SMS का इतिहास क्या हैं? इसकी खोज किसने की?

SMS का इतिहास क्या हैं? इसकी खोज किसने की?

क्या आपको पता हैं की SMS की खोज किसने की थी? sms का इतिहास क्या हैं? आइये जानते हैं SMS की कहानी के बारे में, जिसे जानना जरूरी हैं, क्योंकि आपके मोबाइल पर sms आते ही रहते है, लेकिन हम में ज्यादातर लोग इसकी हिस्ट्री के बारे में अनजान ही हैं।

देशभर में ज्यादातर लोग त्यौहारों के मौसम में एक दुसरे को बधाई सन्देश SMS के जरिये मोबाइल पर भेजते रहते हैं, खैर अब स्मार्टफोन का जमाना हैं, इसलिए अब बधाई सन्देश sms के जरिये नहीं, बल्कि Whatsapp पर भेजा जाने लगा हैं। लेकिन एक दौर ऐसा भी था जब whatsapp नहीं हुआ करता था, तब लोग एक दुसरे को मोबाइल के जरिये sms ही ज्यादा सेंड करते थे। आज भी कई सारी कंपनियां अपने प्रोडक्ट को sms के जरिये आपके मोबाइल पर प्रमोट करती हैं, यानी की अभी भी sms का दौर खत्म नहीं हुआ हैं।

आपको जानकर हैरानी होगी की एक समय ऐसा भी था की होली और दिवाली के sms इतने ज्यादा send किये जाते थे, की मोबाइल नेटवर्क भी ठप हो जाते थे। SMS की खोज फ़िनलैंड के रहने वाले मैटी मैकन्न ने की थी। मैटी को sms का जनक माना जाता हैं।

ऐसे आया आईडिया sms के लिए

फ़िनलैंड सिविल सर्विसेज के ऑफिसर मैक्न्न सन 1984 में डेनमार्क की राजधानी कोपेनहेगन में टेलेफोन कांफ्रेंस में भाग लेने गये थे। लंच के दौरान मैटी ने टेलिकॉम जानकारों के सामने यह प्रश्न रखा की अगर मोबाइल बंद हो या फिर कॉल न लगे तो किसी व्यक्ति से कैसे कांटेक्ट किया जाये? लोग इसका जवाब अभी सोच ही रहे थे की मैटी ने text message service का concept पेश किया। आपको जानकर हैरानी होगी की sms भेजने का आईडिया मैटी को पिज़्ज़ा खाने के दौरान आया था।

लेकिन मैटी के द्वारा पेश किये कांसेप्ट को सभी लोगो ने खारिज कर दिया। फिर मैटी साल 1985 में शोधकर्ता फ्रीडहैम हिलब्रांड और उनकी टीम के साथ मिल कर चुपचाप Short Messaging services पर काम करते रहे। इसके बाद दुनिया का सबसे पहला SMS वर्ष 1992 में भेजा गया। साल 1994 में नोकिया ने मेसेज टाइप करने वाला मोबाइल फ़ोन लांच किया, जिसके बाद तो sms पूरी दुनिया में popular हो गया।

अपनी खोज से मैटी ने कोई पैसा नहीं कमाया

sms सेंड करने की सेवा भले ही शोर्ट मेसेजिंग के नाम से मशहूर हुई, लेकिन मैटी ने इसका नाम Message Handling Service रखा था। वह इसे सिमित शब्दों में संदेश भेजने का माध्यम नहीं मानते थे, बल्कि उनके अनुसार यह सर्विस भाषा के विकास का नया तरीका था। आपको जानकर हैरानी होगी की दुनिया बदलने वाली इस टेक्नोलॉजी की खोज करने वाले मैटी ने अपनी टेक्नोलॉजी से कोई पैसा नहीं कमाया। उन्होंने अपनी टेक्नोलॉजी का पेटेंट भी नही करवाया। साथ ही आपको जानकर ताज्जुब होगा की Father of SMS द्वारा संबोंधित होने पर मैटी काफी ज्यादा चिढ़ जाते थे।

गुमनाम हो गये थे मैटी

मैटी अपनी दुनिया बदलने वाली क्रन्तिकारी खोज के बाद गायब ही हो गये। वह गुमनामी भरा जीवन जीने लगे। काफी साल गुमनाम रहने के बाद, हेलसिंकी के एक न्यूज़पेपर के एक पत्रकार ने उनकी तलाश करनी शुरू कर दी। और आखिर में उस पत्रकार ने मैटी को खोज निकाला, काफी अनुरोध के बाद मैटी ने मैसेजिंग सर्विस की शुरुवात की कहानी रिपोर्टर को बतायी। तब जा कर पुरी दुनिया ने मैटी के बारे में जाना। मैटी, फ़िनलैंड की सबसे बड़ी मोबाइल कम्पनी फिननेट के सीईओ भी रह चुके हैं, उन्हें Grand old man of mobile industry के नाम से भी जाना जाता हैं।

आपको जानकर बुरा लगेगा की साल 2015 में लम्बी बीमारी के चलते मैटी की मृत्यु हो गयी, वह उस समय 63 साल के थे।




अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

कत्थे के घरेलु नुस्खे, उपाय और फायदे।
नेल पोलिश लगाने के नुकसान
ब्लैक टी पीने के फायदे
मेंढक के बारे में रोचक जानकारी.
इस गाँव में चमगादड़ को लक्ष्मी जी का रूप मान कर की जाती हैं पूजा।
बेल फल के फायदे, घरेलु नुस्खे और उपाय जानिए।
जानिए क्या हैं Pokemon go गेम और इसे कैसे खेला जाता हैं?
जानिए रामायण के ऐसे 4 पात्र जो महाभारत में भी मिलते हैं?
मूड को हैप्पी रखने के लिए जरूर खाए यह फूड।
दाल खाने के फायदे - Benefits of Pulses in Hindi.
गले की खराश और दर्द को दूर करने के घरेलु नुस्खे और उपाय।
जर्मनी के बारे में 39 रोचक, मजेदार एवं ज्ञानवर्धक जानकारी और तथ्य।
अरारोट पाउडर से होते हैं यह गज़ब के फायदे।
इन सफ़ेद रंग की चीजों को जरूर खाए और स्वस्थ्य रहे।
बच्चेदानी (गर्भाशय) की कमजोरी से निजात दिलाने वाले बेहतरीन खाद्य पदार्थ।
दूध और केला एक साथ खाने से बॉडी को होते हैं यह नुकसान।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *