बच्चों को डायपर पहनाने के नुकसान जरूर पढ़े।

बच्चों को डायपर पहनाने के नुकसान जरूर पढ़े।

आज हम अपने बच्चों को घर के सूती कपड़े से बने नैपकिन की जगह बाज़ार में मिलने वाले डायपर को पहनाना ज्यादा पसंद करने लगे हैं। देखा जाये तो बाजारू डायपर लीक-प्रूफ होते हैं और आपके बच्चे के लिए मददगार होते हैं। विशेष करके जब आप कंही बाहर जा रहे हैं तो बच्चे को गीला होने से बचाते हैं। लेकिन बच्चे को पुरे रात और दिन डायपर पहनाये रखना भी अच्छी बात नहीं हैं।

क्योंकि डायपर के भी नुकसान होते हैं। आइये जानते हैं डायपर पहनने से क्या-क्या नुकसान होते हैं। डायपर पहनाने में कौन-कौन सी सावधानी बरतनी चाहिए? Side-effects of Diaper in Hindi.

डायपर से बच्चे को होने वाले नुकसान :-

लीक प्रूफ :- डायपर का इस्तेमाल लोग इसलिए करते हैं जो बच्चे के नेचुरल प्रोसेस के दौरान होने वाली गंदगी से घर और कपड़ो को साफ़ रख सके। साथ ही रात को नींद में होंने वाली खलल से भी बचा जा सके। जबकि घर के बने सूती कपड़े के नैपकिन्स में यह सुविधा नहीं मिलती हैं।

छोटे बच्चे के कारण रात को माता-पिता की नींद टूट जाती हैं। इस प्रकार से नींद टूटना पेरेंट्स के स्वास्थ्य पर बुरा असर डालता हैं। ऐसे में डायपर का इस्तेमाल करना गलत बात नहीं हैं। लेकिन इस सुविधा का लाभ तभी हो सकता हैं जब आप डायपर को पूरी सावधानी के साथ प्रयोग करे। लेकिन इसके बारे में बहुत कम लोग ही जानते हैं।

डायपर के इस्तेमाल में यह सावधानी बरतनी चाहिए :-

अगर आप बच्चो में डायपर का इस्तेमाल कर रहे हैं इन सावधानियों को जरूरत अपनाना चाहिए। ताकि इससे बच्चे की सेहत पर बुरा असर न पड़ने पाए, वातावरण भी सुरक्षित रहे और आप भी भय मुक्त रह सके। निम्निखित बातों पर ध्यान दीजिये :-

1. अगर आप अपने बच्चे को सारा दिन डायपर पहनाते हैं तो हर आधे घंटे के अन्दर उसे चेक करने की कोशिश करे। कई बार बच्चा गीला डायपर लम्बे समय तक पहने रखता हैं और फिर वह उसी डायपर को दुसरे से तीसरी बार भी गीला कर देता हैं। इस बात को नज़रंदाज़ करने पर बच्चे को इन्फेक्शन हो सकता हैं। ध्यान न देने पर यह इन्फेक्शन जानलेवा भी हो सकता हैं।

2. हाईजीन वह बिंदु हैं जिसके लिए डायपर हो या घरेलु नैपकिन दोनों के लिए जरूरी हैं। पर्याप्त सफाई और हाईजिन में लापरवाही बच्चे की सेहत को बिगाड़ सकते हैं।

3. डायपर के कारण बच्चे के स्किन पर रेसेज पड़ जाते हैं, जिसके इस्तेमाल से नाज़ुक अंगो को भी नुकसान हो सकता हैं।

4. हमारे देश का मौसम लगातार बदलते रहता हैं। ऐसे में गर्मी या ज्यादा नमी की वजह से लम्बे समय तक डायपर पहने रखने से बच्चे को कई सारी समस्याएं हो सकती हैं।

5. बच्चे के अलावा डायपर वातावरण के लिए भी हानिकारक होते हैं।

6. कई डायपर ethylbenzene, toluene और xylene जैसे Volatile Organic Compounds को भाप बना कर वातावरण में आर्गेनिक कंपाउंड्स को छोड़ते हैं। जिससे नयूरोगिकल समस्याओं के अलावा आँखों के रोग और शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती हैं।

7. प्लास्टिक के अलावा डायपर में दुसरे हानिकारक toxins जैसे की आर्टिफीसियल कलर, खूसबू के लिए chemicals, Sodium Polyacrylate, Dioxins जैसे तत्व पाए जाते हैं। जिसके कारण बच्चे को अस्थमा, हॉर्मोन असंतुलन और कैंसर भी हो सकता हैं। डायपर पर मौजूद आर्टिफीसियल रंग बच्चे को रैशेस दे सकते हैं।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *