मिर्गी की बीमारी दूर करने के उपाय और घरेलु तरीके जानिए।

मिर्गी की बीमारी से राहत पाने के तरीके और उपाय

मिर्गी की बीमारी कोई अनुवांशिक बीमारी नहीं है, न ही यह ज्यादा टेंशन लेने के कारण दिमाग पर ज्यादा जोर देने की वजह से होती हैं। मिर्गी की बीमारी किसी भी बीमारी में किसी को भी हो सकती हैं। वैसे तो मिर्गी का उपचार करने के लिए डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए और डॉक्टर द्वारा बताई गयी दवाइयों को सही टाइम पर लेते रहना चाहिए। मनुष्य का दिमाग कई ट्रिलियन तंत्रिका कोशिकाओं से बना हुआ हैं। ब्रेन के सभी कोषों में एक विद्युतीय प्रभाव होता हैं, जो नाड़ियों के जरिये प्रभावित होता हैं। यह सभी सेल्स विद्युतीय नाड़ियों के जरिये आपस में तालमेल बनाये रखते हैं।

लेकिन कभी कभी दिमाग में असामान्य रूप से विद्युतीय संचार होने से मनुष्य को एक खास किस्म का झटका लगता हैं, जिससे उसे बेहोशी आ जाती हैं। यह बेहोशी कुछ सेकंड से लेकर 5 मिनट तक हो सकती हैं, इसे ही मिर्गी की बीमारी कहा जाता हैं। आइये मिर्गी की बीमारी से राहत पाने वाले कुछ उपयोगी उपाय और घरेलु नुस्खे के बारे में जानते हैं।

मिर्गी रोग से आराम दिलाने वाले घरेलु नुस्खे, उपाय और तरीके :-

■ नियमित रूप से योग करे

योग करने से तन और मन दोनों ही शांत हो जाते हैं। इससे दिमाग की टेंशन दूर होती है। योग करने के साथ ध्यान करने की भी सलाह दी जाती हैं। मिर्गी की बीमारी में नाड़ी शोधन, शीर्षासन, बालासन, चमत्कारआसन और कपोतासन करने से फायदा होता हैं।

■ कुष्मांड का जूस पिए

कुष्माण्ड (पेठा सब्जी) औषधीय गुणों और पोषक तत्वों से भरा हुआ हैं। जिससे नर्वस सिस्टम हेल्दी बनता हैं और दिमाग की नसों बेहतर तरीके से काम करती हैं। प्रतिदिन सुबह खाली पेट आधा गिलास कुष्माण्ड (कुम्हड़ा) का जूस पीने से मिर्गी की बीमारी से निजात मिलती हैं।

जरूर पढ़े :- पेठा खाने के फायदे।

■ नारियल के तेल का प्रयोग करे

इसमें फैटी एसिड पाए जाते हैं जो ब्रेन सेल्स को एनर्जी देते हैं। दिन भर में 3 बार एक चम्मच एक्स्ट्रा वर्जिन कोकोनट ऑयल का सेवन करने से फायदा होता हैं। भोजन पकाने के लिए भी नारियल के तेल का इस्तेमाल करे।

■ एक्यूपंचर करवाए

प्राचीन चीनी चिकित्सा पद्धति में मिर्गी के रोग के उपचार हेतु एक्यूपंचर का इस्तेमाल किया जाता हैं। एक्यूपंचर मे पुरे शरीर में सूई चुभो दी जताई हैं, जिससे एनर्जी पुरे बॉडी में प्रभावित हो सके। इससे दिमाग के काम करने की क्षमता बढ़ जाती हैं और मिर्गी रोग से छुटकारा मिलता हैं।

■ नींबू भी हैं फायदेमंद

नींबू के सेवन से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर बनता हैं और ब्रेन में खून की सप्लाई अच्छी तरह से होता हैं। इससे ब्रेन बढ़िया तरीके से काम करता हैं। एक गिलास पानी में 2 चम्मच नींबू का रस और आधा चम्मच बेकिंग सोडा मिला कर सोने से पहले पीना चाहिए।

■ विटामिन्स के टेबलेट खाए

विटामिन ई दिमाग को रिलैक्स करता हैं। साथ ही विटामिन बी की गोली खाने से मिर्गी की बीमारी दूर होती हैं। इसके अलावा दुसरे विटामिन्स जैसे की विटामिन बी-6, बी-12 और विटामिन डी भी फायदेमंद है।

■ एक्सरसाइज करे

डेली एक्सरसाइज करने से ब्रेन में ख़ुशी पैदा करने वाले हॉर्मोन्स रिलीज होते हैं। जिससे ब्रेन में ऑक्सीजन की सप्लाई ज्यादा होती हैं। इसके लिए स्ट्रेचिंग और वार्मअप जरूर करे। साथ ही रोजाना 45 मिनट की सैर भी करे। आप चाहे तो स्विमिंग भी कर सकते हैं।

■ लहसुन भी हैं कारगर

लहसुन एंटी-इन्फ्लेमेंट्री और एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरा हुआ हैं। जो बॉडी से फ्री रेडिकल्स को नष्ट करता हैं। इससे नर्वस सिस्टम मजबूत बनता हैं। मिर्गी के इलाज के लिए आप आधा कप पानी और आधा कप दूध मिला कर उबालिए और इसमें 4-5 लहसुन की कलियाँ कूच कर डालिए। इसे तब तक उबाले, जब तक यह आधा न रह जाये, फिर इसे छान कर पी जाये। इसे रोजाना पीने से मिर्गी रोग में लाभ मिलता हैं।

जरूर पढ़े :- लहसुन की चाय पीने से होते हैं गजब के फायदे।

इन टिप्स को भी अपनाए :-

1. टेंशन से दूर रहने की कोशिश करे और हमेशा खुश रहे।

2. मैग्नीशियम और कैल्शियम से भरपूर आहार का सेवन जरूर करे।

3. सुबह का नाश्ता (ब्रेकफास्ट) जरूर करे।

4. रोजाना आधा गिलास अंगूर का रस पीने से भी फायदा होगा।

5. मैदे से बने आहार, चीनी, नमक, चावल आदि को खाने से बचे।

6. स्मोकिंग और शराब आदि से परहेज़ करे।

7. रोजाना अच्छी नींद लेनी भी जरूरी हैं।







अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *