बेल फल के फायदे, घरेलु नुस्खे और उपाय जानिए।

बेल के फायदे. Benefits of Apple wood in Hindi.

आयुर्वेद के अनुसार गर्मियों के मौसम में बेल फल यानि बिल्व का सेवन जरूर करना चाहिए। आप चाहे तो बेल फल को खा सकते हैं, या फिर इसका शरबत बना कर पी सकते हैं, दोनों ही तरीकों से यह सेहत के लिए फायदेमंद होता हैं। बेल के पत्तों को बेलपत्र कहा जाता हैं, जिसे भगवान शिव की पूजा में चढ़ाने का रिवाज हैं। ऐसी धार्मिक मान्यता हैं की बेलपत्र को शिवलिंग पर अर्पित करने से भगवान शंकर बहुत ही जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं और भक्तों की सभी मनोकामनाओं को पूरा करते हैं। आज के लेख में बेल फल खाने के फायदे, इसके उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय आदि के बारे में जानेंगे।

आइये जानते हैं बिल्व फल के फायदे, साथ ही इसका जूस पीने से सेहत को होने वाले विभिन्न प्रकार के लाभ। Health Benefits of Wood Apple in Hindi.

बिल्व का शरबत बना कर पीने से एक तो गर्मी से राहत मिलती हैं। दुसरा इससे शरीर में ठंडक और ताजगी आ जाती हैं। साथ ही इससे गर्मियों में होने वाली कई सारी बिमारियों से निजात भी मिल जाती हैं।

बेल फल के फायदे, घरेलु नुस्खे और उपाय :-

1. लू लगने से बचाने के लिए

लू लगने पर ताज़े बेलपत्र को पीस कर मेहँदी की तरह पैरों के तलवों पर लगना चाहिए। इसके अलावा इसे सिर, छाती, हाथो-पैरों पर भी इससे मालिश करे। बेल के शर्बत में मिश्री मिला कर पीने से भी लू लगने की समस्या से छुटकारा मिलता हैं।

2. कोलेस्ट्रॉल कम करे

आयुर्वेद के अनुसार यह कोलेस्ट्रॉल को कम करने का बेहतरीन उपाय हैं। बेल के पत्तों यानि बिल्वपत्र के अर्क का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में मदद मिलती हैं।

3. पेट के रोगों में रामबाण

पेट की बिमारियों को दूर करने में रामबाण की तरह काम करता हैं। बेल का जूस पीने से कब्ज़ पूरी तरह से ख़त्म हो जाता हैं। बेल का पका हुआ गुदा खाने से आँतों की सफाई अच्छी तरह से हो जाती हैं।

4. इन्फेक्शन से बचाए

बेल में कई तरह के एंटी-माइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं जो शरीर को कई सारे संक्रमन से बचाए रखते हैं।

5. मधुमेह में फायदेमंद

बेल में Laxative ज्यादा मात्रा में होते हैं जो बॉडी के ब्लड शुगर लेवल को कण्ट्रोल में रखते हैं। इससे शरीर में इन्सुलिन बनाने में मदद मिलती हैं, जिससे डायबिटीज की बीमारी में फायदा होता हैं।

6. अल्सर से राहत दिलाये

बेल में फेनोलिक तत्व के साथ एंटी-ऑक्सीडेंट भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। यही वजह हैं की बेल का रस यानि शरबत पीने से गैस्ट्रिक अल्सर को ठीक करने में मदद मिलती हैं। इसके अलावा इसे नियमित रूप से पीते रहने से पेट में एसिड का बैलेंस सही बना रहता हैं।

7. खून बढ़ाये

बेल फल में आयरन भी अच्छी मात्रा में पाया जाता हैं। इसलिए नियमित रूप से बेल का शर्बत ओईबे से हीमोग्लोबिन की कमी दूर होती हैं। इससे शरीर में खून की कमी से निजात मिलती हैं और शरीर में नया खून बनने लगता हैं।

8. दिल के लिए फायदेमंद

बेल के जूस में थोड़ी सा घी मिला कर पीने से दिल से सम्बन्धित बिमारियों से बचने में मदद मिलती हैं। बेल के शरबत का सेवन नियमित रूप से करने से हार्ट स्ट्रोक होने का ख़तरा काफी कम हो जाता हैं।

9. श्वसन रोगों में लाभकारी

आयुर्वेद में बेल से निकाले गये तेल का इस्तेमाल दमा और सांस से सम्बन्धित बिमारियों के उपचार में किया जाता हैं।

सावधानी :- चाहे बेल फल सेहत के लिए कितना भी ज्यादा फायदेमंद क्यों न हो। लेकिन गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन बिलकुल भी नहीं करना चाहिए। क्योंकि इससे उन्हें हानि हो सकती हैं। गर्भावस्था के दिनों में बेल फल या बेल का शर्बत (रस) पीने से बचे।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...