मुहांसे कण्ट्रोल करने के उपयोगी और आसान टिप्स।

मुहांसे कण्ट्रोल करने के उपयोगी और आसान टिप्स।

मुहांसे होने से न सिर्फ आपकी खूबसूरती में कमी आती हैं, बल्कि इससे आपका सेल्फ-कॉन्फिडेंस भी कम हो जाता हैं। इसलिए पिम्पल्स को कण्ट्रोल में रखने की जरूरत हैं। आइये मुहांसे को नियंत्रण में रखने वाले कुछ उपयोगी टिप्स के बारे में जानते हैं।

मुहांसे होने की वजह हमारे स्किन की तेल ग्रन्थि होती हैं, जब तेल ग्रंथि से ज्यादा तेल निकलने लगता है। और स्किन से निकलने वाले इस ऑयल को रोम छिद्र (पोर्स) में हेयर फोलिकल के जरिये जब रोक दिया जाता हैं तो बालों के रोम के भीतर बैक्टीरिया पनपने लगते हैं, जिससे चेहरे पर पिम्पल हो जाते हैं।

मुहांसे को कण्ट्रोल करने के कुछ टिप्स और उपाय :-

पिम्पल्स को कण्ट्रोल करने के लिए एक अच्छी खुराक लेने की जरूरत हैं। ऐसे में यह जान लेना भी जरूरी हैं की कौन सी चीजों को खाने से मुहांसे ज्यादा होते हैं। एक हेल्दी डाइट स्किन पर होने वाले मुहांसों को कण्ट्रोल करने के लिए स्किन से निकलने वाले तेल के लेवल को कम करता हैं। सही खान पान आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते हैं, जिससे स्किन में बैक्टीरिया आदि आसानी से पनप नहीं पाते हैं।

फ़ास्ट फ़ूड को अलविदा कहे

फ़ास्ट फूड जिसे जंक फूड भी कहा जाता हैं, सेहत के नजरिये से वैसे भी हानिकारक ही होते हैं। लेकिन अगर आपको मुहांसे की समस्या हैं तो यह और भी ज्यादा नुकसान पहुचाते हैं। क्योंकि फ़ास्ट फूड में न्यूट्रीएंट्स काफी कम मात्रा में होते हैं। इसके अलावा इसमें कैलोरी भी ज्यादा होती हैं। इसलिए जब आप जंक फ़ूड को खाते हैं तो हमारा शरीर इसमें पाए जाने वाले ज़हरीले तत्वों को पचा नहीं पाता हैं। जिससे हमारे शरीर को नुकसान होने के साथ ही स्किन को भी काफी नुकसान होता हैं।

कब्ज़ होने से बचे

एक्ने दूर करने के लिए सबसे जरूरी यह हैं की आपका पेट साफ होना चाहिए। आप कब्ज़, गैस जैसी समस्याओं से पीड़ित हैं तो मुहांसे भी आपको परेशान करने लगते हैं। इसलिए कब्ज़ को दूर करने के लिए अपने भोजन में फाइबर वाले आहार जरूर शामिल करे।

खूब सारा पानी पीजिये

पानी हमें जीवित रहने में मदद करता हैं। यह हमारे शरीर के लिक्विड इलेक्ट्रोलाइट को बैलेंस करता हैं। जो की भोजन से न्यूट्रीएंट्स को सोखने के लिए जरूरी होता हैं। पानी पीने से शरीर से विषैले तत्व पेशाब और पसीने के जरिये बाहर निकल जाते हैं। इसलिए पिम्पल्स को कण्ट्रोल करने के लिए दिन में खूब सारा पानी पीना चाहिए।

मिठाई और चॉकलेट न खाए

मिठाई और चॉकलेट में काफी कैलोरी पाई जाती हैं। इन्हें खाने से स्किन से और भी ज्यादा मात्रा में ऑयल निकलने लगता हैं। इसलिए अच्छा यही होगा की आप चॉकलेट और मिठाई न खाए। मिठाइयों और चॉकलेट से दूरी बना कर आप पिम्पल को कण्ट्रोल कर सकते हैं।

ताज़े फल और सब्जियां खाए

मुहांसों को नियंत्रण में रखने के लिए फ्रेश फ्रूट्स और वेजिटेबल का सेवन करना चाहिए। क्योंकि ताज़े फलों एवं सब्जियों में विटामिन्स और मिनरल्स ज्यादा मात्रा में होते हैं। इनसे स्किन ग्लोइंग और हेल्दी बन जाती हैं। रिसर्च यह बताते हैं की विटामिन ए और जिंक हमारे स्किन के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद रहते हैं।

अंकुरित अनाज खाए

अंकुरित अनाज में फाइबर और प्रोटीन काफी अच्छी मात्रा में होता हैं। इसमें पाया जाने वाला वेजीटेरियन प्रोटीन आसानी से हजम हो जाता हैं और यह एक्ने को कण्ट्रोल भी करता हैं।

यह भी जरूर पढ़े :- अंकुरित अनाज यानि स्प्रोउट खाने  खाने के फायदे।

अच्छी जीवनशैली को अपनाए

अपनी दैनिक जीवनशैली को हेल्दी बनाइए, इसके लिए आप रोजाना कसरत करे, योग करे, प्राणायाम करे, मैडिटेशन आदि करे। इसके अलावा स्ट्रेस, टेंशन और डिप्रेशन जैसी समस्याओं से दूर रहे। आपको एक अच्छी नींद लेनी भी जरूरी हैं। अच्छी नींद लेकर आप डिप्रेशन और स्ट्रेस को दूर कर सकते हैं। जिससे हेल्दी स्किन प्राप्त होती हैं और आपको मुहांसों से निजात मिलती हैं।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

लेज़र से बाल हटाने के बारे में जानकारी.
आखों के नीचे डार्क सर्कल (काले घेरे) को हटाने के उपाय और तरीके।
करी पत्ता (मीठी नीम) के फायदे.
चिरौंजी खाने के फायदे और इसके घरेलु नुस्खे और उपाय।
जानिए गुलाब जल के 5 ऐसे फेसपैक जो चेहरे से ख़त्म करते हैं मुहांसे।
मसूड़ो की सूजन दूर करने के घरेलु नुस्खे और उपाय।
आँखों की थकान दूर करने के उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय
घर में ही गुलाब जल बनाने का तरीका (विधि) जानिए।
जानिए गर्मियों के दिनों में धूप का चश्मा (सनग्लासेज) क्यों पहनना जरूरी हैं।
आँखों की सूजन दूर करने के उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय।
जानिए केले से बने हुए विभिन्न स्क्रब जो स्किन की रंगत को निखारते हैं।
पैडीक्योर कितनी प्रकार का होता हैं और इसके क्या फायदे हैं?