चावल और रोटी दोनों में कौन हैं ज्यादा बेहतर?

रोटी बनाम चावल (Rice vs Chapati)

भारत एक ऐसा देश हैं जहा पर गेंहू और चावल दोनों का ही विशेष महत्व हैं। हालाकिं की हमारे देश में आज भी चर्चा का विषय यह हैं की चावल और रोटी दोनों में से स्वास्थ्य के लिए कौन ज्यादा अच्छा होता हैं? मतलब की रोटी और चावल में से क्या खाने से सेहत को ज्यादा फायदे होते हैं। सरल शब्दों में कहने का मतलब यह हैं की चावल और रोटी में से श्रेष्ठ कौन हैं?

चावल और गेंहू दोनों ही पेट को भरने वाले अभिन्न आहार है। गेंहू की रोटी और चावल को खाने के अपने ही फायदे और नुकसान हैं। चावल के मुकाबले गेंहू से बनी रोटियों को खाने से ज्यादा एनर्जी मिलती हैं। साथ ही इसमें फैट की कम मात्रा होती हैं, जिससे दिल की बिमारियों और डायबिटीज जैसी बीमारियाँ होने का ख़तरा काफी कम हो जाता हैं।

रोटी बनाम चावल (Rice Vs Wheat)

■ रोटी में होते हैं ज्यादा मिनरल्स

रोटी में चावल के मुकाबले ज्यादा मात्रा में कैल्शियम, फॉस्फोरस, आयरन और पोटैशियम आदि मिनरल्स मौजूद होते हैं। चाहे चावल हो या रोटी दोनों में आयरन होता ही हैं। लेकिन चावल में फॉस्फोरस, पोटैशियम और मैग्नीशियम रोटी की तुलना में कम ही होता हैं। और तो और चावल में कैल्शियम बिलकुल भी नहीं पाया जाता हैं।

■ फाइबर की मात्रा में अन्तर

ज्यादातर लोग पॉलिश किया हुआ या फिर सफेद चावल का ही सेवन करते है। इस तरह के चावलों में फाइबर इनकी भूसी और चोकर में होता हैं, जिसे साफ करके निकाल दिया जाता हैं। जिसकी वजह से चावल सफेद दिखाई देने लगते हैं। इस प्रोसेस के दौरान चावल से जरूरी मिनरल्स और विटामिन्स भी ख़त्म हो जाते हैं। जिससे चावल में विटामिन बी-काम्प्लेक्स, कैल्शियम और आयरन की मात्रा कम हो जाती हैं। इसलिए चावल सेहत के लिए ज्यादा लाभकारी नहीं माने गये हैं।

वहीँ दूसरी ओर गेंहू के आटे की बनी रोटी में प्रोटीन, फाइबर और जरूरी मिनरल्स जैसे की कैल्शियम, आयरन, सेलेनियम, मैग्नीशियम और पोटैशियम आदि की मात्रा ज्यादा होती हैं। जिस कारण यह सेहत के लिए ज्यादा लाभकारी होती हैं।

■ ब्लड शुगर लेवल का बढ़ना

चावल एक ग्लाईसेमिक आहार हैं, जिसका मतलब यह हैं की इसे खाने से आपके शरीर में ब्लड शुगर लेवल तेज़ी के साथ बढ़ने लगता हैं। जिससे आपको डायबिटीज होने का खतरा ज्यादा रहता हैं। यही वजह हैं की डायबिटीज के मरीजों को खास करके सफेद चावल न खाने की सलाह डॉक्टर देते हैं।

जबकि डायबिटीज की मरीज़ आसानी के साथ गेंहू की रोटी खा सकते हैं।

■ पाचन में अंतर

गेंहू से बनी रोटी धीरे-धीरे हजम होती हैं। यहीं कारण हैं की रोटी खाने से आपको जल्दी भूख नहीं लगती हैं। तो दूसरी ओर चावल में स्टार्च ज्यादा होता हैं। यह बहुत ही आसानी के साथ पच जाता हैं। जैसा की चावल जल्दी पच जाते हैं, जिससे आपको दुबारा से जल्दी-जल्दी भूख लगने लगती हैं। जिससे आप ज्यादा भोजन करने लगते हैं और नतीजन आपका वजन बढ़ जाता हैं।

■ न्यूट्रीशन वैल्यू में अंतर

रोटी में प्रोटीन और फाइबर ज्यादा मात्रा में होते हैं। जिस कारण चावल के मुकाबले रोटी में न्यूट्रीशन वैल्यू अधिक होती हैं। लेकिन चावल में चपाती के मुकाबले फोलेट ज्यादा मात्रा में पाया जाता हैं।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...