फलों को सही ढंग से खाने के तरीके और टिप्स.

फल खाने के सही तरीके क्या हैं? फलो को कब खाना चाहिए? फल खाने का सही समय क्या हैं?

फल को कैसे खाए, जिससे हमे ज़्यादा फायदे मिले? फलों को सही तरह से खाने का तरीका क्या हैं? Fruits को हमे कैसे खाना चाहिए? फलों को किस तरह से खाना चाहिए जिससे हमे ज़्यादा फायदा हो? फल फ्रूट्स को कैसे खाए और कब खाए ताकि हमे ज़्यादा लाभ हो? अगर आपके मन में भी यह सारे प्रश्न उठ रहे हो तो आज का यह आर्टिकल आपके लिए ही हैं।

रोज एक सेब खाइए और डॉक्टर को दूर भगाइए (An apple a day keeps the doctor away), यह कहावत तो आप सभी ने सुनी होगी और हम यह भी जानते हैं की केवल सेब ही नही, बल्कि दूसरे अन्य फल-फ्रूट्स भी बीमारियो को डॉक्टर को दूर रखने में मदद करते हैं। तरह-तरह के पोषक तत्वो से भरपूर फल शरीर को हेल्दी बनाए रखते हैं। अगर आप वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं और अपनी हेल्थ से कोई समझौता नही करना चाहते हैं तो फल आपके लिए बेस्ट आप्शन हो सकते हैं।

आप जानकार हैरान रह जाएँगे की फलों से मिलने वाले सभी पोषक तत्वो का Benefits लेने के लिए उन्हे सही तरीके से खाना बहुत ही ज़रूरी हैं। आइए जानते हैं की कैसे सही तरीके से फल खा कर उनका पूरा लाभ उठाया जा सकता हैं।

• एक bowl में बिना कटे हुए फल टेबल पर या फ्रिज में रखिए। आपको करना यह हैं की जब भी आपको कुछ खाने को महसूस हो, तो फल खाना आपके लिए सबसे आसान होगा, क्योंकि वह आपकी पहुच में होंगे। इस तरह से आप फास्ट फुड से दूरी बना पाएँगे।

• कई लोग फलों के जूस को बहुत पसंद करते हैं, लेकिन हम आपको बता दे की जूस से फलो का एक बड़ा हिस्सा बर्बाद हो जाता हैं और फलो से मिलने वाले फाइबर को हम यू ही फेंक देते हैं। इस तरह शरीर को हेल्ती रखने वाले फ्रूट्स के गुण को हम कुछ हद तक खुद ही कम कर देते हैं।

• काम को और आसान बनाने के लिए फ्रीज़ में फलो को पहले से काटकर स्टोर कर ले जिससे तुरंत ही खाने के लिए फल रेडी रहेंगे। हालाँकि कोशिश करे की फल खाने के ठीक पहले ही काटे जाए ताकि फलो का भरपूर लाभ उठाया जा सके।

• जब फ्रेश फ्रूट्स उपलब्ध ना हो या फिर इनका मिलना मुश्किल हो तो आप ड्राइ फ्रूट्स का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इन्हे स्टोर करना और साथ रखना भी आसान होता हैं।

• फलो को अपनी पसंद से उनके पोषक गुणों को ज़्यादा प्राथमिकता दे। पोटैशियम से भरपूर फल जैसे केला, आडू, ब्लूबेरी, खूबानी, खरबूजा, तरबूज़ और संतरा जैसे फलो को अपनाए। लेकिन ध्यान दे की सभी फलो के विशेष गुण होते हैं, इसलिए खुद को कुछ खास फलो तक ही सीमित ना रखे बल्कि सभी फलो की मात्रा को उनकी पोषण देने के गुण के अनुसार अपनी डाइट का हिस्सा ज़रूर बनाए।

• फ्रूट्स को खरीदते समय खास सावधानी रखनी होगी, जिसमे मौसम के अनुसार फल खरीदे, जैसे जिस सीज़न में जो फल आते हैं वह दाम में कम होने के साथ-साथ स्वाद में अच्छे और हानिकारक दवाइयो के असर से बचे हुए होते हैं।

• ब्रेकफास्ट में फ्रूट्स को साइड डिश के रूप में इस्तेमाल करे। आप जो भी खाने वाले हैं उसके साथ अपने हिसाब से एक या दो फल भी शामिल करे। लिक्विड में फ्रूट्स का जूस को शामिल करना भी एक समझदारी भरा काम हैं। दिन और रात के खाने के साथ आप फलो से बने अन्य टेस्टी और पौष्टिक पकवान जैसे फ्रूट रायता या फ्रूट्स कस्टर्ड्स को शामिल कर सकते हैं। आप चाहे तो फ्रूट्स चाट को भी खा सकते हैं।

बच्चों के लिए फल संबंधी टिप्स

बच्चों के बढ़ते शरीर के लिए ज़रूरी पोषक तत्व फलों से प्राप्त किए जा सकते हैं। आप रोजाना फ्रूट्स खा कर अपने बच्चों को भी फल खाने की आदत डाल सकते हैं। आप घर में कई तरह के फल रखे, जिससे बच्चों को अपनी पसंद के फल चुनने का मौका मिले और साथ ही तरह-तरह के फलो से पोषक तत्व प्राप्त कर सके।

फल खरीदते समय बच्चों को साथ ले जाए और फलो को साफ करते और उन्हे काटने समय बच्चों की मदद ले। फल खरीदते समय बच्चों को नये किस्म के फल घर पर लाने दे। बच्चों के पसंद के पकवान की प्लेट को फलो से सजाए ताकि उनके साथ फ्रूट्स की भी सप्लाइ होती रहे। फ्रूट्स के नये डिज़ाइन्स जैसे स्माइल्स फेस या जोकर और कोई अलग शेप बनाए जिससे बच्चें फलों में दिलचस्पी लेने लगे। बच्चों को चॉकलेट की बजाए ड्राइ फ्रूट्स खाने के लिए प्रेरित करे।







अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *