स्मार्टफोन के रेडिएशन से बचने के टिप्स और तरीके.

smartphone radiation se bachne ke tips aur tarike.

स्मार्टफोन का उपयोग इतना बढ़ता जा रहा हैं की लोग ज़्यादा से ज़्यादा समय स्मार्टफोन अपने हाथ में रखते हैं. नये दौर को देखते हुए इसे सही कहा जा सकता हैं. लेकिन इसके दूसरे पहलू पर नज़र डाले तो स्मार्टफोन से हेल्थ पर बुरा असर पड़ता हैं. जी हा हम बात कर रहे हैं स्मार्टफोन रेडिएशन (मोबाइल रेडिएशन) की जिसकी वजह से कई सारी बीमारिया हो सकती हैं. तो आइए जानते हैं इससे बचने के कुछ टिप्स.

1. हैंडसेट के स्पीकर का इस्तेमाल करे :-

स्मार्टफोन रेडिएशन का सबसे ज़्यादा ख़तरा फोन पर बात करने के दौरान होता हैं. यानी की अगर आप कई घंटो तक मोबाइल पर लगातार बात कर रहे हैं, तो आपको थोड़ा सचेत होने की ज़रूरत हैं. जब कभी भी कॉल पर बात करे , तो अपने फोन को डायरेक्ट कान के पास लगा कर बात ना करे. इसके लिए आप स्पीकर या हैंडसेट का इस्तेमाल कर सकते हैं, यह आपके लिए ज़्यादा सेफ रहेगा. हालाँकि कोई यूज़र वायरलेस का उपयोग करता हैं, तो यह भी काफ़ी सेफ हैं. लेकिन कॉल डिसकनेक्ट होते ही इसे कान से हटा देना चाहिए.

2. फ़ोन को अपनी बॉडी से दूर रखे :-

स्मार्टफोन को जितना हो सके अपनी बॉडी से दूर रखे. अकसर घरो में देखा जाता हैं की छोटे बच्चे फोन के साथ खेलते हैं, यह काफ़ी हानिकारक हैं. किसी भी सिचुयेशन में बच्चो को स्मार्टफोन नही देना चाहिए. वही अडल्ट्स के लिए भी यह काफ़ी ख़तरनाक साबित हो सकता हैं. ऐसे में कभी भी स्मार्टफोन को शरीर से टच करके नही रखना चाहिए. फोन को अपने हाथो में रखे ताकि वह बॉडी से दूर रहे, जिससे रेडिएशन का ख़तरा काफ़ी हद तक दूर किया जा सकता हैं.

3 अपने फोन को तकिये या पॉकेट में न रखे :-

सबसे पहले यह जान ले की, फोन अगर इस्तेमाल नही किया जा रहा हो तो उससे रेडिएशन का ख़तरा कम नही होता हैं. स्मार्टफोन नेटवर्क में लगातार सिग्नल्स ट्रेवल करते रहते हैं, जब तक वह स्विच ऑफ नही हो जाता हैं. इस स्तिथि में रेडिएशन लगातार निकलता रहता हैं. ऐसे में यूज़र को ध्यान रखना चाहिए की फोन को कभी भी तकिये के नीचे या बगल में नही रखना चाहिए. इसके अलावा स्मार्टफोन को कभी भी टी-शर्ट की उपर वाली पॉकेट में नही रखना चाहिए, इससे दिल की बीमारी का ख़तरा बना रहता हैं. हालाँकि इससे बचने के लिए ‘एयरप्लेन मोड’ बेस्ट आप्शन हैं. यानी की इस कंडीशन में हैंडसेट से सभी वायरलेस ट्रांसमिशन कट हो जाते हैं, जिससे रेडिएशन आना रुक जाता हैं. इसके साथ ही यह बैटरी की बचत भी करता हैं.

4. कॉल की जगह मेसेज का इस्तेमाल ज्यादा करे :-

जब किसी डिवाइस में voice कम्यूनिकेशन होता हैं तो रेडिएशन ज़्यादा निकलता हैं. ऐसे में आप जहा तक हो सके , आप कॉल की जगह टेक्स्ट या मेसेज का इस्तेमाल कर सकते हैं. हालाँकि आजकल तो कई ऐसे मेसेंजर एप आ गये हैं, जो यूज़र्स को काफ़ी आराम दे सकते हैं.

5. कॉल तभी करे जब मोबाइल सिग्नल मजबूत हो :-

हमेशा ध्यान रखना चाहिए जब फोन सिग्नल वीक हो, तो कॉल करने से बचे. यानी की मोबाइल सिग्नल स्ट्रॉंग होने पर कॉल करना सही तरीका माना जाता हैं. एक रिसर्च के मुताबिक, वीक सिग्नल के दौरान जब कोई कॉल की जाती हैं तो यह हाई रेंज के ब्रॉडकास्ट को सर्च करता हैं ताकि आपकी कॉल कनेक्ट हो सके. ऐसे में रेडिएशन अमाउंट काफ़ी बढ़ जाता हैं, जिससे यूज़र को काफ़ी ख़तरा हो सकता हैं.







अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *