सपने में भगवान शिव और उनकी चीज़ों को देखने का मतलब।

सपने में शिवलिंग, सांप, शिवजी, शिव-पार्वती, त्रिशूल, डमरू आदि देखने का मतलब

ऐसा विश्वास किया जाता हैं की सपने आने वाले भविष्य की ओर इशारा करते हैं। अगर सपनो का मतलब सही तरह से जान लिया जाये तो हम आने वाले समय के अच्छे और बुरे परिणामों को जान सकते हैं। कई लोगो को भगवान शंकर से जुड़े हुए सपने आते हैं तो उन्हें यह लेख पूरा जरूर पढ़ना चाहिए।

सपने हर इंसान को सोते समय आते ही हैं। किसी व्यक्ति को डरावने सपने आते हैं तो किसी को मीठे सपने आते हैं। कई लोगो को सोते समय पेड़, पौधे, जानवरों आदि के सपने दिखाई देते हैं। कई लोग ऐसे भी जिन्हें भगवान शिव से जुड़ी हुई वस्तुएं सपने में दिखाई देती हैं। यानी की उन्हें सपने में सांप, शिवलिंग, त्रिशूल, डमरू और तो और स्वयं शिव पार्वती जी दिखाई देते हैं।

अगर आपको धार्मिंक सपने आते हैं और आप इनका मतलब जानना चाहते हैं तो इसका अर्थ सकारात्मक ही होता हैं। भगवान शिव जी और उनकी चीज़ों को सपने में देखने का मतलब जानिए।

सपने में शिव जी की तीसरी आँख देखने का मतलब

भगवान शिव का तीसरा नेत्र सतर्कता और जागरूकता की ओर इशारा करता हैं। अगर सपने में भगवान शंकर की तीसरी आँख दिखाई दे तो इसका मतलब होता हैं की आपके जीवन में कुछ महत्वपूर्ण परिवर्तन आने वाले हैं।

सपने में सांप देखना

सपने में सांप देखने का मतलब धन प्राप्ति होता हैं। स्वप्न में सांप उन लोगो को दिखाई देता हैं, जिन्हें भविष्य में पैसा और लाभ दोनों ही मिलने वाले होते हैं। अगर सांप फन फैलाये हुए हो और आप उसे पीछे की ओर से देख रहे हो यह आपके लिए शुभ समाचार देने वाला सपना हैं। इस सपने से आपको नाग देवता का आशीर्वाद भी मिलता हैं।

सपने में शिवलिंग के दर्शन होना

सपने में शिवलिंग दिखने का मतलब है की आपको ध्यान में लीन हो जाना चाहिए। पूर्व जन्म में जिस व्यक्ति ने शिव जी की पूजा करने की इच्छा रखी होगी या फिर उसके दर्शन करने की अभिलाषा रखी होगी, उनके लिए यह सपना इशारा करता हैं। ध्यान लगाने से शिव जी के साक्षात् दर्शन किये जा सकते हैं। सपने में अगर शिवलिंग दिखाई दे तो इसका अर्थ यह भी होता हैं की आपकी जीत पक्की हैं, धन में वृद्धि होगी और जीवन की परेशानियाँ कम होने लगेंगी। यानी की स्वप्न में शिवलिंग देखना सच में सौभाग्यशाली और शुभ होता हैं। इससे आपके काम बनने लगते हैं और हर काम में आपको सफलता प्राप्त होने लगती हैं।

भगवान शंकर का डमरू स्वपन में दिखना

शिव जी का डमरू ध्वनी का प्रतीक हैं। अगर आपको शिव जी का डमरू सपने में दिखाई दे तो इसका अर्थ यह हैं की आपके व्यक्तिगत और पेशेवर जीवन में हमेशा पॉजिटिव एनर्जी बनी रहेगी।

शिव पार्वती को एक साथ देखने का मतलब

सपने में शिव पार्वती को एक साथ देखने का मतलब यह हैं की नए मौके आपके दरवाजे पर हैं। इससे आने वाले समय में जल्द ही लाभ होगा, यात्रा, भोजन और खाद्यान्न की प्राप्ति होगी, धन में वृद्धि होगी और अच्छे समाचार सुनने को मिलेंगे। सपने में शिव पार्वती को एक साथ देखना सच में एक अच्छा शगुन हैं।

शिव जी की जटा से गंगा बहते हुए देखना

गंगा का मतलब ज्ञान हैं जो आत्मा को पवित्र बना दे। सिर हमेशा ज्ञान का प्रतीक होता हैं। जबकि दिल प्यार का प्रतीक होता हैं। अगर आप सपने में यह देखते हैं की शिव जी के सिर से गंगा जी बह रही हैं तो इसका मतलब यह हैं की आपको ज्ञान, समृद्धि और प्रेम की प्रप्ति आने वाले समय में जल्द होने वाली हैं।

तांडव करते हुए शिवजी को सपने में देखना

यह अग्रेशन और जूनून का संकेत होता हैं। अगर ऐसा सपना दिखाई दे तो इसका मतलब हैं की आपकी सभी परेशानियाँ जल्द ही ख़त्म होने वाली हैं। इसके अलावा इसका मतलब यह भी होता हैं की आपको धन लाभ होगा, लेकिन आपको थोड़ी मेहनत भी करनी पड़ सकती हैं।

भगवान शंकर जी का चन्द्रमा सपने में देखना

भगवान शंकर जी के मष्तिस्क पर लगा अर्ध चन्द्रमा, ज्ञान का संकेत हैं। यह सपना आने वाले समय में जीवन में कुछ महत्पूर्ण निर्णय लेने के लिए इशारा करता हैं। इसका अर्थ आपकी पढ़ाई से हो सकता हैं।

शिव जी का मंदिर स्वप्न में दिखाई देना

अगर सपने में शिव जी का मन्दिर दिखाई दे तो इसका मतलब होता हैं की आपको 2 पुत्रों की प्राप्ति संतान के रूप में होगी। इसके अलावा इसका मतलब यह भी हो सकता हैं की आपकी कोई बीमारी बहुत ही जल्दी ठीक होने वाली हैं। अगर सिरदर्द या माइग्रेन की बीमारी हैं और आपको भगवान शंकर का मंदिर लोहे में बदलता हुआ दिखाई दे तो आपकी बीमारी जल्द ही ठीक हो जाएगी।

सपने में त्रिशूल देखना

सपने में भगवान शंकर का त्रिशूल देखने का मतलब आपके जन्म, जीवन और मृत्यु की पीड़ा से कोई सम्बन्ध हैं। त्रिशूल आपके सभी पीड़ा और मुसीबतों को कम कर देगा। इसलिए इसे भी शुभ शगुन वाला सपना माना जाता हैं।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *