स्ट्रीट फूड खाने के शौक़ीन हैं तो इन बातों का रखे ध्यान।

स्ट्रीट फूड ज्यादा खाते हैं तो इन बातों का रखे ध्यान, क्योंकि इन टिप्स को अजमा कर आप बीमार नहीं पड़ेंगे

अगर आप स्ट्रीट फूड खाना ज्यादा पसंद करते हैं तो सावधान हो जाये। क्योंकि एक रिसर्च में यह पता चला हैं की ज्यादातर स्ट्रीट फूड में ईकोली नामक बैक्टीरिया पाया जाता हैं। चाहे आप स्ट्रीट फूड में फ्रूट सलाद ही क्यों न खा रहे हो, क्योंकि कटे हुए फलों पर ईकोली बैक्टीरिया उपस्तिथ होता ही हैं। यह एक ऐसा बैक्टीरिया हैं जो गर्मियों के दिनों में ज्यादा पैदा होता हैं।

स्ट्रीट फूड जिसमे गोलगप्पे, मोमोज आदि शामिल हैं, इनमे भी ईकोली बैक्टीरिया के होने का ख़तरा ज्यादा रहता हैं। ईकोली बैक्टीरिया अगर शरीर के अंदर दाखिल हो जाये तो इससे दस्त और गैस्ट्रोएन्टेरिटिस जैसी पेट से जुड़ी बीमारियाँ होने लगती हैं। गैस्ट्रोएंटेराइटिस की बीमारी होने पर पेट और आँतों में सूजन हो जाती हैं। आइये जानते हैं कुछ ऐसे टिप्स जिन्हें अपना कर गैस्ट्रोएंटेराइटिस जैसी बीमारी से बचने में आसानी होगी। मतलब की जिन लोगो को स्ट्रीट फ़ूड खाना ज्यादा अच्छा लगता हैं, उन्हें निचे बताई गयी बातों का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए।

स्ट्रीट फूड खाने वाले इन बातों का रखे ख्याल :-

■ दूकान की साफ-सफाई को जरूर देखे

जब भी आप स्ट्रीट फूड खाने जाये तो दुकान की साफ-सफाई की ओर ध्यान जरूर दे। स्ट्रीट फूड विक्रेता अगर गंदे पुराने चाकू का प्रयोग कर रहा हो या फिर चोप्पिंग में दरारे हो तो उस स्ट्रीट फूड कार्नर से कोई भी खाद्य पदार्थ न खाए। क्योंकि ऐसी दूकान से स्ट्रीट फ़ूड खाने पर आप निश्चित ही रूप से बीमार हो जायेंगे। ऐसे में उस दूकान से स्ट्रीट फूड खाए जहाँ पर साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जाता हो।

■ सॉस ज्यादा न खाए

अगर आप बाहर स्ट्रीट फ़ूड या फ़ास्ट फ़ूड ज्यादा खाते हैं तो मिलने वाले सॉस और चटनी को ज्यादा न खाए। क्योंकि समोसे, मोमोज, चाउमीन आदि के साथ चटनी और सॉस मिलते ही हैं, जिन्हें मिला कर खाने से यह ज्यादा स्वादिष्ट लगते हैं। क्योंकी आपको यह नहीं मालूम होता हैं की इन सॉस और चटनी को कैसे बनाया गया हैं? इसलिए इन्हें ज्यादा खाने से बचना चाहिए।

■ फूड की क्वालिटी जरूर देखे

सड़क किनारे मिलने वाले फास्ट फूड को खाने से पहले यह जरूर देखे की वह फूड किस जगह पर बन रहा हैं। उसमे कौन से मसाले और सब्जियां डाली जा रही है? मतलब की सब्जियों और मसालों की गुणवत्ता क्या हैं? क्योंकि अगर वह चीज़े गन्दगी से भरी हुई या फिर खराब होंगी तो यह आपके शरीर में जाने के बाद आपकी सेहत को नुकसान ही पहुचायेंगी।

■ उस दूकान पर ही खाए जहाँ पर ज्यादातर लोग खाते हैं

अगर आप बाज़ार में घूम रहे हैं और सड़क किनारे मिलने वाले स्ट्रीट फूड को अगर स्थानीय लोग नहीं खा रहे है तो उस दूकान से कुछ भी न खाए। क्योंकि ऐसी दूकान पर अगर लोकल आदमी न खाते हो तो यह समझ लीजिये की ऐसी दुकान में मिलने वाले स्ट्रीट फूड में कुछ गड़बड़ी हैं। ऐसे में उस दूकान से स्ट्रीट खाए जहाँ पर स्थानीय लोग ज्यादा जाते हो। क्योंकि ऐसी दुकानों पर खाना अच्छा मिलता हैं और साफ-सफाई का भी विशेष ध्यान रखा जाता हैं।

■ जूस पीते हैं तो इन बातों का रखे ध्यान

अगर आप ताज़ा जूस पीने के शौक रखते हैं, मतलब की बाज़ार में मिलने वाला जूस आप ज्यादा पीते है। तो यह जरूर देखे की दुकानदार फलों का जूस निकालने के बाद उसे साफ जग में डाल रहा है की नहीं। यह भी देखे की जूस को निकालने से पहले दुकानदार ने जग को पानी से धोकर साफ किया की नहीं? क्योंकि ज्यादातर दुकानदार की दूकान में पानी का भरा टब रखा हुआ होता हैं, जिसमे वह जग को बार-बार धोते रहते हैं। साथ ही यह भी देखे की जूस जिस गिलास में दिया जा रहा हैं, वह साफ हैं की नहीं। अच्छा होगा की आप जूस डिस्पोजल गिलास में ही पिए।

जरूर पढ़े :- गन्ने के जूस से सम्बंधित सावधानियां जरूर पढ़े।

■ कटे हुए फल न खाए

गर्मियों के मौसम में सड़कों के किनारे आम तौर पर आपको कटे हुए फलों के सलाद जैसे की पपीता, खरबूजा, तरबूज आदि आसानी के साथ मिलने लगते हैं। इन कटे हुए फलों को लोग बड़े ही मज़े लेकर खाते हैं। परन्तु सड़कों के किनारे मिलने वाले फ्रूट सलाद को यानी की पहले से कटे हुए फलों को खाने से परहेज़ करे। क्योंकि कटे हुए फलों को तुरंत फ्रिज में रखना चाहिए, नहीं तो इनमे बैक्टीरिया बहुत जल्दी पनपने लगते हैं। अगर आप कटे हुए फल खाते हैं तो आपको बीमारियाँ होने का ख़तरा ज्यादा रहता हैं।

■ प्लेट साफ होनी चाहिए

अगर आप बाहर कुछ भी खाते हैं तो इस बात का ध्यान रखे की जिस प्लेट या बर्तन में खाना परोसा जा रहा हो, वह अच्छी तरह से साफ हो। अगर वह साफ़ नहीं हैं तो दूसरी साफ़ प्लेट मांगे या फिर टिश्यू पेपर से उसे साफ करे।

■ बर्फ का सेवन न करे

सडकों के किनारे मिलने वाले पेयों को ज्यादा न पिए। क्योंकि इनमे बर्फ ज्यादा डाली गयी होती हैं। क्योंकि ऐसे पेय को जब आप ज्यादा पीते हैं इनमे बैक्टीरिया ज्यादा होता हैं। जिससे बीमार होने का ख़तरा होता ही हैं।

जरूर पढ़े :- बर्फ वाला पानी पीने के नुकसान क्या हैं और इसे क्यों नहीं पीना चाहिए? 

■ चाय पी सकते हैं

हाँ, अगर आप बाहर की चाय पीते हैं तो आप इसे पी सकते हैं। क्योंकि चाय को बनाने के लिए दूध, पानी, चीनी और चायपत्ती सभी को गर्म किया जाता हैं। जिससे उनमे पाए जाने वाले बैक्टीरिया मर जाते हैं। इसलिए बाहर की चाय को पिया जा सकता हैं।




अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

पत्ता गोभी खाने के 13 फायदे और सावधानी...
दूध पीने के नुकसान (Side-Effects) के बारे में जानिए।
4 वेद कौन से हैं?
मेथी के पत्ते (साग) खाने के फायदे.
मीठा खाने वाले लोग चीनी की जगह पर यह चीज़े खा सकते हैं।
सिरदर्द दूर करने के आसान घरेलु नुस्खे और उपाय.
मोबाइल अगर पानी में गिर जाये तो अपनाईये यह टिप्स.
सुखी जीवन जीने के 10 सूत्र।
डेंगू से बचने में मदद करता हैं बकरी का दूध।
कोकम फल के फायदे जरूर जानिए।
गोंद कतीरा खाने और पीने के फायदे।
दालचीनी से होने वाले नुकसान के बारे में जानिए।
ग्वार फली खाने के 10 लाजवाब फायदे जानिए।
यह चीज़े बुरी किस्मत लेकर आती हैं, इन्हें घर में न रखे।
नेचुरल एंटीबायोटिक का काम करती हैं यह चीज़े।
सर्दियों के दिनों में थोड़ी मात्रा में ब्रांडी पीने के फायदे जानिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *