जानिए डिस्पोजल गिलास में गर्म पेय या चाय क्यों नहीं पीना चाहिए?

जानिए डिस्पोजल गिलास में गर्म पेय या चाय क्यों नहीं पीना चाहिए?

रिसर्च के अनुसार प्लास्टिक के बने पोलीथिन या डिस्पोजल जितने ज्यादा easy to use होते हैं, उससे कंही अधिक यह हमारे स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक होते हैं। प्लास्टिक न सिर्फ मनुष्यों के लिए हानिकारक हैं, बल्कि यह पूरी धरती पर पाए जाने सभी प्राणी जगत के लिए हानिकारक हैं। आज के दौर में प्लास्टिक डिस्पोजल गिलास भी काफी चलन में हैं। रेलवे स्टेशन और कई सारे चाय की दुकानों पर कॉफ़ी, दूध, चाय आदि सभी प्लास्टिक के डिस्पोजल गिलास में ग्राहकों को सर्व किया जाता हैं। जो की काफी गलत हैं, क्योंकि यह डिस्पोजल गिलास वातावरण के लिए भी नुकसानदायक हैं और इनसे पेड़-पौधे, मिट्टी, पानी, वायु, जानवर सभी को हानि हो रही हैं।

आज के युग में प्लास्टिक हमारी जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया हैं। यहाँ तक की हम मार्किट में आलू-प्याज़ भी प्लास्टिक के बने पोलीथिन बैग्स में लेते हैं। इसी प्लास्टिक के ज्यादा उपभोग के कारण कई होटलों और चाय की दुकानों पर प्लास्टिक डिस्पोजल गिलास में चाय सर्व की जाती हैं। लेकिन क्या आपको पता हैं की गर्मा-गर्म चाय, गर्म दूध या कॉफ़ी को डिस्पोजल गिलास में डालकर पीने से सेहत को ढेर सारे नुकसान होते हैं। क्योंकि जब डिस्पोजल गिलास या प्लास्टिक पोलीथिन में किसी गर्म चीज़ को डाला जाता हैं, तो इनमें मौजूद हानिकारक chemicals घूलने लगते हैं और पेय पदार्थों में घूम-मिल जाते हैं और आसानी के साथ हमारे शरीर में दाखिल हो जाते हैं। जो आगे चलकर हमें बीमार, या फिर इतना ज्यादा बीमार बना देते हैं की आप उसकी कल्पना भी नहीं कर सकते हैं।

प्लास्टिक डिस्पोजल गिलास में चाय या गर्म चीज़ डालकर पीने से सेहत को होने वाले नुकसान :-

■ डायरिया होने का ख़तरा

प्लास्टिक के गिलासों में मौजूद हानिकारक रसायन गर्म दूध या गर्म चाय के सम्पर्क में आते हैं की पिघलने लगते हैं। यह खतरनाक केमिकल इन गर्म पेयों के साथ मिक्स हो जाते हैं और व्यक्ति के पेट में आसानी से दाखिल हो जाते हैं। जिससे डायरिया होने का ख़तरा तो रहता ही हैं, साथ ही व्यक्ति को कई सारी सीरियस बीमारियाँ भी हो जाती हैं।

■ दिमाग के लिए नुकसानदेह

डिस्पोजल गिलास में उपस्तिथ केमिकल दिमाग की सक्रियता पर बुरा असर डालते हैं, जिससे आपका दिमाग कमजोर बन सकता हैं। इससे व्यक्ति की सोचने समझजने की क्षमता और ब्रेन मेमोरी पर काफी ज्यादा नेगेटिव इफ़ेक्ट पड़ता हैं और यह धीरे-धीरे करके कम होने लगती हैं।

■ मोम शरीर में दाखिल हो जाता हैं

क्या आपको पता हैं की कई सारे डिस्पोजल गिलास की कोटिंग मोम से की जाती हैं। डिस्पोजल गिलास में चाय डालने से पहले गिलास में ऊँगली डाल कर रगड़े। इससे आपकी ऊँगली चिकनी हो जाएगी। यह इस बात का संकेत होता हैं की डिस्पोजल गिलास में मोम की परत लगायी गयी हैं। और जब आप इस डिस्पोजल गिलास में गर्म-गर्म चाय या दूध डालते हैं तो यह हानिकारक मोम पिघल कर आपके चाय या दूध में मिल जाती हैं। और बड़ी ही आसानी के साथ आपके पेट में चली जाती हैं, जो आगे चलकर आपको बीमार बना ही देगी।

disposal tea glass photo

प्लास्टिक के खिलौने भी हैं बच्चों के लिए खतरनाक

जी, हाँ प्लास्टिक के बने खिलौने छोटे बच्चों की सेहत के लिए काफी ज्यादा खतरनाक होते हैं। प्लास्टिक से बने खिलौने में केमिकल वाले रंगों का इस्तेमाल किया जाता हैं। इन खिलौनों में आर्सेनिक और सीसा भी मिलाया गया होता हैं, जो की काफी ज़हरीले हैं। अमूमन यह देखा जाता हैं की छोटे बच्चे खिलौनों को मूंह में डाल कर चूसते या खेलते हैं, ऐसे में प्लास्टिक के रंगों में मौजूद chemicals उन्हें नुकसान पहुचा सकते हैं। ऐसे में छोटे बच्चों में कैंसर होने का ख़तरा काफी ज्यादा बढ़ जाता हैं।

यह प्रयोग भी ट्राई करके देखे आपको पता चल जायेगा की डिस्पोजल गिलास कितने हानिकारक हैं :-

इसके लिए आप गर्मा गर्म चाय को डिस्पोजल गिलास में डालने के बाद, इसे पानी की तरह ठंडा होने दे। फिर ठंडा होने के बाद इस चाय को पी कर देखिए। यकीनन चाय का स्वाद काफी ज्यादा बदल जायेगा, क्योंकि इसमें केमिकल और मोम घुल जाते हैं। जब आप गर्म-गर्म चाय पीते हैं तो इन मोम और केमिकल का स्वाद आपको महसूस नहीं होता हैं, लेकिन ठंडा होने के बाद यह आपको आसानी से महसूस हो जाता हैं, जो इस बात का सबूत हैं की यह स्वास्थ्य के लिए कितने ज्यादा नुकसानदायक हैं।

पोलिथिन की थैली के इस्तेमाल से करे परहेज़ :-

पौलिथिन बैग्स के इस्तेमाल से शरीर पर पूरा असर पड़ रहा हैं। कलरफुल पोलीथिन बैग्स में हानिकारक रासायनिक रंगों का इस्तेमाल किया जाता हैं। जब आप प्लास्टिक की पोलीथिन में दही, दूध, फलों का जूस जैसे लिक्विड पेय भरते हैं तो इन पौलिथिन बैग्स में मौजूद हानिकारक रंग छूटने लगते हैं और इन पेय और खाद्य पदार्थो में मिल जाते हैं, जो की आगे चलकर आपको बीमार बना देते हैं।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

जानिए किन चीज़ों के साथ शहद मिल कर जहर बन जाता हैं।
पीरियड जल्दी शुरू करने के उपाय
परवल खाने के फायदे और घरेलु नुस्खे.
छाछ (लस्सी) पीने के फायदे जानिए..
सर्दियों के मौसम में एलर्जी से बचने के तरीके और उपाय।
बर्फ के घरेलु नुस्खे और उपाय और इसके फायदे।
कोलेस्ट्रॉल को कण्ट्रोल में क्यों रखना चाहिए? इसे कम करने के लिए क्या खाए?
हार्ट ब्लॉकेज को ख़त्म करना चाहते हैं तो इन चीजों को जरूर खाए।
होली के त्यौहार को बेहतर तरीके से कैसे मनाये?
मिर्गी की बीमारी दूर करने के उपाय और घरेलु तरीके जानिए।
छछूंदर को भगाने का तरीका और इसके शुभ-अशुभ फल के बारे में जानिए।
दिल और खून की धमनियों में आई कमजोरी को दूर करने के तरीके।