प्लास्टिक की बोतल में पानी पीने के नुकसान।

प्लास्टिक की बोतल में पानी क्यों नहीं पीना चाहिए ? इससे सेहत को क्या क्या नुकसान होते हैं?

क्या आप भी प्लास्टिक की बोतल में पानी पीते हैं तो सावधान हो जाईये, क्योंकि आज हम आपको प्लास्टिक की बोतल में पानी पीने के नुकसान के बारे में बताने जा रहे हैं। जी हाँ प्लास्टिक की बोतल से पानी पीने से सेहत को बहुत ज्यादा हानि होती हैं। Side-Effects of Drinking Water in Plastic Bottle in Hindi. Plastic ki bottle mein paani kyon nahi peena chahiye?

मॉडर्न लाइफस्टाइल में लोगो को प्लास्टिक की बोतल में पानी पीने की आदत ही हो गयी हैं। ट्रेन की यात्रा हो या फिर ज़्यादा पानी पीने की आदत के कारण प्लास्टिक की बॉटल हमेशा बैग में रखी मिल जाती हैं। लेकिन दोस्तो प्लास्टिक की बोतल में पानी पीना या रखना सेहत के लिए बहुत ही नुकसानदेह हैं। अगर आप प्लास्टिक बोतल में पानी पीते हैं, इसकी वजह से आपको डायबिटीज, हार्ट डिसीज़, गर्भवती महिला और उसके बच्चे को ख़तरे के अलावा कई दूसरी ख़तरनाक बीमारिया हो सकती हैं।

अगर आप प्लास्टिक की बोतल का उपयोग पानी पीने के लिए करते हैं तो यह जान लीजिए की प्लास्टिक की बोतल में कई सारे नुकसानदेह केमिकल होते हैं जो गर्म होने पर पानी के साथ मिल जाते हैं। पानी के ज़रिए यह खतरनाक केमिकल्स हमारे बॉडी में दाखिल हो जाते हैं और हमे नुकसान पहुचाते हैं। इसलिए अगर आप पानी पीने के लिए प्लास्टिक बॉटल्स का इस्तेमाल कर रहे हैं तो अभी से इनका इस्तेमाल करना बंद कर दीजिए।

प्लास्टिक बोतल में पानी पीने के नुकसान :-

1) क़ब्ज़ और पेट में गैस :- दरअसल प्लास्टिक बोतल को बनाने के लिए Bisphenol A के कारण पेट पर बुरा असर पड़ता हैं। BPA नाम का केमिकल जब पेट में पहुचता हैं तब इसके कारण पाचन क्रिया प्रभावित होती हैं। इससे खाना अच्छे से हजम नही हो पता हैं और पेट में क़ब्ज़ और गैस की प्राब्लम हो जाती हैं।

2) कैंसर होने का ख़तरा :- हवाई के कैंसर हॉस्पिटल के अध्यनों के अनुसार, प्लास्टिक के बोतल का पानी कैंसर होने की वजह हो सकता हैं। प्लास्टिक की बोतल जब धूप या ज़्यादा टेंपरेचर होने के कारण जब गरम होता हैं, तो प्लास्टिक में मौज़ूद नुकसानदेह केमिकल्स Deoxygenate का रिसाव शुरू हो जाता हैं। यह deoxygenated पानी में घुलकर हमारे शरीर में पहुचता हैं। Deoxygenate हमारे शरीर के सेल्स को बुरा असर डालता हैं। इसकी वजह से महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर का ख़तरा बढ़ जाता हैं।

3) गर्भपात का ख़तरा :– वह महिलाए जिन्हे गर्भवती होने में प्रॉब्लम्स का सामना करना पड़ता हैं या फिर जिन्हे एक बार गर्भपात हो चुका हो, उन्हे प्लास्टिक की बोतल से ज़्यादा पानी नही पीना चाहिए। यह पुरुषो में स्पर्म काउंट को भी कम करता हैं।

4) न्यू बोर्न बेबी में हो सकता हैं जन्म-दोष :- बोतल को बनाने वाला केमिकल भ्रूण में गड़बड़ी पैदा कर सकता हैं, जिससे बच्चे को जन्म के समय कुछ दोष पैदा हो सकते हैं। अगर आपने पानी पीने के लिए प्लास्टिक बोतल का उपयोग किया हैं तो आगे चलकर बच्चे को प्रॉस्टेट कैंसर या ब्रेस्ट कैंसर तक हो सकता हैं।

5) ना करे लो क्वालिटी बोतल का इस्तेमाल :- कई लोग पैसे बचाने के लिए सड़क किनारे बिक रही सस्ती बोतल को खरीद लेते हैं। ऐसा ना करे क्योंकि इन बोतलों को बनाने में ऐसे केमिकल्स इस्तेमाल किये गये होते हैं जो गरम होने के बाद पानी में मिल जाते हैं।

6) पेट की बीमारी :- अगर आपकी बोतल महीनो से धूलि नही हैं और आप उसका बार-बार इस्तेमाल कर उसमे पानी भर कर पी रहे हैं तो आपको पेट की प्रॉब्लम्स हो सकती हैं, क्योंकि वह बैक्टीरिया का घर बन जाता हैं।

7) ब्रेन का कमजोर होना :- प्लास्टिक की बोतल में उपयोग होने वाली Bisphenol A की वजह से दिमाग़ के काम करने की शक्ति प्रभावित होती हैं। इसके कारण इंसान की समझने और याद रखने की शक्ति कम होने लगती हैं।







अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *