मशरूम खाने के बेहतरीन फायदे..

Mushroom khane ke fayde. Benefits of Mushroom in Hindi.

रोम के लोग मशरूम को भगवान का वरदान मानते हैं। मशरूम पौष्टिक गुणों से भरा हुआ आहार हैं। इसमें एमिनो एसिड, मिनरल्स, विटामिन्स प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। मशरूम खाने के फायदे बहुत है। मशरूम की सब्जी न सिर्फ खाने में टेस्टी होती हैं, बल्कि सेहत के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद भी होती हैं। भारत में अब मशरूम की खेती काफी प्रचलित होती जा रही हैं। मशरूम का सेवन करके आप किसानो की मदद कर सकते हैं। क्योंकि मशरूम की खेती करने के लिए ज्यादा बड़े खेत की जरूरत नहीं होती हैं। किसान छोटे से खेत में शेड बना कर मशरूम उगा सकते हैं। मशरूम की कीमत बाज़ार में किसानो को काफी ज्यादा अच्छी मिलती हैं। आज के लेख में मशरूम खाने के लाभ जानेंगे। Health Benefits of Mushroom in Hindi.

सफेद मशरूम खाद्य कवक हैं जो स्पंजी होता हैं और देखने में यह फ़ूड मांस की तरह होता हैं। मशरूम को आम बोलचाल की भाषा में कुकुरमुत्ता या खुम्बा (खुम्बी) भी कहते हैं। लेकिन यह आम कुकुरमुत्ता नहीं होता हैं, बल्कि यह विशेष रूप से उगाई जाने वाली सब्जी हैं। सफेद मशरूम आपको बाज़ार में आसानी के साथ मिला जायेगा। आम तौर पर इसका इस्तेमाल सूप, सलाद और स्टिर फ्राईज में किया जाता हैं। मशरूम की कई प्रजातियाँ हैं जैसे की बटन मशरूम, शिटाके मशरूम और ऑएस्टकर मशरूम। भारत में सबसे ज्यादा उगाई जाने वाली मशरूम की किस्में वाइट बटन मशरूम और ऑयस्टर मशरूम हैं।

मशरूम में औषधीय गुण पाए जाते हैं। इसमें कैलोरी कम मात्रा में होती हैं और विटामिन बी ज्यादा मात्रा में पाया जाता हैं। मशरूम जिंक और पोटैशियम का भी अच्छा स्रोत हैं, जिससे शारीरिक क्रियाओं को बेहतर तरीके से करने में सहायता मिलती है। मशरूम के बारे में डॉक्टर्स तक भी यह मानते हैं की इसे खाने से स्वास्थ्य को ढेर सारे फायदे होते हैं। इससे हाई बी.पी. कण्ट्रोल में रहता हैं तो दूसरी ओर मोटापा भी दूर होता हैं। मशरूम को सुपरफूड भी माना गया हैं। मशरूम के फायदे जानने के बाद आप भी इसे अपनी डाइट में जरूर शामिल करेंगे।

मशरूम खाने से सेहत को होने वाले फायदे :-

■ डायबिटीज में फायदेमंद

डायबिटीज के मरीजों के लिए मशरूम काफी ज्यादा फायदेमंद फूड हैं। इसमें शुगर 0.5% और स्टार्च काफी कम मात्रा में होता हैं। मशरूम में विटामिन्स, फाइबर और मिनरल्स होते हैं। मशरूम मधुमेह के रोगियों को वह सभी तत्व प्रदान करता हैं जिनकी उन्हें जरूरत होती हैं। मशरूम में कार्बोहाइड्रेट, फैट और शुगर नहीं होती है, जो की मधुमेह के रोगियों के लिए हानिकारक हैं। सफेद मशरूम में नेचुरल इन्सुलिन और एंजाइम होते हैं जो भोजन में मौजूद शुगर और स्टार्च को तोड़ने का काम करते है। इसके अलावा इसमें क्रोमियम भी होता हैं जो ब्लड शुगर लेवल को कण्ट्रोल करता हैं। इसलिए डायबिटीज के पेशेंट को मशरूम जरूर खाना चाहिए।

जरूर पढ़े :- डायबिटीज के मरीजों को यह सब्जियां जरूर खानी चाहिए।

■ कैंसर से रक्षा करे

मशरूम को खाने से प्रोस्टेट कैंसर और ब्रेस्ट कैंसर से बचने में मदद मिलती हैं। इसमें Beta-Glucan और Conjugated Linolenic एसिड पाया जाता हैं, जो की Anti-Cariogenic इफ़ेक्ट छोड़ते हैं। जिससे कैंसर होने का ख़तरा काफी कम हो जाता हैं। कई सारी रिसर्च से यह साबित हो चूका हैं मशरूम में पाए जाने वाले तत्व कैंसर को रोकने का काम करते हैं। इसमें मौजूद लिनोलेनिक एसिड ओस्ट्रों जन की अधिकता से होने वाले साइड-इफेक्ट्स को कम करने का काम करते हैं।

■ वजन घटाने में मददगार

सफेद मशरूम में फाइबर ज्यादा मात्रा में होता हैं, जिससे पाचन क्रिया दुरुस्त बनती हैं और बॉडी का मेटाबोलिज्म ठीक रहता हैं। मशरूम में लीन प्रोटीन पाया जाता हैं जो वजन कम करने में मददगार हैं। मोटापा कम करने वाले लोगो को डाइट में प्रोटीन और फाइबर की ज्यादा मात्रा लेने की सलाह दी जाती हैं, इसके लिए मशरूम का सेवन करना एक अच्छा विकल्प हैं। यह मसल्स में जमे हुए एक्स्ट्रा चर्बी को बर्न करने में मदद करता हैं। मशरूम खा कर आप आसानी के साथ अपना वजन कम कर सकते हैं।

■ इम्यून सिस्टम मजबूत बनाये

मशरूम में एरगोथिओनेईन नामक एक पावरफुल एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता हैं, जिससे बॉडी का इम्यून सिस्टम मजबूत बनता हैं। मशरूम का सेवन करने से बॉडी में एंटी-वायरल और अन्य प्रोटीन की मात्रा बढ़ती हैं, जिससे बॉडी सेल्स रिपेयर होते हैं। यह एक नेचुरल एंटी-बायोटिक भी हैं जो माइक्रोबियल और दुसरे फंगल इन्फेक्शन से छुटकारा दिलाता हैं।

■ मेटाबोलिज्म तेज़ बनाये

मशरूम विटामिन बी का बढ़िया स्रोत हैं। जो भोजन को ग्लूकोज में परिवर्तित करके एनर्जी पैदा करता हैं। इसमें पाए जाने वाले विटामिन बी-2 और बी-3 बॉडी के मेटाबोलिज्म को बेहतर बनाते हैं।

■ दिल के लिए फायदेमंद

मशरूम में हाई न्यूट्रीएंट्स पाए जाते हैं जो दिल के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद हैं। इसके अलावा मशरूम में कई तरह के मिनी-एंजाइम और फाइबर भी पाए जाते हैं, जिससे बॉडी के कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में मदद मिलती हैं। मशरूम का सेवन नियमित रूप से करने से दिल की बीमारियाँ होने का खतरा काफी कम हो जाता हैं।

■ हीमोग्लोबिन लेवल ठीक रखे

मशरूम का सेवन करने से हीमोग्लोबिन लेवल सही बना रहता हैं। इसमें फोलिक एसिड अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं जो शरीर में खून की कमी नहीं होने देते हैं। सफेद मशरूम में कॉपर पाया जाता है जो भोजन से आयरन को अवशोषित करने की क्रिया को उत्तेजित करता हैं। इसके अलावा मशरूम में आयरन भी पाया जाता हैं। इसलिए यह दोनों मिनरल्स एक साथ मिल कर हड्डियों को मजबूत बनाते ही हैं साथ ही शरीर में खून की कमी भी दूर करते है। मशरूम का सेवन करने से एनीमिया की बीमारी से बचने में मदद मिलती हैं।

जरूर पढ़े :- हीमोग्लोबिन बढ़ाने के नेचुरल तरीके, घरेलु नुस्खे और उपाय।

■ कुपोषण से बचाता है

सभी उम्र के लोगो को मशरूम का सेवन जरूर करना चाहिए। इसमें प्रोटीन, विटामिन्स, मिनरल्स पाए जाते हैं जो मनुष्य को कुपोषण से बचाए रखते हैं।

■ हड्डियाँ मजबूत बनाये

इसमें भरपूर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता हैं। जिससे हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद मिलती हैं। नियमित रूप से मशरूम खाने से जोड़ो का दर्द, ऑस्टियोपोरोसिस और हड्डियों से जुड़ी बीमारियाँ होने का ख़तरा काफी ज्यादा कम हो जाता हैं।

■ सेलेनियम का बढ़िया सोर्स

वेजेटेरियन लोगो के लिए सफेद मशरूम सेलेनियम का बेहतरीन सोर्स हैं। सेलेनियम हड्डियों में सुधार लाता हैं और दांत, बाल और नाखून को मजबूत बनाता हैं।

■ ट्यूमर को बढ़ने से रोके

मशरूम में क्यूनाइड, लेंटीनिन, कालवासिन, क्षारीय एवं अम्लीय प्रोटीन होता हैं जो शरीर में ट्यूमर को बनने से रोकती हैं। इसमें 22 से 35% तक प्रोटीन पाया जाता हैं जो पौधे से प्राप्त होने प्रोटीन से कंही ज्यादा हैं। साथ ही इसमें शाक-भाजी और एनिमल प्रोटीन दोनों में से मध्यम स्तर का प्रोटीन पाया जाता हैं। मशरूम में क्युनान, प्युरिन, टरपेनाइड, पायरीमिडीन जैसे तत्व होते हैं जो जीवाणुरोधी क्षमता बढ़ाते हैं।

■ ब्लड प्रेशर कम करे

वाइट मशरूम पोटैशियम का अच्छा स्रोत हैं जो की वासोटिलेटर की भाँती काम करता हैं और रक्त कोशिकाओं पर प्रेशर को कम करता हैं। इससे ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद मिलती हैं। पोटैशियम मेंटल कैपेसिटी को बढ़ाने का भी काम करता हैं। यह ब्रेन में खून और ऑक्सीजन की सप्लाई को बढ़ा कर उसकी न्यूरल एक्टिविटी को तेज़ बनाता हैं।

■ पेट की बीमारियाँ दूर करे

फ्रेश मशरूम में उचित मात्रा में रेशे (तकरीबन 1%) होते हैं। मशरूम का सेवन करने से कब्ज़, अपचन, अति-अम्लता समेत पेट के कई प्रकार की बिमारियों से बचने में मदद मिलती है। इसके सेवन से बॉडी में कोलेस्ट्रॉल और शुगर का अवशोषण कम होने लगता हैं।

■ कोलेस्ट्रॉल लेवल कम

इसमें प्रोटीन ज्यादा मात्रा में होता हैं जो कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने से रोकता हैं। इसमें फाइबर और कई तरह के एंजाइम पाए जाते है जो कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मददगार हैं। इसमें पाया जाने वाला प्रोटीन बॉडी में जमा एक्स्ट्रा फैट और कोलेस्ट्रॉल को कम करने का काम करता हैं।

जरूर पढ़े :- ख़राब कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने के लिए क्या खाना चाहिए?

■ विटामिन बी-2 और बी-5 से समृद्ध

मशरूम को अपनी डाइट में शामिल करने से विटामिन बी काम्प्लेक्स, विटामिन बी-2 और विटामिन बी-5 की प्राप्ति होती हैं। यह दोनों पोषक तत्व हैं जो तत्वम कोशिकाओं से एनर्जी बनाने वाले एंजाइम्स को क्रियाशील बनाते हैं। विटामिन बी-2 लीवर को सही तरह से काम करने में सहायता करता हैं और विटामिन बी-5 हॉर्मोन्स को बैलेंस में रखता हैं।

■ एंटीऑक्सीडेंट का भण्डार

वाइट मशरूम में कई प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। यह एंटीऑक्सीडेंट अनुवांशिक बिमारियां होने की संभावना को काफी कम कर देते है। इसमें एरगोस्टेसरॉल्सय नामक एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता हैं जो शरीर को कई तरह की खतरनाक बिमारियों से बचाए रखता हैं।

जरूरी सावधानी :-

जैसा की मशरूम को खाने से लेकर कुछ जरूरी सावधानियों का ध्यान रखने की जरूरत हैं। वरना मशरूम से फायदे होने की बजाये मशरूम खाने से नुकसान हो सकता हैं। आइये जानते हैं ऐसे कौन सी बातों का ध्यान रखना जरूरी हैं।

1. पुरानी, बासी या उचित टेम्परेचर पर नहीं रखे गये मशरूम का सेवन करने से फूड पोइजनिंग की समस्या हो सकती हैं। इसलिए हमेशा ताज़े मशरूम का ही सेवन करना चाहिए। साथ ही बाज़ार में से किसी अच्छी विश्वसनीय दूकान से भी मशरूम खरीदना चाहिए।

2. मशरूम को ज्यादा मात्रा में नहीं खाना चाहिए। क्योंकि इसे ज्यादा मात्रा में खाने से कुछ लोगो को एलर्जी की समस्या भी हो सकती हैं। हालाँकि की ऐसे मामले काफी दुर्लभ होते हैं। अगर आप मशरूम खाना शुरू कर रहे हैं तो पहले कम मात्रा में खाए, एलर्जी नहीं होती हैं तो आप इसे ज्यादा खा सकते है।

3. कभी भी कच्चा मशरूम नहीं खाना चाहिए। क्योंकि मशरूम की कुछ प्रजातियाँ ऐसी हैं जो ज़हरीली होती हैं। कच्ची मशरूम को खाने से आपको एलर्जी समेत अस्थमा की बीमारी भी हो सकती हैं। इसलिए मशरूम को हमेशा पका कर ही खाए।

जरूर पढ़े :- इन चीजों को कभी भी कच्चा नहीं खाना चाहिए।

4. कई बार खाने वाली मशरूम और जंगली मशरूम में फर्क करना मुश्किल हो जाता हैं। अगर आपने जंगली मशरूम का सेवन कर लिया तो यह आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता हैं। जंगली मशरूम को खाने से आपको कोई बीमारी हो सकती हैं या फिर आपकी मृत्यु तक भी हो सकती हैं। जंगली मशरूम का सेवन करने से गठिया, अस्थमा और ल्यूप्स जैसी बीमारियाँ हो सकती है।

5. गर्भवती महिलाओं, नर्सिंग महिलाओं और छोटे बच्चों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

One thought on “मशरूम खाने के बेहतरीन फायदे..

Comments are closed.