ब्राउन राइस खाने के फायदे – Benefits of Brown Rice in Hindi.

ब्राउन राइस खाने के फायदे , ब्राउन राइस या भूरे चावल खाने से क्या लाभ होते हैं? Health Benefits of Brown Rice in Hindi.

ब्राउन राइस खाने के फायदे क्या हैं? Benefits of Brown Rice in Hindi. ब्राउन राइस  फाइबर का उच्चतम स्रोत हैं इसलिए आजकल इसे खाने का चलन धीरे-धीरे बढ़ रहा हैं। भारत में कई किस्म के चावल जैसे बासमती, जैसमीन और सुशी राइस में भी ब्राउन राइस आता हैं।

आखिर ब्राउन राइस क्या होता हैं? दरअसल ब्राउन राइस को चावल की बाहरी परत को निकाल कर बनाया जाता हैं जिसे हस्क कहते हैं। इस तरह के चावल के छिलके के कई पोषक तत्व इसमें ही मौजूद रहते हैं। ब्राउन राइस को बटुआ या छिलके वाला चावल भी कहा जाता हैं क्योंकि इसकी सिर्फ बाहरी परत और छिलका हटा हुआ होता हैं जिस कारण यह हलके भूरे रंग का होता हैं।

ब्राउन राइस में फाइबर बहुत ज्यादा मात्रा में पाया जाता हैं। अगर आप सफ़ेद चावल खाते हैं तो तुरंत ही अपनी इस आदत को बदल लीजिये और ब्राउन राइस को खाना शुरू कर दीजिये, क्योंकि जब बात सेहत से जुड़ी और स्वास्थ्य के प्रति फायदे की आती हैं तो ब्राउन राइस, सफ़ेद चावल के मुकाबले कई गुणा ज्यादा फायदेमंद साबित होते हैं। जहा सफ़ेद चावल खाने से मोटापा और डायबिटीज का खतरा ज्यादा होता हैं, वंही ब्राउन राइस इन समस्याओं से बचने में आपकी सहायता करता हैं।

ब्राउन राइस को सम्पूर्ण अनाज माना जाता हैं। इसमें विटामिन बी, सेलेनियम, फाइबर, मैंगनीज, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम जैसे तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। आज के लेख में हम ब्राउन खाने के फायदे और इसे खाने से सेहत को क्या लाभ होते हैं? इन सबके बारे में चर्चा करेंगे। Brown Rice khane ke fayde.

ब्राउन राइस खाने के फायदे :-

नर्वस सिस्टम को मजबूत बनाये

ब्राउन राइस में मैंगनीज प्रचुर मात्रा में पाया जाता हैं जो तंत्रिका तंत्र यानि की नर्वस सिस्टम को स्वस्थ्य बनाने में आपकी सहायता करता हैं। ब्राउन राइस खाने से फैटी एसिड का उत्पादन होता हैं जो कोलेस्ट्रॉल पैदा करके सेक्स होरमोंस के उत्पादन को भी बढ़ाते हैं।

दिल के लिए फायदेमंद

दिल की सेहत के लिए ब्राउन राइस बहुत ज्यादा फायदेमंद होता हैं। ब्राउन राइस में फाइबर की मात्रा ज्यादा पाई जाती हैं जिस कारण इसे खाने से दिल के रोग होने का खतरा काफी कम हो जाता हैं। यह खराब कोलेस्ट्रॉल को नहीं बढ़ने देता हैं जिससे दिल की बीमारी नहीं होती हैं। टेम्पल यूनिवर्सिटी के रिसर्चरस ने अपने अध्यनो में यह पाया की ब्राउन राइस के सेवन से ब्लड प्रेशर कम होता हैं और धमनियों में प्लाक बनने का खतरा कम हो जाता हैं। इसलिए अगर आप दिल की बीमारियों से बचना चाहते हैं तो आज से ही ब्राउन राइस खाना प्रारम्भ कर दीजिये।

कब्ज़ दूर करे

फाइबर की ज्यादा मात्रा होने की वजह से ब्राउन राइस पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद होता हैं। यह मल त्याग को बढ़ाता हैं और कब्ज़ होने की समस्या को दूर करता हैं। इसलिए ब्राउन राइस को खाने से आप कब्ज़ की समस्या को दूर कर सकते हैं।

मैंगनीज से भरपूर

ब्राउन राइस मैंगनीज से भरपूर होता हैं। इस चावल में 80% से ज्यादा मात्रा मैंगनीज की पाई जाती हैं जो शरीर से एक्स्ट्रा फैट को कम करने में मदद करता हैं। इसे खाने से शरीर को उर्जा भी मिल जाती हैं और मोटापा होने का खतरा भी कम होता हैं। अगर आप अपने शरीर को मजबूत बनाना चाहते हैं तो ब्राउन राइस का सेवन जरूर करे।

डाइट की जरूरतों को पूरा करे

डाइट एक्सपर्ट्स के अनुसार एक व्यक्ति को दिन में 3 बार अनाज खाना चाहिए। लेकिन ब्राउन राइस का ½ कप अन्य अनाजों के तीन बार सेवन के बराबर हैं। इसलिए अपनी दैनिक पोषक तत्वों की पूर्ति के लिए ब्राउन राइस खाना अच्छा उपाय हैं।

बच्चों के विकास में फायदेमंद

ब्राउन राइस सेरेलेक हो या फिर ब्राउन राइस, दोनों ही बढ़ते बच्चों के विकास के लिए फायदेमंद होते हैं। ब्राउन राइस में प्रोटीन और फाइबर के अलावा कार्बोहायड्रेट भी पाए जाते हैं। यह बच्चों के शारीरिक विकास में सहायता करता हैं। इसमें कई पोषक तत्व भी पाए जाते हैं जो बच्चों को शारीरिक रूप से तंदरुस्त बनाए रखने में मदद करते हैं और उनके दिमागी विकास में भी उनकी सहायता करते हैं। एक रिसर्च में बच्चों में होने वाली बिमारियों को रोकने वाले 50% तत्व ब्राउन राइस में पाए गये।

यह भी पढ़े :- बच्चों को स्वस्थ्य रखने वाले 7 हेल्दी फूड।

कोलेस्ट्रॉल कम करे

पीसे हुए ब्राउन राइस में मौजूद तेल को कोलेस्ट्रॉल कम करने वाला माना जाता हैं। ब्राउन राइस में फाइबर होता हैं जो ख़राब कोलेस्ट्रॉल (LDL cholesterol) को कम करने में सहायता करता हैं।

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर

कई अध्यनों में यह पाया गया की ब्राउन राइस एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता हैं। इसमें फाइटोकेमिकल्स पाए जाते हैं जो शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने में आपकी मदद करते हैं।

अस्थमा से बचाए

ब्राउन राइस में मैग्नीशियम पाया जाता हैं जो अस्थमा के लक्षणों को कम करने में फायदेमंद होता हैं। इसलिए अस्थमा के मरीजों को ब्राउन राइस का सेवन जरूर ही करना चाहिए, इससे उनको अस्थमा की बीमारी में फायदा होगा। इसके अलावा ब्राउन राइस में सेलेनियम भी पाया जाता हैं जो अस्थमा को रोकने में मददगार हैं।

अच्छा तेल पाया जाता हैं

कई रिफाइंड में ब्राउन राइस आयल मिलता हैं। जी हाँ, ब्राउन राइस में काफी अच्छी मात्रा में तेल पाया जाता हैं जो बॉडी के लिए फायदेमंद होता हैं। इसमें पाए जाने वाले तेल से शरीर में फैट नहीं बढ़ता हैं और कोलेस्ट्रॉल भी कम होता हैं।

डायबिटीज में फायदेमंद

ब्राउन राइस में मैग्नीशियम पाया जाता हैं जिस वजह से डायबिटीज के मरीज़ इसे खा सकते हैं और उनके शुगर लेवल में भी कोई बढ़ोतरी नहीं होगी। ब्राउन राइस में 300 तरह के एंजाइम पाए जाते हैं जो बॉडी में ग्लूकोज़ और इंसुलिन की मात्रा को बनाये रखते हैं। हालाँकि इसमें कार्बोहायड्रेट भी पाए जाते हैं, लेकिन मधुमेह के रोगियों को ब्राउन राइस खाने से कोई नुकसान नहीं होता हैं। इसलिए अगर आपको डायबिटीज हैं तो आप सफ़ेद चावल की जगह ब्राउन राइस को बिना किसी डर के खा सकते हैं। ब्राउन राइस खाने के फायदे में यह सबसे अच्छा फायदा हैं।

ब्रेस्ट कैंसर से बचाए

ब्राउन राइस में फाइटोन्यूट्रीएंट्स और फाइबर पाए जाते हैं जो ब्रेस्ट कैंसर होने से बचाने में मदद करते हैं। उम्रदराज महिलाओं पर किये गये एक शोध से पता चला की ब्राउन राइस के सेवन से बॉडी में इंट्रोलेक्टोन का लेवल बढ़ता है, जिससे ब्रैस्ट कैंसर होने का खतरा काफी कम हो जाता हैं।

यह भी पढ़े :- ब्रेस्ट कैंसर से बचने के तरीके और उपाय।

पिताश्य की पथरी होने से बचाए

अमेरिकन जर्नल ऑफ़ गैस्ट्रोएंटरोलॉजी में प्रकाशित के रिपोर्ट के मुताबिक ब्राउन राइस वाले फाइबर युक्त अनाजो को खाने से महिलाओं में पिताशय की पथरी होने की सम्भावना काफी कम हो जाती हैं।

पेट के कैंसर से बचाए

ब्राउन राइस में फाइबर होता हैं जो आंत में कैंसर को रोकने वाले रसायनों को पैदा करता हैं, इस तरह यह पेट के कैंसर को रोकने में मदद करता हैं। इसके अलावा ब्राउन राइस में सेलेनियम होता हैं जो पेट के कैंसर होने के खतरे को कम करता हैं।

मोटापा कम करने में सहायक

अगर आप चावल खाना पसंद करते हैं और मोटापे से भी बचना चाहते हैं तो सफ़ेद चावल की जगह ब्राउन राइस का सेवन कीजिये। क्योंकि इस चावल को खाने से शरीर में फैट नहीं बढ़ता हैं और आपकी चावल खाने की इच्छा भी पूरी हो जाएगी। इस ब्राउन राइस को खाने से आपको एनर्जी भी मिलती हैं और आपको कमजोरी भी नहीं आती हैं। क्योंकि ब्राउन राइस में फाइबर की ज्यादा मात्रा होती हैं, इसलिए इसे खाने से पेट लम्बे समय तक भरा-भरा सा महसूस होता हैं और आप ज्यादा खाने (ओवर ईटिंग) से भी बच जाते हैं। एक रिसर्च में यह पाया गया की जिन महिलाओं ने ब्राउन राइस और फाइबर वाली चीजों को अपनी डाइट में शामिल किया, उन्हें अपने वज़न को नार्मल रखने में सफलता प्राप्त हुयी। इसलिए वज़न करने की सोच रहे हैं तो ब्राउन राइस को खाना शुरू कर दीजिये।

हड्डियाँ मजबूत बनाये

हड्डियों की मजबूत बनाये रखने में कैल्शियम जरूरी होता हैं। कैल्शियम के अवशोषण के लिए मैग्नीशियम की जरूरत पड़ती हैं। ब्राउन राइस में मैग्नीशियम पाया जाता हैं जो हड्डियों में कैल्शियम की मात्रा को बनाये रखने में मदद करता हैं। हमारे शरीर का 2/3 मैग्नीशियम हड्डियों में होता हैं। एक कप ब्राउन राइस से हमें दैनिक जरूरत का 21% मैग्नीशियम प्राप्त होता हैं। इसलिए अगर आप हड्डियों को मजबूत बनाना चाहते हैं तो ब्राउन राइस का सेवन जरूर करे।

नोट :- ब्राउन राइस खाने के फायदे सफ़ेद चावल के मुकाबले कंही ज्यादा हैं, लेकिन इसकी एक खामी यह हैं की इसे पकाने में सफ़ेद चवाल के मुकाबले ज्यादा समय लगता हैं। लेकिन अच्छे स्वास्थ्य के लिए इसे पकने में ज्यादा समय ही क्यों न लगे, आपको इसे अपनी डाइट में जरूर ही शामिल करना चाहिए।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...