प्रोटीन ड्रिंक पीने के नुकसान जानते हैं आप?

प्रोटीन ड्रिंक के नुकसान

जो लोग जिम जाते हैं वह लोग प्रोटीन ड्रिंक के बारे में जानते ही होंगे। अच्छी बॉडी बनाने के लिए प्रोटीन की जरूरत होती हैं। लेकिन कई लोग प्रोटीन की पूर्ति के लिए प्रोटीन पाउडर और प्रोटीन ड्रिंक का सेवन करने लगते हैं। लेकिन क्या आपको पता हैं की प्रोटीन ड्रिंक सेहत को नुकसान भी पंहुचा सकते हैं। आज के लेख में हम प्रोटीन ड्रिंक के नुकसान (side-effects of Protein Drinks in Hindi.) के बारे में जानेंगे।

प्रोटीन पाउडर में ऐसे ज़हरीले पदार्थ मिलाये गये होते हैं जो प्रोटीन पाउडर के लेबल पर लिखे ही नहीं गये होते हैं। इस विषैले पदार्थों में लेड, पारा और आर्सेनिक आदि जैसे तत्व हैं। अगर आप फिर भी प्रोटीन शेक पीना ही चाहते हैं तो आर्गेनिक प्रोटीन शेक का ही सेवन करे। लेकिन यह भी कुछ अच्छा उपाय नहीं हैं। अगर आप बॉडी बनाना ही चाहते हैं तो प्रोटीन से भरे आहार खाए। इससे शरीर को प्रोटीन भी मिलेगा और शरीर के लिए अन्य जरूरी तत्वों की भी पूर्ति हो जाएगी।

प्रोटीन ड्रिंक पीन से हो सकती हैं यह परेशानियाँ :-

थाइरोइड की समस्या

प्रोटीन ड्रिंक में सोया होता हैं जो थाइरोइड ग्लैंड को आयोडीन को अवशोषित करने से रोकता हैं और थाइरोइड ग्लैंड की क्षमता को कम करता हैं। इसलिए प्रोटीन शेक के सेवन से थाइरोइड ग्रन्थि को नुकसान होता हैं और इसमें प्रॉब्लम होने लगती हैं।

वजन बढ़ने लगता हैं

प्रोटीन शेक को पीने से शरीर का वजन बढ़ सकता हैं। प्रोटीन को अवशोषित करने में शरीर थोड़ी देर लगाता हैं। ऐसे में ज्यादा प्रोटीन ड्रिंक पीने से और बैठे रहने से शरीर में मौजूद प्रोटीन फैट में परिवर्तित होने लगता हैं। जिससे आप मोटापे के शिकार हो सकते हैं।

एलर्जी होना

जिन लोगो को सोया, अंडा और दूध आदि से एलर्जी हैं। उन्हें प्रोटीन ड्रिंक से भी एलर्जी हो सकती हैं। ऐसा होने पर उन्हें डिहाइड्रेशन, उल्टी और दस्त की समस्या हो सकती है। जिससे प्रोटीन ड्रिंक से फायदा होने की बजाये नुकसान हो सकता हैं।

कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ना

कुछ प्रोटीन ड्रिंक्स में फैट वाले पदार्थ पाए जाते हैं, जिनसे बॉडी का कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ जाता हैं। कोलेस्ट्रॉल लेवल के बढ़ने से दिल की बीमारियाँ जैसे की हार्ट अटैक और स्ट्रोक होने की आशंका भी बढ़ जाती हैं।

बॉडी पार्ट्स के लिए नुकसानदायक

बॉडी में प्रोटीन की कमी को पूरा करने के लिए दूध में प्रोटीन पाउडर मिला कर पीना जितना आसान हैं, उतना ही यह शरीर के दुसरे अंगो पर बुरा असर डालता हैं। जब आप दूध में प्रोटीन पाउडर मिला कर पीते हैं तो आपके शरीर में प्रोटीन की मात्रा काफी बढ़ जाती हैं। बॉडी में ज्यादा प्रोटीन होने पर किडनी और लीवर को नुकसान होने लगता हैं। इससे किडनी और लीवर की बीमारियाँ होने का ख़तरा बढ़ जाता हैं। यह प्रोटीन ड्रिंक्स के सेवन से होने वाला एक ख़राब नुकसान हैं।

न्यूट्रीशन की कमी होना

प्रोटीन शेक में शुगर और आर्टिफीसियल इंग्रीडीएंट ज्यादा मात्रा में होते हैं, जो सेहत के लिए हानिकरक हैं। इसलिए हमें प्रोटीन ड्रिंक पीने से बचना चाहिए और प्रोटीन की कमी को पूरा करने लिए प्रोटीन से भरे खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए।

पेट खराब होना

दूध से बनाये गये प्रोटीन ड्रिंक में लैक्टोज़ होता हैं। जो लोग दूध में उपस्तिथ लैक्टोज़ को हजम नहीं कर पाते हैं, उन्हें प्रोटीन ड्रिंक को पीने से पेट में खराबी आ सकती हैं। इससे उनका पेट ख़राब हो सकता हैं, उन्हें दस्त, पेट में दर्द, मरोड़, गैस और पेट में भारीपन होने की समस्या हो सकती हैं।

कुपोषण की समस्या होना

प्रोटीन की आवश्यकता को पूरा करने के लिए सिर्फ प्रोटीन ड्रिंक पीने से आपको कुपोषण भी हो सकता हैं। क्योंकि शरीर को प्रोटीन के अलावा अन्य जरूरी न्यूट्रीएंट्स जैसे की कैल्शियम, आयरन, विटामिन्स और मिनरल्स की भी जरूरत पड़ती हैं। इसलिए प्रोटीन ड्रिंक पीने की बजाये प्रोटीन से भरपूर आहार खाए, इन प्रोटीन से भरे खाद्य पदार्थो में प्रोटीन के साथ दुसरे मिनरल्स और विटामिन्स भी पाए जाते हैं।

ज़हरीले पदार्थं होना

कई प्रोटीन पाउडर में आर्सेनिक, मरकरी और लेड जैसे खतरनाक ज़हरीले तत्व मिलाये गये होते हैं। प्रोटीन पाउडर बनाने वाली कंपनी इन ज़हरीले पदार्थो का ज़िक्र प्रोटीन पाउडर के डब्बे के लेबल पर जानबूझकर कर नहीं करती हैं। लेकिन कई सारी लेबोरेटरी की जांच में प्रोटीन पाउडर में यह हानिकारक तत्व पाए गये हैं। इसलिए ज्यादा प्रोटीन शेक पीने से शरीर में धीरे-धीरे करके यह toxins जमा होने लगते हैं।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

डिप्रेशन से बचने के तरीके एवं उपाय जानिए।
गैस और एसिडिटी दूर करने के लिए क्या खाना चाहिए?
छोटे बच्चों को सर्दी-जुकाम से बचाना क्यों हैं जरूरी।
फटे दूध से क्या-क्या बनाया जा सकता हैं?
चिकन पास्ता बनाने की रेसिपी.
भारत में किस राज्य में होता हैं मांसाहार का सेवन सबसे ज्यादा और कौन सा राज्य हैं शाकाहारी।
पालक खाईये और बीमारियों को दूर भगाइये...
अलसी के फायदे (Benefits of Flex seed in Hindi).
डिलीवरी के बाद नयी बनी माँ को क्या खाना चाहिए?
स्वास्थ्य से जुड़ी हुई रोचक बातें जिन्हें आपको जरूर जानना चाहिए।
रात के समय इन बातों का रखे ध्यान वरना हो सकते हैं मोटापे के शिकार।
स्ट्रीट फूड खाने के शौक़ीन हैं तो इन बातों का रखे ध्यान।