योग करने से क्या लाभ होते हैं?

yog karne ke fayde

Yoga karne ke fayde.  Benefits of  Yoga in Hindi. भारतीय दर्शन में योग का महत्वपूर्ण स्थान है। योग सिर्फ कुछ आसन नहीं हैं, बल्कि ये एक दूसरे को आपस में जुड़ने का आधार देता है। योग के जरिए हम बाह्य शुद्धिकरण के साथ-साथ आंतरिक शुद्धि भी कर पाने में समर्थ होते हैं। इसके जरिए ऊर्जा को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। आइए जानने की कोशिश करते हैं आज की तनावभरी जिंदगी से छुटकारा पाने में योग किस तरह मदद कर सकता है।

स्वस्थ तन, स्वस्थ मन और स्वस्थ समाज

आप सही मायने में तभी स्वस्थ हैं, जब तन और मन दोनों स्वस्थ हो। व्यक्तित्व के पूर्ण विकास के लिए शारीरिक और भावनात्मक रूप से स्वस्थ होना बेहद ही जरूरी है। स्वस्थ होने का मतलब सिर्फ निरोग होना ही नहीं है। ये एक गतिशील प्रणाली है। जो एक इनसान के जीवन चक्र के साथ चलती रहती है।


वजन पर नियंत्रण

मोटापे की समस्या आम बात हो चुकी है। मोटापा अपने आप में बीमारियों की बड़ी वजह है। सूर्य नमस्कार, कपालभाति और प्राणायाम के जरिए मोटापे की समस्या से निजात पाया जा सकता है।योग के जरिए हम खान-पान की आदतों में सुधार ला सकते हैं।


तनाव पर लगाम

कुछ मिनट की योग क्रियाओं द्वारा तनाव से मुक्ति मिल सकती है। योग के जरिए तनाव को कम करने वाले हार्मोन्स का संतुलित मात्रा में संचरण होता है। आसनों और प्राणायाम के जरिए हम शरीर को आसानी से डी-टॉक्सीफाइ कर सकते हैं।


आंतरिक शांति का एहसास

हम सभी लोग आंतरिक शांति की तलाश में धार्मिक स्थानों, प्राकृतिक परिवेशों में जाना पसंद करते हैं। लेकिन वो एहसास हम बिना कहीं जाकर भी महसूस कर सकते हैं। अगर दिन की शुरुआत योग के कुछ आसनों से किया जाए तो निश्चित तौर दिमाग में शांति बनी रहती है।


रोगों से लड़ने की शक्ति

स्वस्थ शरीर से ही स्वस्थ मन का विकास होता है।उच्च रक्त चाप, सूगर, अनिद्रा किडनी,लीवर और दिल की बीमारियां आम बात हो गयी है। लेकिन योग और साधना की मदद से जीवनशैली में व्यापक ढंग से बदलाव लाया जा सकता है।योग के जरिए शरीर में हार्मोन्स एक नियंत्रित मात्रा में निकलता है जिसकी मदद से कई असाध्य बीमारियों का सामना करने में मदद मिलती है।


सतर्क रहने में मदद

आज के दौर में लोग अपने मूल कर्तव्यों से भटक रहे हैं। इसके पीछे एक बड़ी वजह है कि लोग अपने आपका सही मुल्यांकन नहीं कर पा रहे हैं। इस तरह की खामियों का असर ये है कि लोग अपनी ऊर्जा का इस्तेमाल सही लक्ष्य की तरफ नहीं कर पा रहे हैं। लेकिन योग के जरिए ऊर्जा के प्रवाह को नियंत्रित कर एकाग्रता बनाने में मदद मिलती है।


बेहतर संबंध

आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में परिवारों पर सबसे बुरा असर पड़ रहा है। व्यस्त जिंदगी की वजह से लोग स्वाभाविक तौर पर गुस्से का शिकार हो रहे हैं। इसका असर न केवल लोगों के कामकाजी रिश्तों पर हो रहा है। बल्कि तनाव से पूर्ण जिंदगी का असर पारिवारिक रिश्तों पर पड़ रहा है। लेकिन योग की मदद से हम इस तरह की चुनौतियों का सामना कर पाने में समर्थ हो जाते हैं।


ऊर्जा का प्रवाह

आप अक्सर महसूस करते होंगे कि दिनभर की भागदौड़ के बाद थकान हो जाती है। शाम को घर लौटने के बाद किसी काम में मन नहीं लगता है। योग की मदद से पूरे शरीर में ऊर्जा का सही संचार होता है। आतंरिक ऊर्जा पूर्ण रूप से नियोजित होती है। जिसकी मदद से शरीर में फुर्ती रहती है।


अंत: ज्ञान का बोध

योग-साधना के जरिए हम ये समझने में कामयाब होते हैं कि हमें क्या करना चाहिए और किन चीजों से दूर रहना चाहिए। योग के जरिए आंतरिक शक्तियों का विकास होता है। इस कला के जरिए हम सही और गलत चीजों में फर्क कर पाने में समर्थ होते हैं।







अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *