मैग्नीशियम की कमी के नुकसान और यह किसमें सबसे ज्यादा पाया जाता हैं?

मैग्नीशियम की कमी के नुकसान और यह किसमें सबसे ज्यादा पाया जाता हैं?

ज्यादातर लोग मैग्नीशियम के गुणों के बारे में नहीं जानते हैं। मैग्नीशियम आपके शरीर को सुचारू रूप से चलाने के लिए जरूरी होता हैं। मैग्नीशियम एक ऐसा रसायन हैं तो आपके शरीर के लिए बहुत ही अवश्यक हैं। शरीर के 50% से भी ज्यादा मैग्नीशियम आपकी हड्डियों में पाया जाता हैं। इससे बॉडी की इम्यून सिस्टम मजबूत रहता हैं और आपको अंदरूनी रूप से शक्ति मिलती हैं। इसकी कमी के चलते आपको कई सारी स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं।

वैसे मैग्नीशियम की अधिकता के कारण आपको डायरिया जैसी समस्या हो सकती हैं। लेकिन इसकी कमी शरीर के लिए खतरनाक ही होता हैं। आइये जानते हैं की मैग्नीशियम की कमी से शरीर को क्या-क्या नुकसान होते हैं? मैग्नीशियम सबसे ज्यादा किन खाद्य पदार्थ या फ़ूड में पाया जाता हैं? इसके उच्चतम स्रोत यानि सोर्स क्या हैं? मैग्नीशियम की कमी को पूरा करने के लिए क्या खाना उचित रहेगा?

मैग्नीशियम की कमी के नुकसान (Side-effects of Lack of Magnesium in Hindi.) :

सिरदर्द और अनिद्रा की शिकायत होना

मैग्नीशियम की कमी के कारण आपको सिरदर्द, अनिंद्र और डिप्रेशन की समस्या हो सकती हैं। इसके अलावा मानसिक रोगों से बचाने में मैग्नीशियम आपकी सहायता करता हैं। इसलिए टेंशन और डिप्रेशन से बचने के लिए मैग्नीशियम शरीर के लिए बहुत ही जरूरी हैं। मानसिक स्वास्थ्य को बनाये रखने के लिए मैग्नीशियम से भरपूर चीजों का सेवन जरूर करे।

दिल की बीमारियाँ होना

मैग्नीशियम दिल के लिए बहुत ही लाभकारी होता हैं। इसके सेवन से कोर्नरी हार्ट डिसीज से बचाव होता हैं। अगर आपके शरीर में मैग्नीशियम की कमी हो गयी हैं तो आपको हार्ट अटैक होने की सम्भावना काफी बढ़ जाती हैं। इसलिए दिल को स्वस्थ्य रखने के लिए मैग्नीशियम से भरपूर आहार का सेवन जरूर करे।

याददाश्त कमजोर होना

अगर आपके भोजन में मैग्नीशियम की कम मात्रा होती हैं तो आपकी याददाश्त कमजोर होने लगती हैं। अगर आप अपनी याददाश्त को बढ़ाना चाहते हैं तो अपने भोजन में मैग्नीशियम की मात्रा को बढ़ाये। मैग्नीशियम ब्रेन सेल्स से लेकर शरीर के सभी सेल्स को सही ढंग से काम करने के लिए जरूरी होता हैं। इसलिए ब्रेन मेमोरी पॉवर बढ़ाने के लिए मैग्नीशियम से भरपूर फलो और सब्जियों का सेवन जरूर करना चाहिए।

प्रेगनेंसी पीरियड में जरूरी हैं मैग्नीशियम

प्रेग्नेंट महिला और उसके होने वाले बच्चे के लिए मैग्नीशियम बहुत ही जरूरी होता हैं। प्रेग्नेंट महिला के होने वाले बच्चे के बॉडी सेल्स की मुरम्मत के लिए 350-400 मिग्रा एक्स्ट्रा मैग्नीशियम की जरूरत होती हैं। अगर प्रेगनेंसी पीरियड में मैग्नीशियम की कमी हो जाये तो गर्भ में पल रहे भ्रूण के विकास में रुकावट आती हैं।

ऑस्टियोपोरोसिस होने का ख़तरा

अगर आपके शरीर में मैग्नीशियम की कमी हो जाये तो आपकी हड्डियाँ कमजोर होने लगती हैं। जिससे आपको ऑस्टियोपोरोसिस होने का खतरा काफी बढ़ जाता हैं। शरीर में सबसे ज्यादा मैग्नीशियम हड्डियों में ही पाया जाता हैं। कई रिसर्च में यह पाया गया की मैग्नीशियम हड्डियों को ऑस्टियोपोरोसिस होने से बचाता हैं।

डायबिटीज होने का खतरा

एक रिसर्च से यह पता चला हैं की अगर शरीर में मैग्नीशियम की कमी हो जाती हैं तो आपको टाइप 2 डायबिटीज होने की सम्भावना काफी बढ़ जाती हैं। इसलिए डायबिटीज जैसी खतरनाक बीमारी से बचने के लिए मैग्नीशियम से भरपूर फ़ूड का सेवन जरूर करते रहना चाहिए।

हाइपरटेंशन का खतरा

मैग्नीशियम ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल करने का काम करता हैं। जिससे यह आपको हाइपरटेंशन होने से बचाता हैं। इसलिए ब्लड प्रेशर को सही बनाये रखने के लिए फ्रेश फल और हरी सब्जियां खानी चाहिए।

आइये जानते हैं की मैग्नीशियम सबसे अधिक किन खाद्य पदार्थो में पाया जाता हैं? मैग्नीशियम की कमी को पूरा करने के लिए क्या खाना चाहिए? Best source of Magnesium in Hindi.

मैग्नीशियम के उच्चतम स्रोत :-

काजू

काजू में कार्बोहाइड्रेट्स के अलावा मैग्नीशियम बहुत ही प्रचुर मात्रा में पाया जाता हैं। जो शरीर को स्वस्थ्य बनाये रखने में मदद करता हैं।

यह भी पढ़े :- काजू खाने के फायदे और नुकसान के बारे में जानिए।

बादाम

एक बार सिर्फ बादाम का सेवन करने से आपको 75 मिग्रा मैग्नीशियम की प्राप्ति होती हैं। इसलिए शाम के समय रोजाना 5 बादाम भिगो को जरूर खाना चाहिए।

एवाकाडो

एवाकाडो में कई प्रकार के विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं जो दिल को स्वस्थ्य रखते हैं। एवाकाडो का सैंडविच बना कर खाने से शरीर को ढेर सारा मैग्नीशियम मिलता हैं।

पीनट बटर

पीनट बटर यानि की मूंगफली के मक्खन के सिर्फ 1 चम्मच लगभग 22 मिग्रा मैग्नीशियम पाया जाता हैं। इसलिए सुबह के नाश्ते में पीनट बटर का सेवन जरूर करना चाहिए।

डार्क चॉकलेट

डार्क चॉकलेट में भरपूर मात्रा में मैग्नीशियम पाया जाता हैं। इसलिए डार्क चॉकलेट को हफ्ते में 2 बार जरूर खाना चाहिए।

मछली

मछली में मैग्नीशियम प्रचुर मात्रा में होता हैं। इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड भी पाया जाता हैं। इसलिए हफ्ते में कम से कम 1 बार मछली जरूर खानी चाहिए।

सोया बीन

सोयाबीन में प्रोटीन, मैग्नीशियम और विटामिन भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। सूखे सोयाबीन को भिगो कर अंकुरित करके खाने से मैग्नीशियम ज्यादा मात्रा में प्राप्त किया जा सकता हैं।

अंजीर

अंजीर को खाने से शरीर को पर्याप्त मात्रा में मैग्नीशियम की प्राप्ति होती हैं।

अनाज

सुबह के नाश्ते में अनाज या स्प्रोउट खाने से शरीर को मैग्नीशियम की प्राप्ति होती हैं। इसके अलावा नाश्ते में दलिया खाने से भी मैग्नीशियम मिलता हैं।

दही

दही के सेवन से मैग्नीशियम और कैल्शियम दोनों ही प्राप्त होते हैं। इससे शरीर को कोई नुकसान भी नहीं होता हैं और हड्डियाँ मजबूत बनती हैं।

पालक

पालक को कच्चा या पका कर दोनों तरह से खाने से आयरन के साथ ही मैग्नीशियम की भी प्राप्ति होती हैं।

कद्दू के बीज

कद्दू के बीज में मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं। इसे आप शाम के वक़्त चाय के साथ खा सकते हैं।

कोकोआ

10 ग्राम कोकोआ में 52 मिग्रा मैग्नीशियम पाया जाता हैं। इसलिए कोकोआ का सेवन करे और मैग्नीशियम की कमी को दूर करे।

स्ट्रॉबेरी

स्ट्रॉबेरी बहुत ही टेस्टी और रसीला फल हैं। यह शरीर को मैग्नीशियम के साथ ही स्टैमिना भी देता हैं। इसके सेवन से शरीर मजबूत बनता हैं। इसलिए हफ्ते में 4 दिन स्ट्रॉबेरी का सेवन जरूर करना चाहिए।

केला

केले में पोटैशियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता हैं। इसमें मैग्नीशियम भी 30 मिग्रा पाया जाता हैं, जो शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता हैं।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

One thought on “मैग्नीशियम की कमी के नुकसान और यह किसमें सबसे ज्यादा पाया जाता हैं?

  1. sanzar

    Megnisiyam kis me paya jata hai
    A.clorofil
    B.Lal rakt kar me
    C.varlavak me

Comments are closed.