समय का सदुपयोग क्यों करना चाहिए?

समय का सदुपयोग क्यों करना चाहिए?

मानव जीवन में समय का अत्यधिक महत्व हैं। समय के मूल्य को पहचानना ही समय का सदुपयोग हैं। बीता हुआ समय कभी लौट कर नहीं आता। समय किसी का दास नही हैं। वह अपनी गति से चलता हैं। समय का महत्व न पहचानने वाला व्यक्ति अपना ही सत्यानाश करता हैं। एक उर्दू के शायर ने भी लिखा हैं – “ गया वक्त फिर हाथ नहीं आता।“

समय सिमित हैं

मनुष्य जीवन में नपा-तुला ही समय होता हैं। जब हम ज्यादातर समय व्यर्थ के कामो में नष्ट कर देते हैं तब हमें होश आता हैं। एक कहावत भी हैं – “अब पछताय क्या हो जब चिड़िया चुग गयी खेत।“ इसलिए प्रत्येक सफल आदमी समय के महत्व को स्वीकार करता हैं। हमारा जीवन समय के अधीन हैं। ईश्वर ने जितना समय हमें दिया हैं, उसमे एक क्षण की वृद्धि होना असंभव हैं। जिस देश के नागरिक समय के मूल्य को समझते हैं, वह देश सबसे ज्यादा समृद्ध बनता हैं। समय का सदुयोग करके निर्धन धनवान, निर्बल सबल और मुर्ख विद्वान बन सकता हैं।

अमूल्य धन

समय अमूल्य धन हैं। हमारा कर्तव्य हैं की प्रात: काल उठकर जो कार्य करना हैं उसको निश्चित करले और दिन भर कार्य करके उसे समाप्त कर डाले। विद्यालयों से जो समय बचता हैं, उसका सदुपयोग करके अन्य कलाएं सिखने में व्यस्त करे। फ़ालतू के गप्पो में समय को बर्बाद नहीं करना चाहिए। थोड़ा मनोरंजन भी जरूरी हैं। आज का काम कल पर नहीं छोड़ना चाहिए। कबीर दास ने भी कहा हैं :-

काल करे सो आज कर, आज करे सो अब।
पल में परलै होयगी, बहुरि करेगा कब।।

सुखो की प्राप्ति

समय का सदुपयोग करने वाले सभी लोगो को सुखो की प्राप्ति होती हैं। जो व्यक्ति अपना काम समय पर करता हैं, उसको कोई व्यग्रता नहीं होती हैं। समय पर काम करने वाला व्यक्ति न सिर्फ अपना ही भला करता हैं, बल्कि अपने परिवार, ग्राम और राष्ट्र की उन्नति में भी सहायक होता हैं। समय के सदुपयोग से मनुष्य धनवान, बलवान और बुद्धिमान हो सकता हैं। लक्ष्मी उसकी दासी बन जाती हैं। उसकी संतान कभी पैसे के लिए दुःखी नहीं होती। यदि ध्यान से देखे संसार में जितने भी महान व्यक्ति हुए हैं, उनकी महानता के पीछे समय के सदुपयोग का मूलमंत्र छिपा हुआ हैं।

आलस्य सबसे बुरा शत्रु हैं

समय का मूल्य समय के बीत जाने पर ज्ञात होता हैं। समय के दुरूपयोग से दुःख और दरिद्र ही हाथ लगते हैं। समय का सबसे बड़ा शत्रु आलस्य हैं। आलस्य जीवन का ऐसा कीड़ा हैं जो लग जाये तो जीवन नष्ट कर देता हैं। आज बहुत से नवयुवक अवकाश के दिनों में घर में निठ्ठले बैठे रहते हैं अथवा बुरी संगती में पड़कर अपने समय को बर्बाद कर देते हैं। समय का दुरूपयोग एक पाप हैं। जो इस पाप के कीचड़ में गिर गया, उसका उद्धार कभी नहीं हो सकता हैं। कहावत हैं –“ आसाढ़ का चूका किसान और डाल का चूका बन्दर कंही का नहीं रहता।“ लखपति व्यक्ति समय के चूक जाने पर भिखारी बन सकता हैं। पांच मिनट अगर स्टेशन पर देरी से जाने से आपकी गाड़ी भी छूट सकती हैं। परीक्षा में देरी से पहुचने पर छात्र परीक्षा से हाथ धो बैठते हैं। इसलिए समय के दुरूपयोग से हमेशा बचना चाहिए।

समय का मुल्यांकन करके समय का सदुयोग करे तो सफलता आपको निश्चित ही मिलेगी। इसलिए अपने जीवन में समय का सदुपयोग करे। प्रत्येक कार्य को निर्धारित समय के अन्दर करे। जीवन का प्रत्येक क्षण अनमोल हैं, इस बात को मन में अंकित कर ले। ऐसी स्तिथि में सफलता हमेशा आपके पैरो को चूमेगी।

Keywords :- Time Management Essay in Hindi. Time kyon nahi waste karna chahiye? समय का महत्व क्या हैं? समय क्यों नहीं बर्बाद करना चाहिए? समय का सही उपयोग क्यों करना चाहिए? समय के सदुपयोग पर निबंध हिंदी में।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

रिजेक्शन मिलने के बाद याद रखनी चाहिए यह जरूरी बातें।
सफलता मिलने पर याद रखे यह बातें.
किंजल सिंह IAS की संघर्षमय कहानी जरूर पढ़िए.
मन को शांत करने के टिप्स.
बिल गेट्स ने बताये हैं सफलता प्राप्त करने के लिए यह success मंत्र.
बेटियों को प्रोत्साहन देने के लिए बाइक चलाती हैं यह लेडी बाइकर्स.
सिर्फ आठवीं पास हैं यह हेयर ड्रेसर लेकिन सालाना टर्नओवर हैं 2 करोड़ रूपये, बिग बी हैं इनके फैन।
योग क्या हैं और यह कितने प्रकार का होता हैं?
बोर्ड एग्जाम में अच्छे नंबर लाने के टिप्स।
जॉब करने हुए तनाव मुक्त कैसे रहा जाये?
असफलताओं से डरे नहीं, कोशिशें जारी रखे, निश्चित ही आप सफल हो जायेंगे।
बच्चों से जरूर सीखनी चाहिए यह ज्ञान की बातें, जीवन में बहुत काम आती हैं...