बेस्ट बनना हैं।

■ उन पर पूरा भरोसा होना

क्या आपको अपने प्यार पर भरोसा हैं? और आपको अब उन्हें खोने का कोई डर नहीं लगता हैं। आप इस बात पर पूरी तरह से विश्वास कर चुके हैं की वह हमेशा आपके साथ ही रहेंगे। मतलब की आपको अपने साथी से बिछड़ने का कोई डर न हो? साथ ही आप अपने साथी पर पूरी तरह से विश्वास करते हैं और उनपर रत्ती भर शक नहीं करते हैं तो समझिये आपको सच्चा प्यार हो गया हैं।

■ जो भी काम करते हैं हम की भावना से करते हैं

क्या अब आप जो भी काम करते हैं या फिर जो भी चीज़े खरीदते हैं, उसे मैं नहीं हम की भावना से करने लगे हैं। जैसे की आपने कोई भी सामान खरीदा तो आप यह मानते हैं की आपके सभी चीज़ों पर आपके साथी का पूरा हक हैं। जो आपका हैं, वह सभी कुछ आपके साथी का भी हैं। यानी प्यार में कभी भी मैं की भावना नहीं होती, बल्कि हम की भावना पहले होती हैं।

■ उनकी बचकानी बातों पर अच्छाई नज़र आती हैं

क्या अब आपको अपने साथी की बचकानी बातों पर भी अच्छाई नज़र आती हैं? क्या अब आप अपने साथी के पॉइंटयुव्यू से किसी बात को सोचने लगे हैं, चाहे वह बात आपको पसंद भी ना हो। लेकिन किसी बात को न सिर्फ अपने नजरिये से देखते हैं, बल्कि अपने साथी के नजरिये से भी देखने की कोशिस करने लगे हैं तो यकीन मानिये आपका रिश्ता जीवनभर प्यार से भरा हुआ बरकरार रहेगा। क्योंकि अक्सर ज्यादातर लोग अट्रैक्शन में यह जताना चाहते हैं की वह सही हैं और उनका साथी गलत हैं, जबकि प्यार में ऐसा नहीं होता हैं।

■ अगर बहस भी हो जाये तो अंत में सब कुछ भूल जाना

क्या आप दोनों के बीच कभी लड़ाई भी हो जाती हैं, लेकिन अंत में आप सब कुछ भूल जाते हैं और एक दुसरे से बिना किसी हिचक के माफ़ी भी मांग लेते हैं। आप खुद तो एक दुसरे से लड़ाई कर लेते हैं? और लड़ाई करने के बाद मन ही मन दुखी भी होते हैं। लेकिन अगर दुसरा कोई व्यक्ति आपके साथी के बारे में बुरा-भला कहता हैं, तो आपको जरा भी अच्छा नहीं लगता हैं और आप उस दुसरे व्यक्ति को खरी खोटी भी सूना देते हैं। मतलब की आप अपने साथी के बारे में किसी दुसरे शख्स द्वारा की गयी बुराई बर्दास्त नहीं कर पाते हैं। यह सभी बातें बताती हैं की आप अपने साथी को सच्चा प्यार करते हैं। आपकी मोहब्बत सच्ची हैं।

नोट :- उपरोक्त बताई गयी बातें कुछ हद तक अट्रैक्शन की ओर भी इशारा करती है। क्योंकि इनमे से कुछ पॉइंट अट्रैक्शन होने के भी संकेत हो सकते हैं।

तो फिर सच्चे प्यार की परिभाषा क्या हैं?

अगर आपको किसी से सच्चा प्यार हो गया हैं तो आप उसके लिए किसी भी तरह की कुर्बानी देने से पीछे नहीं हटते हैं। सच्चे प्यार की निशानी यह हैं की अगर आपका प्यार आपको न भी मिल पाए तो भी हमेशा आपके दिल से उसकी सलामती और ख़ुशी के लिए दुआ निकलती रहती हैं। मतलब की आप यह सोचने लगते हैं की वह जहाँ पर रहे, भगवान उसे हमेशा खुश रखे। आप अपने साथी को हमेशा खुश देखना चाहते हैं, चाहे वह आपके साथ हो या न हो? क्योंकि प्यार देना जानता हैं, लेना नहीं……







अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *