Android स्मार्टफोन iPhone से बेहतर कैसे हैं?

Android Smartphone iPhone se better option kaise hain?

एप्पल के iOS और एंड्राइड की लड़ाई कभी ख़त्म होती नज़र नही आती। एक तरफ एप्पल के हाई बजट स्मार्टफोन हैं तो दूसरी तरफ सैमसंग, एचटीसी, मोटोरोला जैसी कंपनियों के लो बजट स्मार्टफोन जो कम कीमत में सभी फीचर्स देते हैं। ऐसे में हम आपको बता रहे हैं ऐसे कारण जिनसे पता चलता हैं। की एप्पल के iPhone के मुक़ाबले एंड्राइड स्मार्टफोन बेहतर आप्शन हो सकते हैं।

बजट में फिट

बजट के मामले में एंड्राइड स्मार्टफोन ने बाज़ी मार ली हैं। एंड्राइड फोन iPhone से कंही ज़्यादा बजट फ्रेंडली हैं। वह कम बजट में आपको ज़रूरत से ज़्यादा फीचर्स देते हैं। हालांकि मार्केट में कई ऐसे स्मार्टफोन हैं जो iPhone से भी ज़्यादा महंगे हैं लेकिन यह फीचर्स के मामले में भी उतने ही बेहतर होते हैं। मतलब एंड्राइड स्मार्टफोन आपको 2500 रुपये से लेकर 50000 रुपये तक की कीमत में मिल जाएँगे। लेकिन iPhone 18000 रुपीज़ से स्टार्ट होकर अलग-अलग variants में अलग-अलग कीमतों पर मिलेंगे। iPhone ज़्यादा महँगे होते हैं। इसलिए एंड्राइड स्मार्टफोन की रेंज ऐसी हैं जिसे सभी लोग अपनी इकॉनमी के अनुसार खरीद सकते हैं।

मेमोरी कार्ड

एंड्राइड स्मार्टफोन यूज़र्स माइक्रो SD कार्ड की मदद से अपने स्मार्टफोन की मेमोरी बढ़ा सकते हैं। जबकि iPhone यूज़र्स ऐसा नही कर सके हैं, उन्हे 16,32 या 64 GB मेमोरी कार्ड से ही काम चलाना पड़ता हैं।

फास्ट सींक

एंड्राइड स्मार्टफोनस गूगल, फ़ेसबुक और other apps के साथ बेहतर और फास्ट सींक हो जाते हैं। ऐसे में इन साइट्स का इस्तेमाल करने में आपको टाइम बर्बाद नही करना पड़ता हैं। जबकि, iPhone पर इन्हे सींक करने के लिए पहले iTunes के साथ उन्हे सींक करना पड़ता हैं।

बैटरी रिप्लेसमेंट

मार्केट में कई सारे ऐसे एंड्राइड स्मार्टफोन हैं जो आपको पुरानी बैटरी बदलकर नयी लगाने की सुविधा देते हैं। लेकिन iPhone यूज़र्स के लिए यह सुविधा नही हैं।

पर्सनल Customization

एंड्राइड एक ओपन सोर्स हैं। इसे यूज़र्स जिस तरह से चाहे उस तरह से कस्टमाइज़ कर सकते हैं। इसमे यूज़र्स को थीम्स, लॉंचर्स और कई apps इनस्टॉल करने की सुविधा मिलती हैं। लेकिन इस सेगमेंट में iPhone पीछे रह जाता हैं। iPhone में वही पुराना iOS आइकॉन हैं।

एंड्राइड या iOS

आजकल कोई भी आउटडेटेड फोन इस्तेमाल नही करना चाहता हैं। ऐसे में एंड्राइड स्मार्टफोन का एक प्लस पॉइंट यह भी हैं की यह समय-समय पर अपडेट होते रहते हैं। बता दे की iPhone यूज़र्स को 1 साल बाद ही अपडेट मिलता हैं। इसलिए बेटर परफॉरमेंस, कीमत और अन्य मामलो में एंड्राइड बेहतर विकल्प हो सकता हैं।

बेहतर हार्डवेयर आप्शन

एप्पल अपने हर डिवाइस में एक ही हार्डवेयर को मॉडिफाई करके इस्तेमाल करता हैं, लेकिन एंड्राइड स्मार्टफोन कंपनीयां अपने फोन को फास्ट बनाने के लिए नये-नये हार्डवेयर का इस्तेमाल करती रहती हैं। इसके साथ ही डिजाईन और लुक्स में भी एंड्राइड फोन्स बेहतर होते चले जा रहे हैं। कवर्ड डिज़ाइन, फ्लेक्सिबल फोन और स्मार्ट लुक। वो दिन भी दूर नही जब मार्केट में ट्रांसपेरेंट एंड्राइड फोन भी आ जाएँगे।

कामन चार्जर

चार्जर के मामले में एंड्राइड स्मार्टफोन iPhone को पीछे छोड़ देते हैं। बता दे की iPhone के चार्जर से किसी और फोन को चार्ज नही किया जा सकता हैं। जबकि एंड्राइड यूज़र्स इस मामले में खुद को लकी मान सकते हैं, क्योंकि एंड्राइड के लगभग सभी स्मार्टफोन एक जैसे चार्जर से चार्ज किए जा सकते हैं।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

8 साल की बच्ची यूट्यूब से कमाती हैं हर महीने 76 लाख रूपए.
सांप से जुड़े हुए अंधविश्वास के बारे में जानिए? क्या आप भी इन्हें मानते हैं?
रसगुल्ले का अविष्कार कैसे हुआ और किसने किया?
भारत में गिद्धों का पहला रेस्टोरेंट हैं यह, किसान भी करते हैं यहाँ पर बढ़िया कमाई।
GST बिल क्या हैं और इसके क्या फायदे हैं?
बेटियों को प्रोत्साहन देने के लिए बाइक चलाती हैं यह लेडी बाइकर्स.
दुनिया का एकलौता मंदिर जहां राजा राम को दिन में 5 बार दिया जाता है गार्ड ऑफ ऑनर
यह नदी 3 देशो का बॉर्डर हैं..
महाभारत के रोचक रहस्य और तथ्य जरूर जानिए.
सेब को छिलकों समेत क्यों खाना चाहिए, इससे क्या फायदे होते हैं?
पढ़िए बैंड एड के अविष्कार की रोचक कहानी।
किस उम्र में शादी करनी चाहिए?