फूड पोइजनिंग होने पर क्या खाए?

Food poisoning hone par kya khaye? Home remedies for Food poisoning in Hindi.

कई बार ज़हरीला या खराब खाना खाने की वजह से फ़ूड पोइजनिंग हो जाती हैं। Food Poisoning होने से आपकी तबियत बहुत बिगड़ सकती हैं।

फुड पोइजनिंग को दूर करने के लिए घरेलू नुस्खे और उपाय क्या हैं? आज कल के समय में चाहे कॉलेज हो या ऑफीस, लंच टाइम में यंग जेनरेशन कैंटीन में ही ज़्यादा दिखाई देते हैं। इसका कारण यह हैं की ज़्यादातर यंग्स्टर चटर पटर खाना पसंद करते हैं। जब इन लोगो से इसका कारण पूछा जाता हैं तो वह कहते हैं की उन्हे खाना बनाने का टाइम ही नही मिलता हैं या फिर घर का खाना खा कर बोर हो गये हैं। बहाना चाहे जो भी हो लेकिन यह खाना पेट को काफ़ी भारी पड़ जाता हैं और लोगो को फुड पोइजनिंग हो जाती हैं।

फुड पोइजनिंग हो जाने पर समझ लीजिए की आपकी तो 48 घंटो तक वाट लग गयी। बारिश के मौसम में यह प्राब्लम ज़्यादा होती हैं, क्योंकि खाना जल्दी खराब हो जाता हैं। यदि आप भी बाहर का खाना ज़्यादा खाते हैं, तो आइए जानते हैं कुछ ऐसे चीज़ो के बारे में जिन्हे खाने से फुड पोइजनिंग को दूर किया जा सकता हैं और यह प्राब्लम जल्दी ठीक हो जाती हैं।

1) अनार :- अनार का जूस डायरिया भागने के लिए अच्छा होता हैं। इसके अलावा अनार के पेड़ की छाल भी पेट की कई बीमारियो को ठीक करने में मददगार होती हैं।

2) अदरक :- अदरक एक नेचुरल एंटीबायोटिक हैं, जो फुड पोइजनिंग की समस्या में रामबाण औषिधि हैं। आप चाहे तो इसकी चाय भी पी सकते हैं या फिर खाने में इस्तेमाल कर सकते हैं।

3) एलोवेरा जूस :- एलोवेरा का जूस डाइजेशन में मदद करता हैं। जब भी कभी ऐसी प्राब्लम हो जाए तो आधा कप एलोवेरा का जूस पी ले।

4) एप्पल साइडर विनिजर :– फुड पोइजनिंग होने पर 1 चम्मच एप्पल साइडर विनेगर ले। इससे पेट की प्राब्लम बहुत जल्दी ठीक हो जाती हैं।

5) केला :- केले में पोटैशियम होता हैं, इसलिए यह उल्टी और दस्त से राहत दिलाता हैं।

6) जीरा :- जीरा एक ऐसा मसाला हैं जिसे फुड पोइजनिंग के लिए सबसे कारगर औषिधि माना जाता हैं। जीरा खाने से सूजन कम होती हैं। 1 चम्मच भूना ज़ीरा खाने से फुड पोइजनिंग की प्राब्लम में तुरंत राहत मिलती हैं।

7) तुलसी :- तुलसी पेट की समस्याओं में सबसे बेहतरीन दवाई हैं। तुलसी से बनी चाय पिए। तुलसी के पत्तो के रस की कुछ बूंदे ले। इससे भी फुड पोइजनिंग के कारण होने वाली प्रॉब्लम्स ख़त्म हो जाती हैं।

8) दही :- दही एक एंटीबायोटिक हैं, जो फुड पोइजनिंग हो जाने पर ज़रूर लेना चाहिए। इससे यह समस्या जल्दी ठीक हो जाती हैं।

9) नींबू :- नींबू में कई ऐसे सारे एसिड पाए जाते हैं, जो खाने को जल्दी पचा देते हैं। नींबू पेट में पल रहे बैक्टीरिया को भी मारता हैं। इस लिए इस समस्या में नींबू पानी पीना बहुत ही फायदेमंद होता हैं।

10) पुदीना :- इस बीमारी में आपको पुदीने के रस का सेवन करना चाहिए।

11) ब्लैक और ग्रीन टी :- ब्लैक और ग्रीन टी पीने से राहत मिलती हैं। इसमे एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं, जो शरीर से ज़हरलीले तत्वो को बाहर निकालते हैं।

12) ब्राउन शुगर :- ब्राउन शुगर फुड पोइजनिंग के कारण आई कमज़ोरी को दूर करने की रामबाण दवा हैं। फुड पोइजनिंग के कारण जब आप कमज़ोरी महसूस करे तो एक चम्मच ब्राउन शुगर खा ले। इससे एनर्जी मिलेगी। ब्राउन शुगर का मतलब ड्रग्स वाला ब्राउन शुगर नही हैं। इसका मतलब भूरी शक्कर या गुड़ की बनी जो शक्कर होती हैं, उससे हैं। कंही आप ग़लत मतलब ना समझे।

13) मेथी दाना :- 1 छोटा चम्मच मेथी दाना आधा कप पानी में भिगो दे। आधे घंटे के बाद पानी को छान कर मेथी को थोड़ा-थोड़ा कर पूरे दिन खाइए। इससे फुड पोइजनिंग के कारण होने वाली समस्याएँ दूर हो जाएँगी।




अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

काला जादू भारत में किन जगहों पर किया जाता हैं?
जानिए धनतेरस का महत्व और पूजन विधि के बारे में.
ज्वाला देवी शक्तिपीठ से जुड़ी 7 ऐसी बातें, जो इसे बनाती हैं और भी खास
आलू का जूस पीने के फायदे
बैक्टीरिया से जुड़े हुए यह रोचक तथ्य और जानकारी जानिए।
कलरफुल फ़ूड खा कर बने हेल्दी.
करी पत्ता (मीठी नीम) के घरेलु नुस्खे और फायदे.
अनार खाने के 10 फायदे.
बादाम वाला दूध पीने के फायदे.
कैंसर होने के लक्षण क्या हैं?
चांदी के गहने घर में कैसे साफ़ करे?
मूंगफली के तेल से सेहत को होते हैं यह गजब के फायदे।
स्वास्थ्य से जुड़ी हुई रोचक बातें जिन्हें आपको जरूर जानना चाहिए।
लीवर कैंसर होने के कारण और इससे बचने का तरीका।
अगर पाद में से आती हैं ज्यादा बदबू, तो इसकी वजह यह होती हैं।
दिमाग को बनाना चाहते हैं कंप्यूटर से भी तेज़ तो इन जड़ी-बूटियों का सेवन करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *