मेहँदी के घरेलु नुस्खे और फायदे जानिए.

Heena (Mehandi) se hone wale fayde.

मेहँदी हाथो को सुन्दर बना कर आपकी खूबसूरती में चार चाँद लगा देती हैं. शादियों के दिनों में मेहँदी का खूब इस्तेमाल होता हैं. कई जगह तो मेहँदी लगाने की रस्म भी होती हैं. लेकिन क्या आपको मेहँदी के घरेलु नुस्खे और उससे होने वाले फायदे के बारे में पता हैं. नहीं पता हैं तो जानिए इस लेख में की मेहँदी हमें कैसे कैसे स्वास्थ्यवर्धक फायदे देती हैं. मेहँदी को हीना भी कहते हैं.

मेहन्दी एक ऐसा कुदरती पौधा हैं, जिसके पत्तो, फूलो, बीजो और छाल में औषधिय गुण पाए जाते हैं. त्योहारों और उत्साओ के पहले दिन सुहागिन स्त्रियो के लिए हथेलियो पर मेहन्दी का श्रिंगार, सुंदरता और सौम्यता का पर्तीक माना जाता हैं. प्राचीन काल से हथेलियो पर मेहन्दी लगाने की प्रथा रही हैं. आयुर्वेदिक ग्रंथो में इसके रोग-निवारक गुणों की महिमा का वर्णन मिलता हैं.

सच पूछिए तो मेहन्दी सौंदर्या में चार चाँद लगा देती हैं. किसी दुल्हन के श्रृंगार मेहन्दी के बगैर अधूरा ही लगता हैं. शादी ही नही, बल्कि राखी, तीज, होली, ईद, दीपावली और करवा चौथ जैसे कई महत्वपूर्ण त्योहारो पर मेहन्दी लगाना सुंदर और शुभ माना जाता हैं. मेहन्दी जहा हथेली और बालो की सुंदरता को निखारती हैं, वही स्वास्थ्य के लिए भी बहुत लाभकारी हैं. आइए जानते हैं मेहन्दी के फायदे के बारे में :-

मेहन्दी के उपयोग और नुस्खे

1. मेहन्दी के पत्तो में ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जिनसे खाने को खराब करने वाले बैक्टीरिया ख़त्म हो जाते हैं, इसलिए हाथो पर मेहन्दी लगाने से बैक्टीरिया भोजन पर कोई प्रभाव नही डाल पाते हैं.

2. हाई ब्लड प्रेशर के रोगियो के तलवे और हथेलियो पर मेहंदी का लेप समय-समय पर लगाना फायदेमंद होता हैं. इससे अनिद्रा दूर हो कर ब्लड प्रेशर नॉर्मल होने लगता हैं.

3. ताज़ा हरी पत्तियो को पानी के साथ पीस कर शरीर पर लेप करने से अधिक लाभ होता हैं. इससे गर्मी की जलन से आराम मिलता हैं. तलवो पर लेप करने से नकसीर बंद हो जाती हैं.

4. मेहन्दी के फूल उत्तेजक, दिल को शक्ति देने वाले होते हैं. इसका काढ़ा हार्ट की सेफ्टी के लिए और नींद लाने के लिए उपयोग किया जाता हैं.

5. मेहन्दी के बीजो का उपयोग बुखार और मानसिक रोगो के लिए किया जाता हैं. खूनी दस्त में भी मेहन्दी के बीजो का इस्तेमाल किया जाता हैं.

6. मेहन्दी की छाल का प्रयोग पीलिया, बढ़े हुए जिगर और तिल्ली, पथरी, जलन, कुष्ठ रोग और चर्म रोगो में किया जाता हैं.

7. मेहन्दी के पत्ते सिरदर्द, खाँसी, जुकाम, खुजली, कुष्ट रोग, नेत्र, तिल्ली और मासिक धर्म संबंधी रोगो में लाभकारी होते हैं.

8. मेहन्दी के पाउडर में ज़रा सा नींबू का रस मिला कर हाथो और पैरो के नाखूनो पर इसका लेप करने से नाखूनो का खुरदुरापन ख़त्म हो कर उनमे चमक आ जाती हैं. पैरो में जलन और एडियों के फटने पर यह लेप फायदेमंद होता हैं.

9. जली हुई या छाले पड़ी हुई जगह पर मेहन्दी का चूरन शहद में मिला कर तुरंत लगा देने से राहत मिलती हैं.

10. मूह के छालों और गले की सूजन में मेहन्दी के पत्तो के काढ़े से कुल्ला करने से लाभ होता हैं. मेहन्दी के पत्तो के जूस को मिश्री के साथ मिला कर पीने से पेशाब साफ आता हैं.







अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *